Lovlina Borgohain कौन है ? जानिये ओलंपिक में भारत के लिए दूसरा मैडल लाने वाली बॉक्सर के बारे में

Lovlina Borgohain कौन है ? जानिये ओलंपिक में भारत के लिए दूसरा मैडल लाने वाली बॉक्सर के बारे में Lovlina Borgohain कौन है ? जानिये ओलंपिक में भारत के लिए दूसरा मैडल लाने वाली बॉक्सर के बारे में

SheThePeople Team

30 Jul 2021


लवलीना बोर्गोहेन कौन है: बॉक्सर लवलीना बोर्गोहेन (Lovlina Borgohain) ने शुक्रवार को महिलाओं के वेल्टर (64-69 किग्रा) क्वार्टर फाइनल मुकाबले में निएन-चिन चेन को हराकर भारत को एक और मैडल दिलाया। लवलीना ने सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई कर के इस जीत ने भारत को कम से कम ब्रॉन्ज़ मैडल पक्का कर दिया है। असम की 23 वर्षीय बॉक्सर ने पहले दौर में 3-2 से बढ़त बनाकर शानदार तकनीकी कौशल दिखाया और फिर दूसरे दौर में क्लीन स्वीप करके बाउट पर अपने अधिकार की मुहर लगा दी। लवलीना बोर्गोहेन कौन है

इससे पहले लवलीना ने राउंड ऑफ 16 में जर्मनी की नादिन एपेट्ज को हराया था। उन्होंने मंगलवार को यह मुकाबला 3:2 से जीता था। लवलीना अब सेमीफाइनल मुकाबले में तुर्की की शीर्ष वरीयता प्राप्त बुसेनाज सुरमेनेली से भिड़ेंगी। अपनी ऐतिहासिक जीत के साथ, लवलीना मैरी कॉम और विजेंदर सिंह के बाद ओलंपिक मैडल जीतने वाली दूसरी और कुल मिलाकर तीसरी भारतीय महिला बॉक्सर बन गईं।

लवलीना बोर्गोहेन कौन है ? जानिये ओलंपिक में भारत के लिए दूसरा मैडल लाने वाली बॉक्सर के बारे में



  1. लवलीना का जन्म 2 अक्टूबर 1997 को हुआ था और वह असम के गोलाघाट जिले की रहने वाली हैं।

  2. उसके माता-पिता टिकेन और ममोनी बोर्गोहेन हैं। उनके पिता टिकेन एक छोटा -मोटा बिज़नेस हैं और अपनी बेटी के सपनो को सपोर्ट करने के लिए आर्थिक रूप से संघर्ष करते हैं।

  3. लवलीना के करियर का सबसे बड़ा ब्रेक तब आया जब उन्हें 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स वेल्टरवेट बॉक्सिंग कैटेगरी में हिस्सा लेने के लिए चुना गया। हालाँकि, उनकी घोषणा विवाद का विषय थी क्योंकि यह पता चला कि उन्हें अपने सिलेक्शन के बारे में कोई आधिकारिक सूचना नहीं मिली थी। एक प्रमुख मीडिया आउटलेट में कहानी सामने आने के बाद उसे अपने सिलेक्शन के बारे में पता चला।

  4. उन्होंने नई दिल्ली में आयोजित एआईबीए महिला विश्व बॉक्सिंग चैंपियनशिप में पहली बार भारत का प्रतिनिधित्व किया, जहां उन्होंने 23 नवंबर 2018 को वेल्टरवेट (69 किग्रा) वर्ग में सिल्वर मैडल जीता।

  5. बोर्गोहेन को रूस के उलान-उडे में अपनी दूसरी महिला विश्व बॉक्सिंग चैंपियनशिप (2019) के लिए 3 से 13 अक्टूबर तक बिना किसी ट्रायल्स के चुना गया। वह 69 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में चीन की यांग लियू से 2-3 से हार गईं और उन्हें सिल्वर मैडल से संतोष करना पड़ा।

  6. मार्च 2020 में, बोर्गोहेन ने 2020 एशिया और ओशिनिया बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालीफिकेशन टूर्नामेंट में उज़्बेकिस्तान के माफ़ुनाखोन मेलिएवा पर 5-0 से जीत के साथ 69 किग्रा में ओलंपिक बर्थ हासिल की। इसके साथ, वह ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली असम की पहली खिलाड़ी बन गई थी।

  7. वह 2018 एआईबीए महिला विश्व बॉक्सिंग चैंपियनशिप की सिल्वर मैडल विजेता भी है।

  8. राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद द्वारा उन्हें बॉक्सिंग में उनके बेहतरीन प्रदर्शन के लिए अर्जुन पुरस्कार भी दिया गया है।

  9. वह वर्तमान में टोक्यो 2020 समर ओलंपिक में भाग ले रही है। उसने जर्मन बॉक्सर नादिन एपेट्ज को हराया है। 30 जुलाई, 2021 को, उसने चीनी ताइपे की चेन निएन-चिन को हराकर अपने ब्रॉन्ज़ मैडल को पक्का कर लिया है।

  10. बोर्गोहेन, महिला 69 किग्रा बॉक्सिंग, मई-जून 2021 के लिए निर्धारित विश्व ओलंपिक क्वालीफाइंग इवेंट के लिए 15 अक्टूबर से 5 दिसंबर तक इटली के असीसी में ट्रेनिंग करेगी। लवलीना बोर्गोहेन कौन है लवलीना बोर्गोहेन कौन है


अनुशंसित लेख