Menstruation: पीरियड्स में पैड रैशेज से बचने के लिए अपनाएं ये 5 टिप्स

आइए इस हैल्थ ब्लॉग में हम देखते हैं कि ऐसे कौन से उपाय हैं जिनके उपयोग से पीरियड्स के दौरन होने वाले अनेकों समस्या जैसे की रैशेज से हमे छूटकारा मिल सकता है -

Amrita Kumari
21 Jan 2023
Menstruation: पीरियड्स में पैड रैशेज से बचने के लिए अपनाएं ये 5 टिप्स

Pad rashes

Menstruation: हम देखते हैं कि पीरियड्स के दौरान महिलाओं को बहुत तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है जैसे कि उनके पेट में दर्द, पीठ में दर्द, कमर में दर्द, रेशेज आदि से परेशान रहती है। पीरियड्स के दौरान महिलाओं को रैशेज इसलिए पड़ जाता है क्योंकि पैड्स एक ही स्थान पर या एक ही जगह पर लगातार पांच से छह घंटों रहता है और इस दौरान आपको अपनी साफ सफाई पर भी बहुत ज्यादा ध्यान देना पड़ता है। जैसे की पैड को हर 2 घंटे में चेंज करते रहें ताकि उस पर रैशेज, रेडनेस या खुजली जैसी समस्या न उत्पन्न हो। आइए हम देखते हैं कि ऐसे कौन से उपाय हैं जिनके उपयोग से पीरियड्स के दौरन होने वाले अनेकों समस्या जैसे की रैशेज से हमे छूटकारा मिल सकें।

5 Tips To Prevent Pad Rashes

1. खुशबूदार सेनेटरी पैड का इस्तेमाल न करें 

आजकल बहुत सारी लड़कियां खुशबूदार पैड्स का इस्तेमाल अपने पीरियड्स के दौरान करती है, लेकिन उनको यह पता नहीं होता कि हमारा वजाइना बहुत ही ज्यादा सेंसिटिव होती है। इसमें किसी प्रकार की खुशबूदार चीज लगाना बहुत ही ज्यादा हानिकारक हो सकता है। इसके कारण दाग धब्बे और चकत्ते जैसी समस्याएं पैदा हो सकती है और इसके साथ-साथ वहां पर रैशेज भी पड़ सकते हैं इसलिए हमें अपने पीरियड्स के दौरान कभी भी खुशबूदार पैड्स का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। जहां तक पॉसिबल हो हमें नैचुरल पैड्स का इस्तेमाल करना चाहिए।

2. 2 से 3 घंटे में पैड्स बदलते रहें 

हमें पीरियड्स के दौरान विशेष रूप से यह ध्यान देना चाहिए कि हर दो या 3 घंटे में अपने पैड्स को बदलते रहे। ऐसा नहीं करने से हमे बैक्टीरियल, फंगस इंफेक्शन भी हो सकता है और इसके साथ साथ में दाग धब्बे जैसी समस्याएं भी पैदा हो सकती है। इसलिए पीरियड्स के दौरान महिलाओं को अपने योनि को हाइजीन रखना बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है।

3. सही पैड्स का करें इस्तेमाल

जैसे कि आजकल के समय में हम देख रहे हैं कि महिलाएं घर के साथ साथ ऑफिस के काम को भी संभालती हैं। पीरियड्स के दौरान उनकी भागा दौड़ी वाली जिंदगी और भी ज्यादा बढ़ जाती है। उनके तेज चलने के दौरान जब पैर से पैर टकराते हैं तो जांघें के आसपास में उनको रैशेज की समस्या बढ़ जाती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ज्यादातर महिलाएं हार्ड पैड का इस्तेमाल करती है लेकीन उन्हे मार्केट में चल रहे नरम पैड्स का इस्तेमाल करना चाहिए ।

4.साबुन का इस्तेमाल न करें

पीरियड्स के दौरान हमें कभी भी साबुन के प्रयोग से अपने योनि की सफाई नहीं करनी चाहिए क्योंकि ऐसा करने से हमारे योनि में मौजूद गुड बैक्टीरिया खत्म हो जाते हैं और बैड बैक्टीरिया उत्पन्न हो जाते हैं। इससे हमें फंगल इंफेक्शन का भी सामना करना पड़ सकता है और इसके साथ साथ हमें रेशेज का भी सामना करना पड़ सकता है। आपको अगर अपनी योनि की सफ़ाई करनी है तो आप उसे हल्के गुनगुने पानी से धो सकते हैं।

5..वजाइनल एरिया में पाउडर लगाएं

जिस किसी महीला को पीरियड्स के दौरान रेशेज की समस्या बहुत ज्यादा उत्पन्न हो जाती है उनको हमेशा अपने वजाइनल एरिया में एंटीसेप्टिक पाउडर का इस्तेमाल करना चाहिए। उससे आपके वजाइनल एरिया के समक्ष और उसके साथ आपकी जांघों में कभी भी रेशेज नहीं पड़ेंगे। एंटीसेप्टिक पाउडर आपके वजाइनल एरिया को साफ सुथरा रखने में बहुत ज्यादा मदद प्रदान करता है।


Read The Next Article