Skin Allergies In Children: बच्चों में स्किन एलर्जी है खतरनाक

Skin Allergies In Children: बच्चों में स्किन एलर्जी है खतरनाक Skin Allergies In Children: बच्चों में स्किन एलर्जी है खतरनाक

Swati Bundela

27 Jun 2022

बच्चों में अचानक हाथ-पैर, चेहरे पर खुजली होने लगे या स्किन पर चकत्ते आने लगे तो हो न हो ये स्किन एलर्जी के लक्षण हो सकते हैं। त्वचा की एलर्जी हर उम्र के बच्चों चाहे वो छोटे हो या टीनएजर, इस एलर्जी से प्रभावित हो सकते हैं। कैसे देखें कि आपका बच्चा भी कही किसी स्किन एलर्जी से प्रभावित तो नहीं। 

किस तरह की एलर्जी है

सबसे पहले ये पता लगाएं कि आपका बच्चा किस तरह की एलर्जी से ग्रस्त है। उसके लिए मार्किट ने कई तरह के एलर्जी डिटेक्ट करने वाले टेस्ट होते हैं। एक बार क्लिनिकली प्रूव हो जाये कि आपका बच्चा किस एलर्जी से परेशान है तो आधा समाधान तो टेस्ट करने से ही खत्म हो जायेगा।

जब कोई बच्चा चेहरे, शरीर या अंगों में खुजली वाले चकत्ते के लक्षण विकसित करता है, तो उसे स्किन एलर्जी की संभावना हो सकती है। हालांकि, यदि उसी बच्चे में एलर्जी के अन्य लक्षण भी हैं जैसे सुबह छींकना, घरघराहट, खाने से एलर्जी, आदि, या परिवार के किसी सदस्य (माता-पिता / दादा-दादी) भी एलर्जी के लक्षणों से पीड़ित हैं, तो बच्चों में भी एलर्जी होने के पूरे-पूरे चान्सेस बन जाते हैं। 

कौन-कौन सी एलर्जी हो सकती है 


1.अर्टिकेरिया - शरीर के सभी हिस्सों में तीव्र खुजली और चकत्ते बनना। 
2. कीड़ा काटने से एलर्जी - इस तरह की खुजली वाले लाल घाव आमतौर पर कीड़े के काटने से होते हैं जो अक्सर ठीक होने पर एक काला दाग छोड़ देता है।
3.एक्जिमा - शिशुओं में, एक्जिमा गाल, शरीर और हाथ-पांव पर सूखे खुजली वाले लाल घावों के रूप में प्रस्तुत होता है, जबकि बड़े बच्चों में यह आमतौर पर घुटनों और कोहनी जैसे जोड़ों के पीछे की त्वचा को शामिल करता है।
4. एंजियोएडेमा - यह पलकों या होंठों या हाथों/पैरों में सूजन की विशेषता है, जो अक्सर गंभीर दर्द से जुड़ा होता है।

बच्चे में स्किन एलर्जी के कारण

खाने से एलर्जी में बच्चों के फेस पर दाने आ सकते हैं। एलर्जी के लक्षण पैदा करने वाले सामान्य भोजन में दूध, अंडा, मेवा, झींगा, केकड़ा, झींगा आदि शामिल हैं। कभी-कभी घर के धूल-मिट्टी से एलर्जी भी बच्चों में एलर्जी त्वचा पर चकत्ते का कारण बन सकती है। दुर्लभ मामलों में, त्वचा एलर्जी वाले बच्चों में विशेष रूप से आर्टिकिया और एंजियोएडेमा के साथ एक ऑटोम्यून्यून घटना भी देखी गई है।


अनुशंसित लेख