Prevention Tips For UTI: महिलाओं में बढ़ता यूटीआई का खतरा, ऐसे करें बचाव

Prevention Tips For UTI: महिलाओं में बढ़ता यूटीआई का खतरा, ऐसे करें बचाव Prevention Tips For UTI: महिलाओं में बढ़ता यूटीआई का खतरा, ऐसे करें बचाव

Apurva Dubey

12 Aug 2022

यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन यूरिनरी सिस्टम के किसी भी हिस्से में होने वाला एक तरह का इन्फेक्शन है। यह किडनी, यूरेथ्रा, ब्लैडर और यूरेटेरस में होता है। ज्यादातर इन्फेक्शन में लोअर यूरिनरी ट्रैक्ट, यूरेटेरस और यूरेथ्रा शामिल होते हैं।  पुरुषों की तुलना में महिलाओं में यूटीआई होने का खतरा अधिक होता है। ब्लैडर तक इंफेक्शन होने में आपको दर्द, जलन हो सकता है, लेकिन जब यूटीआई संक्रमण किडनी में पहुंच जाए, तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं। इसका इलाज आमतौर पर एंटीबायोटिक दवाओं के जरिए होता है। 

Prevention Tips For UTI: महिलाओं में बढ़ता यूटीआई का खतरा, ऐसे करें बचाव 

  • अधिक तरल पदार्थ पिएं। खासकर पानी का सेवन खूब करें। पानी यूरिन को पतला करने में मदद करता है और यह सुनिश्चित करता है कि आप अधिक बार पेशाब करेंगे। इससे इंफेक्शन शुरू होने से पहले यूरेथ्रा से बैक्टीरिया को बाहर निकालने में मदद मिलती है। कुछ स्टडी के मुताबिक क्रैनबेरी जूस पीने से यूटीआई से बचाव हो सकता है। वैसे सेहत के लिए यह जूस किसी भी तरह से नुकसानदायक नहीं है, इसलिए इसे आप जरूर पी सकते हैं। 
  • मल त्याग या पेशाब करने के बाद आगे से पीछे की तरफ धोएं या पोछें। ऐसा करने से Anal के भाग में मौजूद बैक्टीरिया को योनि और यूरेथ्रा  में फैलने से रोकने में मदद मिलती है। 
  • सेक्स करने के तुरंत बाद पेशाब करें, ताकि ब्लैडर खाली हो जाए। इसके अलावा, बैक्टीरिया को फ्लश करने के लिए एक गिलास पानी भी पिएं। इससे यूटीआई का खतरा टल जाता है। 
  • अपने प्राइवेट पार्ट्स में डियोडरेंट स्प्रे या अन्य प्रोडक्ट्स जैसे डाउच (Douches) और पाउडर का उपयोग करने से यूरेथ्रा में जलन हो सकती है, इसीलिए इससे बचें। 
  • प्रेग्नेंसी से बचने के लिए अपनाए जाने वाले उपायों को बदलें। डायफ्राम, नो लुब्रीकेंट कंडोम, वगैरह; ये सभी बैक्टीरिया को पनपने में मदद कर सकते हैं। इसीलिए इनके उपयोग में सावधानी बरतें। 
  • यूरिन इन्फेक्शन होने पर आप एक गिलास पानी में 1 चम्मच सेब का सिरका, आधा चम्मच नींबू का रस, शहद मिलाएं। इस पानी को पीने से यूटीआई को जल्दी ठीक करने में मदद मिलती है। सेब के सिरके में पोटैशियम अधिक होता है, जो बैक्टीरिया को बढ़ने नहीं देता है। एप्पल साइडर वेनेगर शरीर के टॉक्सिक पदार्थ को भी बाहर निकालने में मदद करता है। इसीलिए हो सके तो इनका सेवन करें। आपको जल्द ही आराम मिलेगा। 
अनुशंसित लेख