Advertisment

अगर आपको है PCOS तो रोज करिए ये योग आसन

रिसर्च कहता है कि हर 10 में से 4 महिला पीसीओएस से पीड़ित है। पीसीओएस के कारण उनके ओवरी में छोटी- छोटी गांठ पड़ जाता है। जिसके वजह से उनके शरीर में हार्मोनल संतुलित नहीं रहता और उनके मासिक धर्म में गहरा प्रभाव डालता है।

author-image
Khushi Jaiswal
New Update
योगा pcos

( image credit : India today)

PCOS Yoga: रिसर्च कहता है कि हर 10 में से 4 महिला पीसीओएस से पीड़ित हैं। पीसीओएस के कारण उनके ओवरी में छोटी- छोटी गांठ  पड़ जाता है। जिसके वजह से उनके शरीर में हार्मोनल संतुलित नहीं रहता और उनके मासिक धर्म में गहरा प्रभाव डालता है। पीसीओएस के कारण आपके शरीर में अन चाहे जगह बालों का ग्रोथ, वजन बढ़ना, मूड स्विंग्स, अनियमित पीरियड्स आदि हो सकते हैं।

पीसीओएस आपको जेनेटिक्स के कारण भी हो सकता है। अगर आप पीसीओएस से प्रभावित है तो इसे संतुलित करने के लिए आप चाहें तो कुछ योग आसन को अपने दिनचर्या में शामिल कर सकती हैं। इसका बहुत अच्छा असर आपको रोजाना करने से मिलेगा।

Advertisment

अगर आपको है PCOS तो रोज करिए ये योग आसन

1. सूर्य नमस्कार

अपने जीवन में पॉजिटिविटी लाने के लिए और शरीर में पनप रहें कई सरी बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए सूर्य नमस्कार एक बहुत ही बेहतरीन आसान है। इस आसन में 12 मुद्राए हैं। 

Advertisment

1. प्रणाम आसन ( प्रेयर पोज )

2. हस्तउत्तानासन (रैसेड आर्म्स पोज)

3. हस्तपादासन (स्टैंडिंग फॉरवर्ड पोज)

4. अश्व संचलानासन (इक्वेस्ट्रौओंन पोज)

5. दंडासन (सटीक पोज)

6. अष्टांग नमस्कार (आठ हाथो से सैल्यूट )

7. भुजंगासन (कोबरा पोज)

8. अधो मुख संवासन ( डाउनवर्ड फेसिंग डॉग पोज )

9. अश्व संचलानासन (इक्वेस्ट्रौओंन पोज)

10. हस्तपादासन (स्टैंडिंग फॉरवर्ड पोज)

11. हस्तउत्तानासन (रैसेड आर्म्स पोज)

12. ताड़ासन (माउंटेन पोज)

2. नौका आसन (बोट पोज)

इस आसन में आपको अपना शरीर नौका की तरह बनाना पड़ता है और शरीर का सारा वजन अपने बटेक्स पर डालना पड़ता है। इसका असर आपके पेट और पीठ पर ज्यादा देखने को मिलता है।

Advertisment

3. बुद्धकोण आसन (बटर फ्लाई पोज )

इस आसन को करने के लिए आपको अपने दोनो पैर को मोड़कर अपने ऎडी को अपने गेनेटेल्स के पास लना होता है फिर अपने दोनों हाथो से अपने पैरों को पकड़ कर ऊपर नीचे करते रहे।

4. चक्की चलनासन 

Advertisment

सीधे बैठे और अपन दोनों पैरों को विपरीत दिशा में खोलकर फैला ले फिर अपने दोनो हाथों से मुट्ठी की आकर बनाकर सास भरते हुए अपने शरीर को आगे लाए फिर गोलाकार में पीछे की ओर ले जाए। यह आसन को ऐसे करें जैसे आप कोई चक्की चला रहे है।

5. शवासन 

आप अपने मैट पर सीधे लेट जाए और शव यानी कॉर्प्स की तरह बिना हिले कुछ देर लेटे रहे इससे आपका शरीर आराम में धीरे - धीरे जाएगा और आप तनाव मुक्त हो जाएंगे और आपके शरीर का सारा थकान दूर होगा।

Advertisment