Why Women Make Better Leaders? 5 कारणों से महिलाएं हैं बेहतर लीडर

Why Women Make Better Leaders? 5 कारणों से महिलाएं हैं बेहतर लीडर Why Women Make Better Leaders? 5 कारणों से महिलाएं हैं बेहतर लीडर

Sanjana

20 Jun 2022

महिलाओं की काबिलियत और उनके कौशल ने आज उन्हें पुरुषों के बराबर लाकर खड़ा कर दिया है। अभी भी ऐसी डिबेट होती रहती हैं जिनमें महिलाएं और पुरुष दोनों खुद को एक दूसरे से बेहतर बताते हैं। महिलाओं को हमेशा से ही पुरुषों से कम समझा गया। दिनभर पुरुषों से भी ज्यादा काम करने पर उन्हें उतना पैसा नहीं मिलता जितना मिलना चाहिए।

महिलाओं के काम की भी कोई कीमत नहीं समझता था। लेकिन बदलते वक्त के साथ महिलाएं सशक्त हो रही हैं। वे अब हर क्षेत्र में पुरुषों से आगे निकल रही है। यहां तक कि वह पुरुषों से बेहतर लीडर भी होती है। अगर आप कुछ लोगों को एक वक्त के लिए किसी पुरुष की लीडरशिप में रखें और दूसरे वक्त में महिला की लीडरशिप में, तो चुनाव के समय लीडरशिप में महिला ही जीतेगी।

इन कारणों से महिलाएं हैं बेहतर लीडर -

1. मैनेजमेंट स्किल्स

महिलाएं शुरू से ही मैनेजमेंट बहुत अच्छी तरह से करती है। पुराने समय में महिलाएं अपने घर के साथ-साथ खेत के काम को भी मैनेज किया करती थी। वे कभी भी इसे असंतुलित नहीं होने देती थी। इसी से हम अंदाजा लगा सकते हैं कि महिलाओं की मैनेजमेंट स्किल्स कितनी अच्छी होती हैं। 

ज्यादातर महिलाएं अपनी टू डू लिस्ट के अनुसार डेडलाइन सेट करके अपने सभी कामों को समय से पूरा करना जानती हैं। जबकि पुरुष केवल एक ही चीज को ढंग से संभाल पाते हैं।

2. प्रोत्साहन बढ़ाती हैं

लोगों को मोटिवेट करने कि यह क्वालिटी हर किसी के पास नहीं होती लेकिन महिलाओ में यह क्वालिटी होती है। महिलाएं भावनाओं को अच्छे से समझती हैं। इसलिए वह लोगों की डर की भावना को अच्छे से समझ कर इन भावनाओं से डील कर पाती हैं। लोगों को प्रोत्साहित करने में महिलाओं की यह क्वॉलिटी काम आती है।

3. बिजनेस एथिक्स

पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को बिजनेस एथिक्स की ज्यादा समझ होती है। पुरूष बिजनेस एथिक्स को केवल बिजनेस तक ही सीमित समझते हैं। लेकिन महिलाएं इन बिजनेस एथिक्स को बिजनेस के अलावा भी कई जगह अप्लाई करती हैं। पुरुषों की ईगो उन्हें बहुत ही सफलताओं को पाने से रोक देती है। जबकि महिलाओं की इससे डील करने की क्वालिटी उन्हें एक अच्छा लीडर बनाती है।

4. धैर्य

महिलाओं की धैर्य रखने की क्षमता पुरुषों से ज्यादा होती है। पुरुष धीरज रख के फैसले नहीं लेते और जल्दबाजी में गलत कदम उठा लेते हैं। जबकि महिलाएं धैर्य से अपने सभी फैसले सोच समझ कर लेती हैं। महिलाओं को स्ट्रेस हैंडल करना भी ज्यादा अच्छे से आता है। लेकिन पुरुष स्ट्रेस में आकर चीजों को बिगाड़ देते हैं।

5. कम्युनिकेशन

महिलाओं की कम्युनिकेशन स्किल्स पुरुषों से बेहतर होती है। बहुत से लोग महिलाओं के बातूनी नेचर का मजाक उड़ाते हैं। लेकिन सच तो यह है कि महिलाएं जानती हैं कि उन्हें कब, किस तरह, कौन सी बात करनी है। महिलाएं बहुत ही अच्छी तरह से कम्युनिकेट करती हैं और एक बिजनेस डील को अपनी इन्हीं स्किल्स से जीत भी लेती है। वे अपने एंप्लॉय के विचारों को भी अच्छे से समझती हैं।

अनुशंसित लेख