Setting Boundaries: डेटिंग में कैसे सेट करें पार्टनर के लिए सीमाएं

Setting Boundaries: डेटिंग में कैसे सेट करें पार्टनर के लिए सीमाएं Setting Boundaries: डेटिंग में कैसे सेट करें पार्टनर के लिए सीमाएं

Monika Pundir

25 Jun 2022

एक मैच्योर औरत की तरह आपको डेटिंग के दौरान अपने पार्टनर के लिए सीमाएं तय करने का हुनर आना चाहिए। डेटिंग एक बहुत ही इम्पोर्टेन्ट पड़ाव होता है, किसी भी रिलेशनशिप की शुरुआत में अगर आप आपके पार्टनर को उनकी सीमाएं और बाउंड्री नहीं बताएंगी तो जाहिर है कि आगे जाकर आपको अपने रिश्तें में मुश्किलें मिलने लगे। इसलिए बेहतर है कि आप यह जाने कि कैसे डेटिंग में अपने पार्टनर के लिए आप सीमाएं तय कर सकती हैं-

पहली मुलाकात में हो क्लियर बातें 

आपको एक मैच्योर महिला की तरह अपनी पहली डेट पर ही अपने पार्टनर को अपने कम्फर्ट और डिस्कम्फर्ट के बारे में बता दें। कोशिश करें कि आप अपने पार्टनर के साथ जितना क्लियर कट रह सकती हैं रहें। आपको बीएस कोशिश करनी है कि आप ईमानदार रहें और ये परखें कि क्या आपका पार्टनर भी आप तय की हुई सीमाओं का उतना ही सम्मान कर रहा है। 

लॉन्ग डिस्टेंस में भी तालमेल बैठाएं 

अब तो ऑनलाइन डेटिंग का ज़माना आगया है। ऐसे में लोग लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप को भी एक ट्राय देते हैं। आपको भी अपनी परिस्थितियों के हिसाब से लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप को कायम रखने की कोशिश करनी चाहिए। ऐसा करने के लिए आपको कुछ नियम कुछ दायरे बनाने होंगे ताकि आपके लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में ताल-मेल बरकरार रहे। 

एक दूसरे के डिसीजन का सम्मान करें 

कभी-कभी डेटिंग में लोग अलग-अलग गति से आगे बढ़ते हैं। हो सकता है कि आप अपने साथी से पहले ही अपने रिश्ते हो ऑफिसियल करना चाहते हो और आपका पार्टनर अभी इस बात केलिए तैयार न हो। ऐसे में पार्टनर्स को एक दूसरे के डिसीजन का सम्मान करने आना चाहिए। कभी कभी एक पार्टनर डेटिंग के तुरंत बाद शादी करना चाहता है तो कोई थोड़ा और समय मांग रहा है। आगे कोई एक पार्टनर बहुत तेज़ी से आगे बढ़ रहा तो उसे चाहिए कि वह अपने पार्टनर से कदम से कदम मिलाने के लिए थोड़ा धीमा हो जाए। 

झगड़ों की सीमा बांधे 

डेटिंग के दौरान कभी भी अपने पार्टनर की डिसरेस्पेक्ट न करें। ऐसा करना आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है। कई बार ऐसा होता है कि रिलेशनशिप में एक पार्टनर दूसरे पार्टनर के ऊपर इतना हावी हो जाता है कि वह उसका पल पल अपमान करता है। आपको चाहिए कि प्यार में आप इतने न डूबें कि आपको अपने अपमान महसूस ही न हो। किसी भी मामले में, सीमाएँ निर्धारित करने का समय आ गया है। आप कैसा महसूस करते हैं ये बात खुल कर शेयर करें, और अन्य व्यक्तियों के इरादों की तह तक जाएं। 

अपने थॉट्स शेयर करने की भी एक सीमा बनाएं

ये जरुरी नहीं कि सीमाएं तय करना आपको नेगेटिव बनाता है। आप किसी के भी साथ अपनी लाइफ नहीं बिताने जा रही, वह आपका पार्टनर होने वाला है। जिसे तम्हारे बारे में और इस रिलेशनशिप के बारे में सब कुछ पता होना जरुरी है। इससे रिश्ते बेहतर, मज़बूत और सव्वू बनेंगे। इसीलिए कोशिश करें कि हर थॉट्स को अपने पार्टनर के साथ शेयर करें।

अनुशंसित लेख