Types Of Herbal Tea: हर्बल टी की यह वैरायटी, क्रोनिक हेडएक को करेगी दूर

Types Of Herbal Tea: हर्बल टी की यह वैरायटी, क्रोनिक हेडएक को करेगी दूर Types Of Herbal Tea: हर्बल टी की यह वैरायटी, क्रोनिक हेडएक को करेगी दूर

Apurva Dubey

10 Aug 2022

उमस भरे मौसम और ऑफिस की डेडलाइन के कारण शाम के बाद अक्सर हमें सिरदर्द का सामना करना पड़ता है। इस पुराने सिरदर्द को ठीक होने में लंबा समय लगता है। हालांकि, सिरदर्द को दूर रखने के लिए केवल चाय ही काफी है। इस प्रकार की विशेष चाय को आजमाएं जो सिरदर्द में मदद कर सकती है।

Types Of Herbal Tea

1. Ginger Tea

अदरक की चाय सिरदर्द को ठीक करने में मदद करती है। एंटी-इन्फ्लैमटॉरी एलिमेंट हमारे डाइजेशन को बढ़ावा देने में भी मदद करते हैं। जब हम दोपहर में हेल्दी खाना नहीं खाते, तो यह सिरदर्द का कारण बन सकता है - अदरक की चाय उसी में मदद करती है। 

2. Tulsi Tea

तुलसी की चाय माइग्रेन का रामबाण इलाज है। एक कप चाय में तुलसी के पत्ते मिलाकर पीने से सिर दर्द ठीक होता है। आयुर्वेद चिकित्सा में भी इसे बहुत महत्व दिया जाता है। तुलसी की चाय में मौजूद एंटी-माइक्रोबियल गुण मुंह में हानिकारक बैक्टीरिया और कीटाणुओं से लड़ने में मदद करते हैं।

3. Pudina Tea

पुदीना चाय गैस्ट्रिक मुद्दों, तनाव और चिंता को ठीक करने के लिए जानी जाती है। इसलिए, यह सिरदर्द को भी ठीक करने में मदद करता है। हर दिन पुदीने की चाय पीने की कोशिश करें। प्रतिदिन पुदीने की चाय पीने से आपको सांस की कुछ बीमारियों के लक्षणों से लड़ने में मदद मिल सकती है।

4. Green Tea

ग्रीन टी शरीर के टॉक्सिक पदार्थ को बाहर निकालने में मदद करती है। यह मांसपेशियों को मजबूत करने और शरीर के दर्द से राहत दिलाने में भी मदद करता है। अकसर वेट लॉस के लिए ग्रीन टी का सेवन करने की सलाह दी जाती है। ग्रीन टी आपका वजन कम करने और मेटाबोलिज्म को बूस्ट करने में मदद करता है। 

5. Lavender Tea

लैवेंडर की चाय शरीर को डिटॉक्स करने, सिरदर्द और माइग्रेन के लक्षणों को कम करने में मदद करती है। यह नींद और विश्राम को बढ़ाने में भी मदद करता है। लैवेंडर व्यापक रूप से एक अरोमाथेरेपी एजेंट के रूप में उपयोग किया जाता है और चिंता, अवसाद और थकान के साथ मदद करने के लिए पूरक है।

6. Chamomile Tea

कैमोमाइल चाय कैफीन से रहित है और एंटीऑक्सिडेंट से भरी हुई है। यह हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देने और मानसिक तनाव को कम करने में मदद करता है। इसका उपयोग मतली और गैस सहित कई पाचन रोगों के इलाज के लिए किया जाता रहा है, कैमोमाइल चाय दस्त, पेट के अल्सर, मतली और गैस से बचा सकती है।

हर्बल टी के फायदे 

हर्बल टी अपने मेडिकल फायदों के लिए जानी जाती है। इससे न सिर्फ फिजिकल हेल्थ में सुधार होता है बल्कि यह आपके मेन्टल हेल्थ और स्ट्रेस लेवल को कम करने में भी मदद करती है। हर्बल टी से नींद न आने की समस्या को दूर किया जा सकता है। एक शोध में जानकारी मिलती है कि हर्बल टी न्यूरोप्रोटेक्टिव प्रभाव प्रदर्शित कर सकती है। इससे न सिर्फ आपके बॉडी बैलेंस बना रहता है बल्कि आप खुद को मेंटली फिट भी महसूस करते हैं। 

क्या हर्बल टी के नुकसान भी हैं? 

हर्बल टी अपने साथ कई हेल्थ बेनिफिट्स लेकर आती हैं लेकिन कुछ परिस्थिति में हर्बल टी का सेवन नुकसानदायक साबित हो सकता है। जैसे, अक्सर प्रेग्नेंट महिलाओं को ज्यादा हर्बल टी पीने की सलाह नहीं दी जाती। हर्बल टी में मौजूद जड़ी-बूटी उनके यूटराइन कंट्रक्शन को बढ़ा देते हैं। इसके अलावा यदि आप किसी तरह के शारीरिक या मानसिक प्रॉब्लम से गुजर रहें हैं, या पहले से ही किसी मेडिकेशन पर हैं तो कोशिश करें कि हर्बल टी का सेवन, डॉक्टर की सलाह पर ही ले।    


अनुशंसित लेख