एयर इंडिया पायलट की कोरोना से मृत्यु: कैप्टन हर्ष तिवारी, जिनका 30 मई को दिल्ली में COVID ​​​​-19 से निधन हो गया, उनकी पत्नी ने कहा कि उनकी मृत्यु के लगभग दस दिन बाद भी, उनकी पांच साल की बेटी अभी भी अपने पापा का इंतजार कर रही है। मृदुस्मिता दास तिवारी ने NDTV को बताया कि उनकी बेटी को अबतक नहीं पता है कि उनके पिता मर चुके है।

एयर इंडिया के पांच वरिष्ठ पायलट – कैप्टन अमितेश प्रसाद, कैप्टन प्रसाद करमाकर, कैप्टन संदीप राणा, कैप्टन जीपीएस गिल और कैप्टन हर्ष तिवारी – ने मई, 2021 में COVID-19 के कारण दम तोड़ दिया। उनमें से सबसे छोटा, तिवारी, सिर्फ 36 वर्ष का था।

एयर इंडिया पायलट की कोरोना से मृत्यु: परिवार को सँभालने वाला अब कोई बचा नहीं

दिल्ली के रहने वाले तिवारी, एयरलाइन में पहले अधिकारी के रूप में काम करते थे। उनके परिवार में उनकी पत्नी, एक पांच साल की बेटी, माता-पिता और बहन हैं। दास तिवारी ने NDTV से बात करते हुए कहा कि वह इस समय अपने पति का अंतिम संस्कार करने के लिए हरिद्वार में हैं। “मेरे ससुराल वाले बूढ़े हो गए हैं। वो रिटायर हो चुके हैं। मेरी एक पांच साल की बच्ची है। हमने अभी-अभी अपना जीवन शुरू किया था। ” वह उस संकट के बारे में बात करती है जिसका अब उसका पूरा परिवार सामना कर रहा है।

एयर इंडिया के पायलट की पत्नी ने कहा- मेरी बेटी को अपने पिता की मौत के बारे में पता नहीं है। वह उनके अस्पताल से लौटने का इंतजार कर रही है।

“मुझे केवल इस बात का दुख है कि टीकाकरण की कमी के कारण, उन्हें कर्तव्य को पूरा करने में अपनी जान गंवानी पड़ी,” पत्नी ने कहा। कैप्टन तिवारी 2016 में एयर इंडिया में शामिल हुए थे। वह वंदे भारत मिशन (वीबीएम) के तहत उड़ानों में सक्रिय रूप से शामिल थे, जो दुनिया के विभिन्न हिस्सों से फंसे भारतीयों को लेकर आते थे।

मां ने कहा कि उसकी पांच साल की बच्ची अपने पिता के वापस आने का इंतजार कर रही है। दास तिवारी ने इमोशनल हो कर कहा कि उन्होंने अपनी बेटी से कहा कि उनके पिता अस्पताल में हैं, उनका इलाज चल रहा है, हालांकि वह पूछती रहती हैं कि उन्हें इतना समय क्यों लग रहा है। “उसे उसके बिना रहने की आदत नहीं है”।

Email us at connect@shethepeople.tv