Heart Attack: क्यों कम उम्र में युवाओं की हो रही है हार्ट अटैक से मौत?

Heart Attack: क्यों कम उम्र में युवाओं की हो रही है हार्ट अटैक से मौत? Heart Attack: क्यों कम उम्र में युवाओं की हो रही है हार्ट अटैक से मौत?

Sanjana

24 Aug 2022

सोमवार को गोवा में भारतीय जनता पार्टी की लीडर और टिक टॉक स्टार सोनाली फोगाट की मृत्यु हो गई। सूत्रों के मुताबिक 47 की उम्र में ही दिल का दौरा पड़ने के कारण वह दुनिया से चल बसी। यह अकेला मामला नहीं है जिसमें 50 से कम की उम्र से पहले ही हार्ट अटैक से मौत हुई हो।

2018 के एक सर्वेक्षण के मुताबिक देश में हर 3 सेकंड में एक युवा दिल का दौरा पड़ने से अपनी जान से हाथ धो बैठता है। हार्ट अटैक से मृत्यु होने वाले लोगों में 50% लोग 50 साल से अधिक उम्र के हैं। जबकि 25% लोग 40 की उम्र के आसपास या इससे कम है। आखिर इतनी कम उम्र में ही युवाओं को हार्ट अटैक क्यों आ रहा है? डॉक्टर के मुताबिक इसका मुख्य कारण लोगों का लाइफ स्टाइल और खानपान है। 

कम उम्र में हार्ट अटैक के कारण -

1. धूम्रपान और एल्कोहल

लोग समझते हैं कि मॉडर्न होने का मतलब है 18 साल के बाद सिगरेट पीना, एल्कोहल पीना और नशा करना है। इसलिए 18 से 30 साल के लोग नशा करते हुए पाए जाते हैं। धूम्रपान और नशा करने से व्यक्ति की कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इससे फेफड़ों के सड़ने और दिल की बीमारी के होने का खतरा बढ़ जाता है।

2. अनहेल्थी खाना

आजकल की युवा पीढ़ी बहुत रफ्तार से आगे बढ़ रही है। उन्हें जब भी भूख लगती है तो वह अच्छा और हेल्दी खाना खाने के बजाय 2 मिनट में बनने वाला चाइनीस और जंक फूड खाना पसंद करते हैं। यह खाना उनकी ब्लड वेसल को नुकसान पहुंचाता है और उनकी दिल की सेहत भी बिगाड़ता है। आपको अपनी थाली में जंक फूड की जगह हेल्दी और पोषण से भरपूर दाल चावल खाने चाहिए।

3. काम का प्रेशर

आजकल लोगों के ऊपर काम का प्रेशर इतना ज्यादा होता है कि उन्हें अपनी सेहत का ध्यान रखने का वक्त ही नहीं मिलता। वे अपने खानपान और डाइट पर ध्यान नहीं देते हैं। वे जल्दी के चक्कर में अस्वस्थ और नुकसानदायक जंक फूड खाना पसंद करते हैं जो उनकी कैलरी को बढ़ाता है। अत्यधिक कैलरी का सेवन करने से व्यक्ति दिल की बीमारी का शिकार बन सकता है।

4. लाइफस्टाइल

आज के समय में लोगों का लाइफ स्टाइल बहुत ही अनहेल्दी हो गया है। अधिकतर काम कंप्यूटर से होने लगे हैं जिसके कारण लोगों का चलना फिरना कम हो गया है और वह एक जगह बैठकर ही काम करते हैं। इससे उनका ब्लड सरकुलेशन भी धीमा पड़ जाता है और शरीर में होने वाली प्रक्रियाएं सही ढंग से काम नहीं कर पाती है। ब्लड सरकुलेशन के खराब होने के कारण दिल का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ जाता है।

5. एंबोलिक स्टेरॉइड

हर कोई चाहता है कि वह टीवी पर आने वाले सेलिब्रिटी जैसी बॉडी बनाएं। इसलिए वह भी जिम जाने लगते हैं। जिम जाने वाले लोगों को अलग आहार लेने की सलाह दी जाती है। इसके कारण वे एंबॉलिक स्टेरॉइड का सेवन करने लगते हैं जो दिल के स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक है।

अनुशंसित लेख