टी एंड सी | गोपनीयता पालिसी

संचालित द्वारा Publive

Facing Problem Of Rashes In Periods? इन उपायों से दूर होगी यह समस्या

Facing Problem Of Rashes In Periods? इन उपायों से दूर होगी यह समस्या
Sanjana

23 Jun 2022

हर महीने महिलाओं को पीरियड्स होते हैं। पीरियड्स के दौरान महिलाओं को पेट दर्द , पीठ दर्द, आदि जैसी समस्याएं होती है। इस दर्द में महिलाओं को दवाई नहीं खानी चाहिए। पीरियड्स में कपड़े का इस्तेमाल करना बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं होता है। इसलिए अब ज्यादातर महिलाएं कपड़ों की जगह पैड का इस्तेमाल करती है। लेकिन पैड का इस्तेमाल करने से महिलाओं को रैशेज की समस्या हो जाती है। यह समस्या गर्मियों में और भी ज्यादा बढ़ जाती है।

इसकी वजह से उनका चलना फिरना, बैठना, उठना बहुत ही मुश्किल और दर्दनाक हो जाता है। केवल इतना ही नहीं रैशेज की समस्या से निजात ना मिलने से इंफेक्शन का खतरा भी बढ़ जाता है। इसलिए आपको भी अपनी हाइजीन का बहुत ध्यान रखना चाहिए। इसके अलावा हम आपको बताएंगे रैशेज से छुटकारा पाने के कुछ उपाय। 

रैशेज के निजात पाने के लिए उपाय -

1.हर 4 घंटे में पैड बदलें

कुछ महिलाएं अपने काम में इतना व्यस्त हो जाती है कि उन्हें पैड बदलना याद ही नहीं रहता। तो वहीं कुछ महिलाएं पैड के पूरा भरने तक उसका इस्तेमाल करती हैं। इससे इंफेक्शन का खतरा बहुत बढ़ जाता है और रैशेज भी हो सकते हैं। 

इसलिए ध्यान से हर 4 घंटे के बाद अपना पैड जरूर बदलें। इसके अलावा कोशिश करें कि आप कॉटन का नरम और अच्छी क्वालिटी का पैड इस्तेमाल करें।

2. हाइजीन का रखे खास ध्यान

पीरियड्स के दौरान महिलाएं अपने इंटिमेट एरिया की साफ-सफाई अच्छे से ध्यान नहीं रखती हैं। इससे बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है। इसलिए दिन में कम से कम तीन चार बार इंटिमेट एरिया को गुनगुने पानी से साफ करें।

इसके लिए किसी भी साबुन या केमिकल प्रोडक्ट का इस्तेमाल ना करें। आप अपने डॉक्टर से सलाह लेकर इंटिमेट वॉश का इस्तेमाल कर सकती हैं।

3. पाउडर का करें उपयोग

पीरियड्स में रैशेज की समस्या नमी के कारण भी हो जाती है। इसलिए अपने इंटिमेट एरिया को गुनगुने पानी से साफ करने के बाद टिशु पेपर से उसकी नमी को सुखा दे। इसके बाद आप एंटी बैक्टीरिया या एंटीफंगल पाउडर को वहां पर अप्लाई करें। 

साथ ही ध्यान रखें पीरियड्स में कॉटन के अंडरवियर पहने। सिंथेटिक अंडर वियर से यह समस्या और भी ज्यादा बढ़ सकती है।

4. नीम का पानी

नीम एक प्राकृतिक जड़ी बूटी है जिसमें एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। यह आपको रैशेज की समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है। नीम का इस्तेमाल पानी में उबालकर करें। इस पानी को ठंडा करने के बाद इंटिमेट एरिया साफ करने में इसका उपयोग करें।

अनुशंसित लेख