Are All Women Shy? इन पांच परिस्थितियों में शर्माने की नहीं है ज़रूरत

Are All Women Shy? इन पांच परिस्थितियों में शर्माने की नहीं है ज़रूरत Are All Women Shy? इन पांच परिस्थितियों में शर्माने की नहीं है ज़रूरत

Vaishali Garg

13 Jun 2022

क्या सभी भारतीय महिलाएं शर्मीली और घरेलू हैं? क्या शर्म हमारा गहना है? खैर, इस बात को नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता है कि एक महिला जो शायद संस्कारी, सुशील और शांत है उसे भारतीय समाज द्वारा सबसे अधिक स्वीकार किया जाता है। इसलिए इसे एक अच्छी महिला का अनिवार्य चरित्र बना दिया गया है।

कई बार इस अनिवार्य चरित्र के कारण लड़कियां या महिलाएं अपनी बात खुलकर नहीं रख पाती हैं, अपने सपनों को पूरा नहीं कर पाती हैं। तो क्या शाय होना सही है?

ठीक है थोड़ा बहुत शाय होना सही है मगर जरूरत से ज्यादा शाय होना आपको समय के साथ अपडेट नहीं रखता है क्योंकि आप शाय होने के कारण छोटी-छोटी चीजें अपने परिवार वालों के सामने अपने दोस्तों के सामने नहीं रख पाती हैं। जिसका खामियाजा यह होता है कि आप उस समय के साथ नहीं आगे बढ़ पाती हैं।

आज हम आपको ऐसी 10 सिचुएशन के बारे में बताएंगे जहां पर आप को बिल्कुल शाय नहीं होना चाहिए-

1- सहमति व्यक्त करते समय आपको शर्माने की जरूरत नहीं है

आपको यह समझना होगा कि sexual pleasure मांगना कोई शर्म की बात नहीं है। और साथ ही जब आप ऐसा नहीं चाहते हैं तो ना कहना सीखें।

2- बड़ों की इज्जत करो

अब यह बहुत सामान्य सी बात है कि हमारे सभी बड़े, फैमिली फ्रेंड्स ओर रिलेटिव्स हमारे सम्मान के पात्र नहीं है। क्योंकि इनमें से बहुत से लोग टॉक्सिक होते हैं। कई बार तो आपको फोर्स किया जाता है उनके साथ बैठो और उनसे अच्छे से बात करो। अततः जरूरी नहीं हमेशा अपने बड़ों की इज्जत करो, हमेशा अपने मन की सुनो और अपनी self respect को लेकर चलो।

3- किसी के दबाव में कुछ करना

आप ऐसा कुछ ना करें जो आप नहीं चाहते हैं करना। कई बार ऐसा होता है कि हमारे फ्रेंड्स, फैमिली, बॉयफ्रेंड हमसे कुछ चाहते हैं मगर हमारा मन नहीं होता है वह करने का तो इस सिचुएशन में आप बिल्कुल शाय ना हों, खुल कर बोले कि आपको यह चीज नहीं करनी है।

4- जजमेंट के डर से कभी शाय मत हो

आप यह सोचना बिल्कुल बंद कर दो कि आप ऐसा करोगे तो लोग क्या कहेंगे या क्या सोचेंगे। क्योंकि लोगों का तो काम है कहना, वो तो बहुत कुछ कहते रहेंगे, अब वह करो जो आपका मन करता।

5- जब भी आपके साथ कुछ गलत हो रहा है

अगर स्कूल, कॉलेज या ऑफिस में आपके साथ कुछ गलत हो रहा है तो आप बिल्कुल भी चुप न रहें, अपने अधिकारों के लिए खुलकर लड़ें, आपको किसी भी तरह के उत्पीड़न का सामना करने की जरूरत नहीं है।

आपको शर्मिला व्यवहार करने की कोई जरूरत नहीं है फिर चाहे कोई आपसे ऐसे चाह क्यों ना रहा हो करने को।
और यदि आप सच में शाय हैं या इंट्रोवर्ट हैं तो इन पॉइंट्स को ध्यान में रखो और इसके advantages लो। और कभी भी अपने हक के लिए बोलने से पीछे ना हटें।

अनुशंसित लेख