स्नेहा दुबे कौन है? जानिए संयुक्त राष्ट्र महासभा में भारत की पहली सचिव के बारें में

स्नेहा दुबे कौन है? जानिए संयुक्त राष्ट्र महासभा में भारत की पहली सचिव के बारें में स्नेहा दुबे कौन है? जानिए संयुक्त राष्ट्र महासभा में भारत की पहली सचिव के बारें में

SheThePeople Team

25 Sep 2021


स्नेहा दुबे कौन है? हाल ही में संयुक्त राष्ट्र महासभा में, भारत की तरफ से पहली सचिव, स्नेहा दुबे ने पाकिस्तान के खिलाफ एक कड़वी सच्चाई को सामने रखा। कश्मीर के लिए राग अलापते, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को स्नेहा दुबे ने दो तुक जवाब देकर उनका मुँह बंद करवा दिया। यूएन प्लेटफार्म पर हर बार पाकिस्तान कश्मीर को लेकर बेतुके बयान देता रहा है, लेकिन इस बार भारत की तरफ से उन्हें कड़ी फटकार मिली।स्नेहा दुबे कौन है?स्नेहा दुबे कौन है?

भारतीय सचिव स्नेहा दुबे ने कहा, कि पाकिस्तान खुलेआम आतंकवाद को बढ़ावा देता है और आतंकयों को पनाह देने में भी पीछे नहीं रहता। उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तान को विश्व भर में आतंक का गढ़ होने कि पहचान मिली है।
स्नेहा में अपने राइट टू रिप्लाई का इस्तेमाल करते हुए प्रधानमंत्री इमरान खान की सभी बेबुनियादी बातों को सिरे से ख़ारिज करते हुए, कश्मीर पर पकिस्तान के अवैध कब्ज़े को हटाने की अपील की। स्नेहा दुबे कौन है?

स्नेहा दुबे कौन है?



  • संयुक्त राष्ट्र महासभा में भारत की तरफ से प्रतिनिधित्व कर रहीं पहली सचिव, स्नेहा दुबे हैं।

  • संयिक्त राष्ट्रीय महासभा में पकिस्तान के मुख्यमंत्री, इमरान खान को आईना दिखने वाली स्नेहा दुबे ने कड़े शब्दों में पाकिस्तान की आतंकवाद को पनाह देने की निंदा की और अंतर्राष्ट्रीय प्लेटफार्म पर दुश्मन मुल्क की सच्चाई को बेनकाब किया।

  • स्नेहा दुबे की शुरुआती पढ़ाई गोवा में हुई , जिसके बाद वो ग्रेजुएशन करने पुणे के फर्ग्युसन कॉलेज गई। 

  • स्नेहा को पहले एटेम्पट में ही यूपीएससी में सफलता मिल गई और आईएफएस बनने के बाद विदेश मंत्रालय में उनकी नियुक्ति की गई। वो 2012 बैच की महिला अधिकारी भी रहीं हैं।

  • अंतरार्ष्ट्रीय मामलों में रूचि को देखते हुए स्नेहा ने विदेश सेवा में शामिल होने का निर्णय लिया। ग्रेजुएशन के बाद स्नेहा ने पोस्ट-ग्रेजुएशन और एम-फील की पढ़ाई दिल्ली के जेएनयू से की। बता दें कि स्नेहा के परिवार में उनसे पहले कोई भी सदस्य सिविल सेवा में नहीं रहा है।

  • आज स्नेहा अंतरार्ष्ट्रीय मंच पर भारत का प्रतिनिधित्व कर रही हैं और भारत के खिलाफ हर आवाज़ का करारा जवाब भी दे रही हैं। इमरान खान के कश्मीर को लेकर उठाये सवालों पर स्नेहा ने दो तुक जवाब दिया कि, 'जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का सम्पूर्ण हिस्सा, भारत का है और हमेशा रहेगा।' उन्होंने सभा में सबके समक्ष पकिस्तान से कश्मीर पर अवैध कब्ज़े की जमीन को छोड़ने की अपील की।

  • यूएन के प्लेटफार्म से स्नेहा ने पाकिस्तान का असली चेहरा दिखलाया और बताया की, पाकिस्तान के नेता दूसरे देश के खिलाफ झूठ और दुर्भावना
    फैलाते हैं और अपने देश की की दुखद स्थिति से सबकी नज़रें हटाना चाहते हैं।

  • स्नेहा ने पाकिस्तान में हो रहे, अल्पसंख्यकों पर अत्याचार और वहां की दुखद स्थिति का बयान किया साथ ही आतंक और पाकिस्तान के जुड़ाव का इतिहास भी सबके सामने रखा।


फीचर इमेज क्रेडिट: डीएनए इंडिया 





अनुशंसित लेख