Covid-19: कोरोना के नए वेरिएंट का देश में बढ़ रहा है खतरा

Apurva Dubey
21 Oct 2022
Covid-19: कोरोना के नए वेरिएंट का देश में बढ़ रहा है खतरा

देश में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ने दस्तक दे दी है। अब ओमिक्राॅन का नया सब वेरिएंट BF.7 सामने आया है। यह वेरिएंट यूके, अमेरिका, बेल्जियम और ऑस्ट्रेलिया जैसे अन्य देशों में भी पहुंच चुका है। इसको लेकर चिंता का विषय इसलिए है क्योंकि यह अन्य वेरिएंट के मुकाबले अधिक तेजी से फैलता है।

Covid-19 क्या है नया वेरिएंट

भारत में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट सामने आए हैं। 2021 में आए ओमिक्राॅन कोरोना वायरस वेरिएंट के यह सब-वेरिएंट्स है। ओमिक्राॅन के दो सब-वेरिएंट्स BA 5.17 और BF.7 अब देश में सामने आए है। गुजरात में स्थित बायोटेक्नोलॉजी रिसर्च सेंटर ने BF.7 के पहले मामले की पुष्टि की है। यह किसी भी अन्य है वेरिएंट के मुकाबले अत्यधिक संक्रामक माना जा रहा है। इसी वेरिएंट के कारण चीन में फिर से कोरोना वायरस के मामलों में बहुत तेजी से उछाल आया है। माना जा रहा है कि अधिक संक्रामक होने के कारण यह वेरिएंट पहले से ली गई वैक्सीनेशन या शरीर में बनी एंटीबॉडी से बच सकता है। डब्ल्यूएचओ ने भी इस संबंध में चेतावनी जारी करते हुए बताया है कि यह वेरिएंट सबसे खतरनाक वेरिएंट्स में से बन सकता है। सर्दी, खांसी, लंबे समय से शरीर में दर्द, छाती में जमाव, गले में खराश, नाक बहना और थकान इस वेरिएंट के लक्षण हैं।

त्योहारों में बरते सावधानी

भारत में त्योहारों का सीजन है जिस कारण अत्यधिक बाजारों में भीड़ पाई जा रही है। यही देखते हुए चेतावनी जारी की गई है। विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है साथ ही अपील की है कि कोविड़ से अनुकूल व्यवहार किया जाए। विशेषज्ञों का कहना है कि अगर लापरवाही बरती गई तो कोविड-19 की अगली लहर आना तय है। क्योंकि बड़ी संख्या में लोग बाजारों में दिखाई दे रहे हैं इसलिए ऐसा लग रहा है कि तीन से चार हफ्तों में कोरोना वायरस के मामले बढ़ सकते हैं। क्योंकि बदलते मौसम के साथ वायरल संक्रमण भी काफी हो रहा है और उसके लक्षण भी कोविड-19 के नए वेरिएंट की तरह ही है। इसलिए यह भी डर है कि लोग कोविड़ के लक्षणों को आम वायरल लक्षण समझकर टेस्ट ही ना करवाएं।

इसलिए जरूरी है कि त्योहारों के इस सीजन में सावधानी बरती जाए। इसके लिए भीड़भाड़ वाली जगहों में ज्यादा जाने से बचें और सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखें। मास्क का नियमित रूप से इस्तेमाल करें साथ ही साबुन से अपने हाथों को अच्छे से धोते रहें और वक्त वक्त पर उन्हें सैनिटाइज करें।

अनुशंसित लेख