टी एंड सी | गोपनीयता पालिसी

संचालित द्वारा Publive

What Periods Blood Says About Health? छिपे हैं सेहत से जुड़े कई राज़

What Periods Blood Says About Health? छिपे हैं सेहत से जुड़े कई राज़
Sanjana

23 Jun 2022

जाहिर है किसी भी चीज का हद से ज्यादा होना लोगों को परेशान कर ही देता है। तो फिर यह तो पीरियड्स जो महिलाओं को हर महीने होते हैं। ऊपर से यह अपने साथ महिलाओं के लिए सिर दर्द, बदन दर्द और रैशेज जैसी समस्याएं भी लेकर आता है। ऐसे में महिलाओं का इससे परेशान होना और इससे भला बुरा कहना कुछ गलत भी नहीं है। लेकिन क्या आपको पता है कि पीरियड्स केवल आपको परेशानियां ही नहीं देते बल्कि आपकी हेल्थ के लिए अच्छे भी हो सकते हैं।

जी हां, पीरियड्स हमारी हेल्थ बुलेटिन को जारी रखता है। यह हमें हमारी सेहत से जुड़े कुछ ऐसे राज बताता है जो हमें कई बीमारियों का शिकार होने से बचा भी सकते हैं। ज्यादतर महिलाओं को यह लगता है पीरियड्स में आने वाला खून केवल लाल रंग का ही होता है। लेकिन अगर आप इसे ध्यान से देखेंगे तो यह कभी हल्का गुलाबी या बुरा भी हो सकता है। 

पीरियड ब्लड का कलर कैसे बताता है आपकी सेहत?

1. अगर ब्लड का कलर लाल हो तो

अगर पीरियड्स के दौरान आने वाले ब्लड का कलर लाल है तो इसका मतलब है कि आप बिल्कुल स्वस्थ है। यह हमारे शरीर में बना नया खून होता है जो हेवी ब्लीडिंग के साथ बाहर निकल जाता है। इसमें घबराने की कोई बात नहीं होती। यह हल्के लाल कलर का होता है। यह बताता है कि हमारे शरीर में नया खून बन रहा है। इसका मतलब आपका स्वास्थ्य बिल्कुल अच्छा है।

2. भूरे रंग का मतलब

अगर पीरियड्स के ब्लड का कलर भूरा है तो इसका मतलब है कि शायद यह गर्भाशय में लंबे समय के लिए जमा रहा होगा। या फिर ब्लड के बाहर निकल जाने के बाद लड़की को तेज पेट दर्द की समस्या भी हो सकती है।

यह रंग किसी इन्फेक्शन का सूचक भी हो सकता है। इसलिए आप अपने डॉक्टर से इसकी जांच जरूर करवाएं।

3. पीरियड्स के समय लाल रंग के थक्के आना

बहुत सी महिलाएं को पीरियड्स के दौरान ब्लड के साथ कुछ लाल रंग की थक्के  भी शरीर से बाहर आते ही नजर आते हैं। इसका मतलब है कि आपके शरीर में हार्मोनल बैलेंस बिगड़ गया है। यह ओवेरियन सिस्ट का संकेत भी देता है। 

4. काले रंग के खून का मतलब

पीरियड्स के बारे में कुछ महिलाओ का ब्लड काले रंग का होता है। इसका मतलब है कि आपके गर्भाशय में कोई इंफेक्शन भी हो सकता है। या फिर यह गर्भपात का संकेतक भी हो सकता है। इसे हल्के में ले कर नजरअंदाज ना करें। 

यह किसी गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है। इसलिए तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें और इसकी जांच करवाएं।

अनुशंसित लेख