Children Care And Parenting: ऐसे चीजें जो हर भारतीय घर में होनी चाहिए

Children Care And Parenting: ऐसे चीजें जो हर भारतीय घर में होनी चाहिए Children Care And Parenting: ऐसे चीजें जो हर भारतीय घर में होनी चाहिए

Swati Bundela

22 Sep 2022

भारतीय घरों में आज भी बच्चों के साथ माँ-बाप इतना नहीं खुलते।उन्हें लगता है बच्चों के साथ एक पर्दा होना चाहिए उनके साथ अगर आप स्ट्रिक्ट नहीं होगे तो वह बिगड़ जाएँगे।आज पेरेंटिंग के तरीक़े बदल गए है पर फिर भी आज भारतीय घरों में माँ-बाप अपने बच्चों से नहीं खुलते। आज हम ऐसी चीजों के बारे में बात करेंगे जो भारतीय घरों में होनी चाहिए।

1.पापा और भाई सब के लिए खाना बनाने कर परोसे

भारती घरों में जेंडर रोल के  हिसाब से काम  दिया जाता हैं माना जाता है कि माँ  या बहनों को काम  घर  का काम  करना है।उन्हें ही खाना बनाना है और परोसना है। अगर हम यह स्टीरियोटाइपऔर तोड़े और एक नई शुरुआत करियर के घर में पापा और भाई सबके लिए खाना बनाएँ और उन्हें भरोसे यह एक नई सोच की तरफ़ अच्छी शुरुआत हो सकती है।

2. माँ बाप अपने बच्चों के साथ सेक्स की बात करें

आज भी माँ- बाप बच्चों के साथ  सेक्स के बारे में खुलकर बात नहीं करते उन्हें लगता है कि ऐसे करने से बच्चा ग़लत कामों में पड़ जाएगा लेकिन अगर आप बच्चों से सेक्स के बारे में बात करेंगे तो उन्हें इसके बारे में पता चलेगा।

3. अपने बच्चे की तुलना दूसरे बच्चे से करना और मज़ाक़ बनाना

बहुत बार घरों में बच्चे के तुलना की जाती है उसका मज़ाक़ बनाया जाता है लेकिन ज़रूरी नहीं किसी और का बच्चा पढ़ाई में अच्छा है तो आपका बच्चा भी उसी में अच्छा हो। आपका बच्चा स्पोर्ट्स में अच्छा हो सकता या फिर उसमें कोई और कला हों सकता है। उसकी तुलना करने ना करके उसका साथ देना चाहिए।

4. अपने बच्चे की बॉडी शेमिंग की वजाए उसके साथ  बॉडी पोस्टिविटी की बात करना

 ज़्यादातर परिवारों में बच्चे अगर मोटा है या ज़्यादा पतला है उसका मज़ाक़ बनाया जाता है। अगर वे मोटा है तो उसे क्या जाता कितना खाएगी और तेरे से शादी कौन करेंगा? इन बातों को छोड़कर हमें उसका साथ देना चाहिए उसे कहना चाहिए आज हम साथ में कसरत करेंगे ।

5. बच्चों की पसंद की इज्जत करना

अक्सर माँ-बाप अपने बच्चों को उनकी पसंद का कुछ नहीं करने देते। जब वह अपनी पसंद का लड़की या लड़की चुन ले तब भी उसमें कमियाँ निकालने लग जाते है जबकि उनको अपना आशीर्वाद देकर उनका ख़ुशी से ज़िंदगी में आगे बढ़ने देना चाहिए।

6. बच्चों की  गोपनीयता का ख़याल रखना

बच्चों की गोपनीयता  (privacy) की बात आती है माँ-बाप  अक्सर ले देते है इसको अभी से क्या ज़रूरत है । यह ऐसा क्या काम कर रहा है जो इसको हमको प्राइवसी दे लेकिन अपने बेटा/बेटी को गोपनीयता देनी चाहिए।

अनुशंसित लेख