Side-effects Of Diabetes: डायबिटीज कण्ट्रोल न करने से हो सकती हैं खतरनाक बीमारियां

Side-effects Of Diabetes: डायबिटीज कण्ट्रोल न करने से हो सकती हैं खतरनाक बीमारियां Side-effects Of Diabetes: डायबिटीज कण्ट्रोल न करने से हो सकती हैं खतरनाक बीमारियां

Swati Bundela

30 Jul 2022

डायबिटीज अपने आप में एक खतरनाक बिमारी है। अगर इसका इलाज़ ठीक से न किया जाए तो यह बहुत बुरा रूप ले लेती है। लेकिन क्या आपको पता है कि डायबिटीज के साथ किसी मरीज़ को और भी खतरनाक बीमारियां होने के चांस बढ़ जाते है। ऐसा इसीलिए होता है क्योंकि डायबिटीज में परहेज़ से चलना होता है। अगर कोई इंसान इसमें लापरवाही बरते तो इसका खामियाज़ा बुरा हो सकता है। आज हम बात करेने डायबिटीज के साइड इफेक्ट्स के बारे में- 

Side-effects Of Diabetes

लंबे समय में होने वाले प्रभावों में बड़ी (मैक्रोवास्कुलर) और छोटी (माइक्रोवैस्कुलर) ब्‍लड वेसल्‍स को नुकसान शामिल है, जिससे हार्ट अटैक, स्ट्रोक, किडनी, आंखों, मसूड़ों, पैरों और नर्वस के साथ समस्याएं हो सकती हैं। आजकल हमारा लाइफस्‍टाइल इतना खराब हो गया है कि हम कई तरह की बीमारियों से घिरे रहते हैं। इसमें से डायबिटीज बेहद ही आम है। इस समस्‍या से आज लाखों लोग परेशान है।

हार्ट प्रोब्लेम्स और हार्ट अटैक की संभावना 

डायबिटीज एक ऐसी कंडीशन है जिसमें ब्‍लड में बहुत ज्‍यादा ग्लूकोज होता है। समय के साथ, हाई ब्‍लड शुगर का लेवल शरीर के अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है। डायबिटीज के कारण कम उम्र में भी हार्ट अटैक की संभावना हो सकती है। हो सकता है कि आपको कुछ भी महसूस न हो या यह हल्का महसूस हो, जैसे हार्टबर्न या अजीब दर्द / दर्द। यह इतना मामूली लग सकता है कि आप इसे इग्‍नोर कर दें और सोचें कि यह सिर्फ बड़े होने की निशानी है। डायबिटीज आपको ब्‍लड प्रेशर और हाई कोलेस्ट्रॉल से भी ग्रस्त कर सकता है। यह आपके ब्लड शुगर को सामान्य रखना वास्तव में महत्वपूर्ण बनाता है।

क्रोनिक किडनी डिस्‍ऑर्डर्स

हेल्‍दी किडनी ब्‍लड से क्रिएटिनिन को फ़िल्टर करती हैं। क्रिएटिनिन आपके शरीर से यूरिन में अपशिष्ट प्रोडक्‍ट के रूप में बाहर निकलता है।प्रत्येक किडनी लाखों छोटे फिल्टर से बनी होती है जिसे नेफ्रॉन कहा जाता है। समय के साथ, डायबिटीज में हाई ब्‍लड शुगर किडनी के साथ-साथ नेफ्रॉन में ब्‍लड वेसल्‍स को नुकसान पहुंचा सकता है, इसलिए वे उतनी अच्छी तरह से काम नहीं करते जितना उन्हें करना चाहिए। यह हाई क्रिएटिनिन की ओर जाता है। डायबिटीज से ग्रसित कई महिलाओं को हाई ब्‍लड प्रेशर भी हो जाता है, जो किडनी को भी नुकसान पहुंचा सकता है। क्रिएटिनिन टेस्‍ट एक उपाय है जो यह जानने में मदद करता है कि आपकी किडनी आपके ब्‍लड से अपशिष्ट को छानने का काम कितनी अच्छी तरह करती हैं।

रेटिनोपैथी

आपके ब्‍लड में बहुत अधिक चीनी रेटिना को पोषण देने वाली छोटी ब्‍लड वेसल्‍सस में रुकावट पैदा कर सकती है, जिससे ब्‍लड की आपूर्ति बंद हो जाती है। डायबिटिक रेटिनोपैथी में रेटिना में असामान्य ब्‍लड वेसल्‍स  की वृद्धि शामिल है।

अगर यह समस्या बरकरार रहती है तो आगे जागर यह और भी जटिल और खतरनाक रूप ले लेती है। जैसे; विट्रियस हेमरेज (आंख में खून जमने का इलाज), रेटिना अलग होना, ग्‍लूकोमा, अंधापन, वगैरह। इसीलिए किसी भी तरह की दिक्कत या परेशानी महसूस होने पर उसे नज़रअंदाज़ न करें।  

अनुशंसित लेख