Facts About Female Clitoris: महिलाओं के शरीर से जुड़ी कुछ रोचक बातें

Facts About Female Clitoris: महिलाओं के शरीर से जुड़ी कुछ रोचक बातें Facts About Female Clitoris: महिलाओं के शरीर से जुड़ी कुछ रोचक बातें

Apurva Dubey

20 Aug 2022

एक महिला होकर आपको ऐसा लगता होगा कि आप अपनी बॉडी यानि महिलाओं के शरीर के बारे में सब कुछ जानती होंगी। लेकिन यह सच नहीं है। महिलाओं का शारीरिक बनावट कुछ ऐसी होती है जिसमे कई अनगिनत सीक्रेट्स छुपे हुए हैं। वैसे तो महिलाएं सामान्य तौर पर अपना ख्याल रख लेती हैं लेकिन जब बात उनके प्राइवेट पार्ट्स की आती है तो वह इसे नज़रअंदाज़ कर देती हैं। आखिर ऐसा क्यों? फीमेल का इंटिमेट एरिया भी उतना ही इंपोर्टेंट अंग है जैसे के बाकि सभी। यही कारण है कि अपने शरीर के अंगों से जुड़ी बातों के बारे में भी उन्हें नहीं पता होता है। महिलाएं अपने निजी अंगों के बारे में नहीं जानती हैं और उनमें से सबसे ज्यादा क्लिटोरिस(Clitoris) उर्फ भंगाकुर से अंजान हैं। 

क्या है क्लाइटोरिस? (Clitoris) 

1998 में डॉक्टर हेलेन ओ कॉनल क्लाइटोरिस की खोज की। खास बात यह है कि आजतक किसी भी बुक में इसकी कोई डायग्राम उचित ढंग से नहीं बनी है। वहीँ इसके सही शेप और आइडेंटिकल साइज को लेकर भी काफी कन्फ्यूजन बना हुआ है। 

मटर के दाने जितना दिखता है साइज- 

क्लाइटोरिस का आकार बाहरी ओर से सिर्फ मटर के दाने जैसा ही दिखता है। ये छोटा सा स्किन का टुकड़ा लगता है जो यूरेथ्रा (जहां से यूरिन पास होती है) के ऊपर होता है। अगर कोई महिला अपने शरीर की एनाटॉमी के बारे में ध्यान से नहीं जानती है तो उसे इसे खोजने में दिक्कत होगी। इसलिए पहले अपने शरीर के बारे में जानना बहुत जरूरी है। 

फीमेल ओर्गास्म के लिए क्लाइटोरिस सेक्स जरुरी नहीं 

क्लाइटोरिस की शारीरिक रचना भी बिल्कुल पुरुषों के जननांग की तरह होती है। जैसे पुरुषों में जननांग होता है वैसे ही महिलाओं में ये मौजूद होती है। अधिकतर लोग इसका मतलब ही गलत समझते हैं क्योंकि टीवी और फिल्मों में फीमेल ऑर्गेज्म की एक अलग छवि दिखाई गई है। एक बात का ध्यान रखना जरूरी है कि महिलाओं को पेनिट्रेशन के जरिए आनंद नहीं मिलता है। 75% से 95% महिलाओं के शरीर की रचना कुछ इस तरह होती है कि उन्हें सिर्फ क्लिटोरिस के कारण ही वो मिलता है।

क्लाइटोरिस होता है काफी सेंसेटिव 

हमें ये पता है कि पुरुष जननांग बहुत सेंसिटिव होता है, लेकिन क्लिटोरिस उससे भी ज्यादा नाजुक होती है। इसमें 8000 से ज्यादा नर्व्स होती हैं जो पुरुषों के मुकाबले लगभग दोगुनी हैं। ये सोचना भी थोड़ा अजीब लगता है कि शरीर का इतना छोटा सा हिस्सा कितना महत्व रखता है। 

वे सभी एक जैसे नहीं हैं

शरीर के बारे में मूल रूप से हर एक चीज की तरह, हर महिला का क्लाइटोरिस काफी अलग होता है। वे बड़े, छोटे, अधिक छिपे हुए, कम छिपे हुए हो सकते हैं - सभी प्रकार और आकार के होते हैं। यह कुछ अतिरिक्त संवेदनशील होते हैं और उन्हें बहुत कम उत्तेजना की आवश्यकता हो सकती है। 




अनुशंसित लेख