Advertisment

"Perfect Body" सिर्फ एक कल्पना है, हर आकार, हर रंग खूबसूरत है

हमें बताया गया है कि सुंदरता एक सांचे में ढली होती है - पतली कमर, चमकदार त्वचा, लंबे बाल, मजबूत जबड़े। इस "परफेक्ट बॉडी" के पीछे दौड़ में हम खुद को भूल जाते हैं, अस्वस्थ आदतों को अपनाते हैं, और ज़िंदगी का असली आनंद लेने से चूक जाते हैं।

author-image
Vaishali Garg
New Update
Perfect body

Image Credit: Freepik

Embracing Body Diversity and Rejecting Beauty Standards : हमें बताया गया है कि सुंदरता एक सांचे में ढली होती है - पतली कमर, चमकदार त्वचा, लंबे बाल, मजबूत जबड़े। इस "Perfect Body" के पीछे दौड़ में हम खुद को भूल जाते हैं, अस्वस्थ आदतों को अपनाते हैं, और ज़िंदगी का असली आनंद लेने से चूक जाते हैं। मगर सच ये है कि "परफेक्ट बॉडी" सिर्फ एक मिथक है, एक मीडिया द्वारा बनाया हुआ झूठ, जो हमें असुरक्षित और अपूर्ण महसूस करवाता है।

Advertisment

शरीर की विविधता को अपनाएं, सौंदर्य के झूठे मानकों को तोड़ें

ये खूबसूरती के झूठे मानक न सिर्फ आत्मविश्वास को कुचलते हैं, बल्कि अस्वस्थ व्यवहारों को भी बढ़ावा देते हैं। खतरनाक डाइट्स, अत्यधिक वर्कआउट, ब्यूटी प्रोडक्ट्स का अंधाधुंध इस्तेमाल - ये सब "परफेक्ट बॉडी" के पीछे भागने के ही नतीजे हैं। हम खुद को भूख से तड़पाते हैं, अपने शरीर को नुकसान पहुंचाते हैं, और असली ख़ुशी को भुला देते हैं।

लेकिन अब समय है कि हम जागें और इन झूठे मानकों को तोड़ें। हमें ये समझना होगा कि हर शरीर अलग है, और हर शरीर खूबसूरत है। लंबा हो या छोटा, पतला हो या मोटा, हर शरीर अपनी कहानी कहता है, अपनी अनोखी क्षमता रखता है।

Advertisment

आइए, खुद को उसी रूप में स्वीकार करें, जिस रूप में हम हैं। अपने शरीर की खूबियों को पहचानें और उनकी सराहना करें। वो निशान, वो कर्व्स, वो अनियमितताएं - ये सब हमें खास बनाते हैं। ये हमारे जीवन के अनुभवों की छाप हैं, हमारे संघर्षों की निशानियां, और वो हमें दूसरों से अलग बनाती हैं।

अपने शरीर की देखभाल ज़रूर करें, लेकिन उसे स्वस्थ रखने के लिए, मज़बूत बनाने के लिए, न कि किसी फोटोशॉप्ड तस्वीर की नकल बनाने के लिए। पौष्टिक आहार लें, नियमित व्यायाम करें, पर्याप्त नींद लें - ये सब आपके शरीर को उसके असली रूप में खिलने का मौका देंगे।

इस बदलाव की शुरुआत हमें खुद से करनी है। सोशल मीडिया पर अवास्तविक तस्वीरों को बढ़ावा देने के बजाय, हमें शरीर की विविधता को प्रदर्शित करें। असली लोगों की तस्वीरें शेयर करें, अपने अनुभवों को बताएं, और दूसरों को भी खुद को स्वीकार करने के लिए प्रेरित करें।

खूबसूरती किसी सांचे में नहीं होती, वो हर शरीर में अलग तरह से झलकती है। आइए, "परफेक्ट बॉडी" के मिथक को तोड़ें और शरीर की विविधता को अपनाएं। खुद को उसी रूप में प्यार करें, जिस रूप में आप हैं, और दुनिया को दिखाएं कि असली खूबसूरती असलीपन में ही होती है।

Beauty Standards Body Diversity Perfect Body
Advertisment