खबरों के मुताबिक़ असुरक्षित संपत्ति के एक मामले के संबंध में अर्चना भार्गव के घर पड़ा छापा। अर्चना पूर्व चेयरपर्सन और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर रह चुकी है। बिजनेस स्टैंडर्ड के अनुसार, मनी लॉन्ड्रिंग मामले के संबंध में, अर्चना के खिलाफ जांच में “दस्तावेजों और इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्यों को बरामद किया गया है “। अर्चना भार्गव कौन है

Enforcement Directorate (ED) की दिल्ली शाखा ने Central Bureau of Investigation (CBI) के निर्देश पर ये जांच कीं गयी, जो मनी लॉन्ड्रिंग मामले में उसकी भूमिका की जांच कर रही है। अर्चना के खिलाफ CBI द्वारा First Information Report (FIR) में 3.63 करोड़ रुपये की संपत्ति का जिक्र है, जिस पर उन पर आरोप लगा है।

अर्चना भार्गव कौन है और उसकी जांच क्यों की जा रही है? जानिए ये 5 बातें

  1. अर्चना भार्गव को पहले भारत की बैंकिंग क्षेत्र में सीनियर पोज़िशन्स पर रहने वाली शीर्ष महिलाओं में गिना जाता है। अपने करियर में, वह पंजाब नेशनल बैंक में मैनेजर, केनरा बैंक में Executive Director और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया के Managing Director-cum-Chairperson के रूप में काम कर चुकी हैं।
  2. कोलकाता के यूनाइटेड बैंक में उनका कार्यकाल 2013 से 2015 तक रहने वाला था। हालांकि, 2014 में, उन्होंने voluntary रिटायरमेंट मांगी, जिसमें उन्होंने हैल्थ को वजह बताई, और CMD के रूप में अपनी भूमिका से हट गयी।
  3. 2016 में, CBI ने अर्चना के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया। मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट , 2002 के तहत 2004 से 2014 के बीच अपराधों की जांच होगी। 2004 से 2014 तक सीनियर पोस्ट पर काम कर रही थी।
  4. अर्चना और उनके परिवार की संपत्तियों की जांच की जाएगी। मुंबई, दिल्ली, नोएडा, कोलकाता और हावड़ा में 10 करोड़ रुपये की ज्वैलरी, नकदी और निवेश की जांच एजेंसी ने की थी। रिपोर्ट के मुताबिक़ जांच में उनकी आय से 133.23 प्रतिशत ज्यादा पाया गया।
  5. भार्गव नई दिल्ली में प्रतिष्ठित मिरांडा हाउस कॉलेज से गोल्ड-मैडल पोस्टग्रेजुएट हैं। अर्चना भार्गव कौन है

 

Email us at connect@shethepeople.tv