Advertisment

जानिए Gender Equality क्यों हैं महत्वपूर्ण?

लैंगिक समानता (Gender Equality) एक बेसिक सा मौलिक अधिकार, जो हर किसी इंसान के पास होता है। हम 21st सेंचुरी में है, पर अभी भी हमें लैंगिक समानता एक सपने जैसी लगती है। हर एक मनुष्य ने अपने जीवन में जेंडर डिस्क्रिमिनेशन फेस जरूर किया होता है।

author-image
Ritika Negi
New Update
IMORTANCE OF EQALITY.

GENDER EQALITY (Image Credit : freepik)

Why is gender equality important : लैंगिक समानता (Gender Equality) एक बेसिक सा मौलिक अधिकार, जो हर किसी इंसान के पास होता है। हम 21st सेंचुरी में है, पर अभी भी कभी न कभी तो हमें लैंगिक समानता एक सपने जैसी लगती है। हर एक मनुष्य ने चाहे वह महिला हो या पुरुष अपने जीवन में जेंडर डिस्क्रिमिनेशन फेस जरूर किया होता है। अगर हम महिलाओं की बात करें तो अभी भी लगभग 2 बिलियन महिलाएं ऐसी होंगी जिनके पास पुरुषों के समान,रोजगार के विकल्प नहीं हैं। ह्यूमन ट्रैफिकिंग पुरुषों और महिलाओं दोनों को प्रभावित करती है, दुनिया के 70% से अधिक ह्यूमन ट्रैफिकिंग की शिकार महिलाएं और लड़कियाँ हैं। आपके विचार से क्या जेंडर इक्वालिटी प्रायोरिटी नहीं होनी चाहिए? 5 रीजन्स जो की प्रूव करेंगे की क्यों है लैंगिक समानता महत्त्वपूर्ण?

Advertisment

क्यों है लैंगिक समानता महत्वपूर्ण?

  • It saves life: 

    कई ऐसी जगह जहां पर महिलाओं को रिसोर्सेज प्रदान नहीं करे जाते, उन्हें प्रेरित नहीं करा जाता, उन्हें शिक्षा से वंचित रखा जाता है। जिसके परिणामस्वरूप महिलाएं अपने लिए आवाज नहीं उठा पाती, अपनी रक्षा नहीं कर पाती। जेंडर एकालिटी टॉपिक चर्चा में लाने से महिलाओं को अपनी सुरक्षा में बड़ी भूमिका निभाने का मौका मिलता है।

  • It results in better healthcare: 

    रिसर्च से पता चलता है कि सामान्य तौर पर, महिलाओं को पुरुषों की तुलना में बदतर चिकित्सा देखभाल मिलती है। इसके कई कारण हो सकते हैं, जैसे की खुद की सोर्स ऑफ इनकम न होना, शिक्षा की कमी और कम आय। अगर महिलाएं समाज में समान होंगी तो उनके स्वास्थ्य पर पॉजिटिव प्रभाव पड़ेगा।

Advertisment
  • It’s good for the economy: 

    स्टडीज से पता चलता है कि इकोनॉमी में महिलाओं की भागीदारी बढ़ना इकोनॉमी के लिए अच्छा है। अगर पुरुष और महिला दोनों मिलकर काम करे तो आउटपुट और बेहतर होगा।

  •  It reduces poverty: 

    अधिकतर महिलाओं में पावर्टी रेट ज्यादा होता है क्योंकि उन्हें पढ़ाया नही जाता , वो जोब नही करती तब तो यह होना ही है। अगर पुरुष और महिला दोनों काम करें, दोनों लोग पैसा कमाकर लाए तो कैसे रहेगी गरीबी? गरीबी तो खुद ब खुद खत्म हो जाएगी।

  • Helps in building good future: 

    ऐसा कहा गया है की एक बच्चे की सबसे पहली टीचर उसकी मां होती है। और सोचे अगर वही मां एजुकेटेड नही है, सेल्फ डिपेंडनेट नही है, तो वो अपने बच्चे को क्या सीखा पाएगी ? वो कैसे देश के भविष्य को सुधार पाएगी? इसलिए यह बेहद जरूरी है की महिलाओं को हर वो अवसर दिया जाय जो एक पुरुष को मिलता है। जिससे एक मां, एक बहन, एक बेटी देश के भविष्य को उज्जवल करने में अपना योगदान दे सके। 

 

लैंगिक समानता economy लैंगिक poverty
Advertisment