5 Ways To Support Pregnant Women: पति इस तरह करें पत्नी को सपोर्ट

5 Ways To Support Pregnant Women: पति इस तरह करें पत्नी को सपोर्ट 5 Ways To Support Pregnant Women: पति इस तरह करें पत्नी को सपोर्ट

Sanjana

20 Jun 2022

प्रेगनेंसी महिला के जीवन का बहुत ही खुशनुमा और दर्दनाक समय होता है। वूमनहुड से मदरहूड तक का यह सफर 9 महीने का होता है। इस समय में महिला का शरीर बहुत नाजुक हो जाता है। सिर्फ शरीर ही नहीं बल्कि महिला मानसिक और इमोशनल रूप से भी काफी नाजुक हो जाती है। ऐसे में जरूरी है कि उनका सही तरह से ख्याल रखा जाए और उन्हें किसी भी तरह की परेशानी ना होने दें।

सबसे ज्यादा सपोर्ट महिला को अपने पति की चाहिए होती है। यह जाहिर है कि पति को भी आधी जिम्मेदारी उठानी चाहिए क्योंकि वह भी पेरेंट है। इसलिए इस ब्लॉग में हम आपको बताएंगे कि किस तरह एक पति प्रेगनेंसी के दौरान अपनी पत्नी को शारीरिक और मानसिक रूप से सपोर्ट कर सकता है।

प्रेग्नेंट पत्नी को ऐसे करें सपोर्ट -

1. अधिक आराम दें

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाएं सुस्त हो जाती हैं और ज्यादा काम करना या चलना फिरना उनकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। यह एक पति की जिम्मेदारी है कि वह अपनी पत्नी की हैल्थ का ध्यान रखें। इस दौरान अचानक से महिला के शरीर में कई तरह के हार्मोनल बदलाव आ सकते हैं। 

इसलिए पति को इन सभी चीजों का ध्यान रखते हुए महिला को ज्यादा से ज्यादा आराम करवाना चाहिए।

2. फूड क्रेविंग को समझें

प्रेगनेंसी के दौरान महिला का टेस्ट बदलने लगता है। जो चीज उसे कभी पसंद नहीं होती वह भी उसे पसंद आने लगती हैं। इसका कभी कुछ खट्टा खाने का मन कर सकता है तो कभी कुछ मीठा। हम कुछ भी निश्चित रूप से इसके बारे में नहीं कह सकते। इसलिए पति को यह ध्यान रखना चाहिए कि उसकी पत्नी को कब क्या खाना है। 

अपनी पत्नी की यह सभी इच्छाएं उसे पूरी करनी चाहिए। ऐसा करने से वह खुश रहेगी।

3. गुड लिसनर बनें

एक प्रेग्नेंट महिला के मूड स्विंग होना आम बात है। वह कभी आपसे बहुत प्यार से बात कर सकती हैं और दूसरे ही पल आप पर भड़क सकती है। लेकिन आपको इन सब बातों से परेशान नहीं होना है और प्यार से उसकी सभी बातें सुननी है। आप अपनी पत्नी की सभी बातों को ध्यान से सुने और उसके साथ फैमिली प्लानिंग करें। 

4. डॉक्टर के अपॉइंटमेंट

आप समय-समय पर अपनी पत्नी को पूरी बॉडी चैकअप के लिए डॉक्टर के पास जरूर ले जाएं। यह आपके बच्चे की सेहत का सवाल है। ऐसा करने से समय समय पर आने वाले बदलावों से आप सही तरह से डील कर पाएंगे।

5. बेबी की फ्यूचर प्लानिंग 

आपको इस समय नहीं कुछ चीजों की प्लानिंग करना शुरु कर देनी चाहिए जैसे बच्चे की एजुकेशन, सेविंग्स, आदि। एक पत्नी यह सब केवल अपने पति के साथ ही डिस्कस कर सकती है। इसलिए पत्नी को खुश रखने और उसकी सेहत अच्छी बनाए रखने के लिए आप उसके साथ यह प्लानिंग भी करें।

अनुशंसित लेख