Urfi Javed Slut Shamed: क्या छोटे कपड़े पहनना गलत बात है?

Urfi Javed Slut Shamed:  क्या छोटे कपड़े पहनना गलत बात है? Urfi Javed Slut Shamed:  क्या छोटे कपड़े पहनना गलत बात है?

Apurva Dubey

10 Aug 2022

फिल्म और टीवी इंडस्ट्री से जुड़ी 2 फेमस एक्ट्रेस के बिच हो रही कैट फाइट आजकल मीडिया में काफी चर्चा में है। हम बात कर रहे हैं उर्फी जावेद और चाहत खन्ना की। हाल ही में उर्फी जावेद के कपड़ो को लेकर चाहत खन्ना ने उनको सोशल मीडिया पर काफी भला बुरा कहा और उनको अश्लीलता फैलाने का जिम्मेदार ठहराया। जिसके जवाब में उर्फी ने चाहत के ऊपर उनको स्लट शेम करने का आरोप लगाया और उनके दो-दो तलाक के के बाद डेटिंग की बात छेड़ कर उनके झूठे आदर्शों का पर्दाफाश करती नज़र आई। 

Urfi Javed Slut Shamed: क्या है पूरा मामला 

आये दिन उर्फी जावेद अपने अतरंगी कपड़ों के स्टाइल के लिए मीडिया में चर्चा का विषय बनी रहती हैं। वहीं इन कपड़ों को लेकर उर्फी का ट्रोल्स के निशाने पर आना भी कोई पुरानी बात नहीं है। हाल ही में टीवी एक्ट्रेस चाहत खन्ना ने भी उर्फी जावेद के कपड़ों पर आपत्ति जाहिर की, जिसके लिए उन्होंने सोशल मीडिया का सहारा लिया। चाहत खन्ना ने 6 अगस्त को उर्फी जावेद की एक तस्वीर शेयर करते हुए उनके कपड़ों पर कॉमेंट किया था। चाहत ने लिखा- "ऐसे कपड़े कौन पहनता है? और सड़कों पर? मेरा मतलब है कि कोई भी अपने कपड़े उतार देगा और मीडिया उसे सेलिब्रिटी बना देगी? क्या भारतीय मीडिया इतनी कमजोर हो गई है? यह सस्ता प्रमोशन और मीडिया को खरीदना आसान है, यह सस्ता शो जिसे आप हमारी पीढ़ी के लिए प्रमोट कर रही हैं, कोई भी पैसे दे देगा और कुछ भी करेगा। यह बेहद दुखद है। ईश्वर आपको कुछ बुद्धि दे।" 

इस पर उर्फी ने भी पलटवार किया और एक-एक कर कई पोस्ट शेयर किए। चाहत खन्ना के यूं अपने ड्रेसिंग पर कॉमेंट करना उर्फी को बिलकुल भी पसंद नहीं आया। उन्होंने सोशल मीडिया पर कई पोस्ट शेयर किए और चाहत खन्ना को ‘जलनखोर’ तक कह दिया। उन्होंने बिकिनी में चाहत की तस्वीरें भी शेयर कीं और लिखा- "कम से कम मैं फॉलोवर्स को नहीं खरीदती! इसके अलावा अगर आपको पूरी बात पता हो, तो मैं वहां एक इंटरव्यू के लिए गई थी। मुझे एक इंटरव्यू के लिए तैयार किया गया था जिससे आपका कोई मतलब नहीं है। आपको बस जलन हो रही है कि पैसे देने के बाद भी वे आपको कवर नहीं कर रहे हैं।"

क्या छोटे कपड़े पहनना गलत बात है? 

आज से ही नहीं हमेशा से ही महिलाओं को छोटे कपड़े पहनने पर ताना दिया जाता है। लड़कियों की सुरक्षा और उनके कैरेक्टर को हमेशा उनके कपड़ों की लंबाई से जोड़कर देखा जाता है। यहाँ तक सुनने को मिला कि छोटे कपड़े पहहने वाली लड़कियों के रेप हो जाने चाहिए।' क्या वाकई में महिलाओं के कैरेक्टर का अंदाजा उनके कपड़ों से किया जाना सही है? अगर पुरुषों कि यह सोच हो तो हम कुछ करें भी लेकिन अगर महिलएं ही खुद महिलाओं की दुश्मन बन बैठेंगी तो सोसाइटी को और उसकी सोच को कैसे बदला जा पायेगा। हमेशा यह देखा गया है कि छोटे कपड़े पहनने वाली लड़कियों को सोसाइटी में अच्छी नजर से नहीं देखा जाता। उनके कैरेक्टर और उनकी काबिलियत को केवल उनके कपड़ों से जज कर लिया जाता है। 

हमें यह सोच बदलनी होगी। समाज को यह समझना होगा कि कोई भी व्यक्ति, चाहे वह लड़का हो या लड़की, वह अपने जरुरत और अपनी सहूलियत के अनुसार कपड़े पहनने के लिए आज़ाद है। लड़कियों को इस तरह उनके कपड़ों को लेकर स्लट शेम करना बिलकुल भी सही नहीं है। इसके लिए हम महिलाओं को ही आगे आना होगा और अपने हक़ के लिए बोलना होगा। 

   


media widget

अनुशंसित लेख