Home Remedies For Anxiety: एंग्जायटी से बचने के घरेलू उपाय

Home Remedies For Anxiety: एंग्जायटी से बचने के घरेलू उपाय Home Remedies For Anxiety: एंग्जायटी से बचने के घरेलू उपाय

Swati Bundela

20 Jul 2022

एंग्जायटी अब मेंटल डिसऑर्डर बन चुका है लेकिन हममें से बहुत लोग अभी भी इसके लक्षण और सावधानियों के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानते। आजकल की लाइफस्टाइल और रहन-सहन में किसी भी स्वस्थ इंसान को एंग्जायटी होना बहुत कॉमन बात हो गई है और इसी वजह से हम इस प्रॉब्लम को बहुत नरमी से लेते हैं। लेकिन हमें यह नहीं पता होता कि लम्बे समय तक आपकी एंग्जायटी शरीर और दिमाग पर बुरी तरह असर करने लगती है।इसके लिए जरुरी हैं कि हम अपने घरेलु दिनचर्या में कुछ ऐसे बेसिक बदलाव करें जिससे हेम आसानी से एंग्जायटी से छुटकारा मिल सके। 

Home Remedies For Anxiety: एंग्जायटी से बचने के घरेलू उपाय 

1. मेडिटेशन है जरुरी 

वास्तव में मेडिटेशन मन को शांत करने और शरीर को रिलैक्स करने में मदद करता है। अक्सर एंग्जायटी अटैक के दौरान हमारे दिल की धड़कन मानो भागने लगती हैं और हमें दर सा महसूस होता है। इसके लिए जरूरी है कि आप नियम से रोज मेडिटेशन करें। अपने दिन का कुछ समय मेडिटेशन को जरूर दें, कोशिश करें ये समय सुबह का हो। अगर इसकी  प्रैक्टिस नियम से की जाएगी तो आपको अपने दिमाग पर कंट्रोल महसूस होगा। साथ में आपको दिमाग रिलैक्स भी महसूस होगा। मॉडर्न दुनिया में ये सबसे अच्छा और असरदार एंग्जायटी के घरेलू उपाय में एक  है, मेडिटेशन। 

2. ज्यादा न सोचें 

कई बार लोगों को एंग्जायटी अटैक इसलिए भी आते हैं क्योंकि उनके दिमाग में कई सारे विचार एक साथ चल रहे होते हैं। एक साथ कई सारे विचार होने से दिमाग पर बोझ महसूस होता है और फिर कोई भी काम अच्छे से नहीं हो पाता है। इस स्थिति में ये भी महसूस होता है कि जीवन पर कोई कंट्रोल नहीं है और आप नेगेटिविटी से भर जाते हो। इसलिए  एंग्जायटी के घरेलू उपाय में एक असरदार उपाय यह है कि एक साथ बहुत सारे विचारों को न सोचा जाए। जब भी लगे कि आपके दिमाग में कई सारे विचार एक साथ आ रहे हैं तो अपनी सांसों पर फोकस करना सही रहता है। मेडिटेट भी किया जा सकता है। 

3. खुद को बिजी रखें

अगर आप खाली बैठे रहेंगे तो आपके दिमाग में पचास तरह कि चीज़ें घूमती रहेंगी, ऐसे में एंग्जायटी अटैक का खतरा बढ़ सकता है। इसीलिए कोशिश करें कि खुद को बिजी रखें। आजकल के समय में ढेर सारा तनाव भरा काम भी एंग्जायटी को बढ़ाता है। इसीलिए ज्यादा काम करने से भी बचे वरना यह आपको और भी अधिक स्ट्रेस दे सकता है। इसीलिए वह काम ही करें जिससे आपको सुकून मिलता हो। इस तरह से आपको शरीर में एक नई ऊर्जा महसूस होगी, जिससे आपको अपने और लाइफ के लिए अच्छा महसूस होगा। इससे एंग्जायटी से बचने में मदद मिलेगी। 

4. खानपान पर ध्यान दें 

एंग्जायटी का एक और कारण होता है गलत खानपान। अगर आप आपके खानपान पर ध्यान नहीं देंगे तो ऐसे में आपको कमजोरी हो सकती है और ऑक्सीटी और स्ट्रेस का खतरा भी बढ़ जाता है। ठंडी चीज़ों का सेवन करें यह आपको घबराहट और एंग्जायटी से छुटकारा दिलाएगी। जब भी आपको ऐसे महसूस हो कि तबियत कुछ ठीक नहीं या फिर घबराहट हो तो ठंडा पानी पियें। 

5. अपने डर से आगे बढ़ें 

एंग्जायटी अटैक का सबसे बड़ा कारण होता है लोगों का डर। कई बार भाषण देना या स्पीच देने से लोग डर जातें हैं या कोई इम्पोर्टेन्ट परीक्षा वगैरह से या उसके रिजल्ट के समय डर से एंग्जायटी अटैक आना कॉमन है। हमें कोशिश करनी चाहिए कि हम अपने डर पर काबू पा सकें। एंग्जायटी की वजह बनने वाली चीजों से दूरी बना लेना एंग्जायटी से बचने का शॉर्ट टर्म हल है।लेकिन यह हमेशा पॉसिबल नहीं। आखिर हम कब तक चीज़ों से भागते रहेंगे। जब भी आपके सामने कोई डर आए, उसका सामना करें और उस पर जीत भी हासिल करें। 

अनुशंसित लेख