Instagrammable Food Trend: क्या है और क्या लोग ऐसा खाना चाहते हैं?

Instagrammable Food Trend: क्या है और क्या लोग ऐसा खाना चाहते हैं? Instagrammable Food Trend: क्या है और क्या लोग ऐसा खाना चाहते हैं?

Monika Pundir

16 Jun 2022

पिछले एक दशक में इंस्टाग्राममेबल फूड ट्रेंड का उदय देखा गया है, जहां रेस्तरांट ने विशुयल विशिष्टता को प्राथमिकता देने के लिए मेनू में बदलाव किया, अक्सर स्वाद की कीमत पर।

इस धारणा के तहत कि यूनिक खाद्य पदार्थ बनाने से व्यवसायों को सोशल मीडिया पर अधिक जुड़ाव हासिल करने में मदद मिलेगी, इंस्टाग्राममेबल फूड ट्रेंड ने यूनिकॉर्न लैटेस जैसी वस्तुओं को जन्म दिया है।

क्या यह रणनीति वास्तव में काम करती है? क्या यूनीक और असामान्य दिखने वाले खाद्य पदार्थ सबसे अधिक जुड़ाव प्राप्त करते हैं? या क्या लोग सामान्य, परिचित दिखने वाले खाद्य पदार्थों पसंद करते हैं?

लोग क्या सोचते हैं इंस्टाग्राममेबल फ़ूड के बारे में?

सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म कंटेंट को प्राथमिकता देने और बढ़ावा देने के लिए रैंक-ऑर्डरिंग एल्गोरिदम का उपयोग करते हैं, इसलिए यह पता लगाना कि कौन से खाद्य पदार्थ अधिक सोशल मीडिया जुड़ाव प्राप्त करते हैं, होटल और फ़ूड क्रिएटर्स को यह निर्धारित करने में मदद करेंगे कि उनकी ऑनलाइन कंटेंट की पहुंच को बेहतर तरीके से कैसे बढ़ाया जाए।

कन्वेंशनल सोशल मीडिया ज्ञान से पता चलता है कि लोग सोशल मीडिया कंटेंट के साथ जुड़ेंगे, जिससे वे मनोरंजक मानते हैं, जहां "मनोरंजक" का अर्थ यूनिक, विशिष्ट और असामान्य है।

खाने के संदर्भ में, यह माना गया है कि मनोरंजक का अर्थ है जो अधिक युनिक, विशिष्ट और असामान्य दिखता है। इस सोच के कारण आजकल ऐसे खाने की ट्रेंड बढ़ गयी है जिसमे स्वाद के कीमत पर भी खाने को अलग, रंगीन आदि दिखने की कोशिश की जाती है।

ब्रुकलिन, NY में Bagel Store से लेकर टोरंटो में Fugo Desserts, Enchanted Poutinerie और Glory Hole डोनट्स तक, इंस्टाग्राम पर इस ओवर-द-टॉप फ़ूड ट्रेंड के कई अलग-अलग उदाहरण हैं।

सामान्य दिखने वाला खाना क्यों ट्रेंड में है?

एवोल्यूशन और सुर्विवल का एक ज़रूरी हिस्सा था मनुष्य का अपना खाना आसानी से पहचानना। इंसान बिओलॉजिकली और साइकोलॉजिकली नार्मल दिखने वाले खाने के तरफ आकर्षित होता है।

यह सोशल मीडिया के लिए कैसे रिलेवेंट है? एक एवरेज सोशल मीडिया यूजर लगभग २ घंटे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर बीतता है। मोबाइल पर स्क्रॉल करते समय दिमाग नार्मल खाने की तरफ ज़्यादा आकर्षित होता है, नाकि जूते के आकर के केक के तरफ। नॉर्मल पिज़्ज़ा, पास्ता, बर्गर या सलाद आँखों को आकर्षित करता है।

मैथ्यू फिलिप, सहायक प्रोफेसर, मार्केटिंग, टोरंटो मेट्रोपॉलिटन यूनिवर्सिटी, एथन पैनसर, मार्केटिंग के एसोसिएट प्रोफेसर, सोबे स्कूल ऑफ बिजनेस, सेंट मैरी यूनिवर्सिटी और जेना जैकबसन, सहायक प्रोफेसर, टेड रोजर्स स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, टोरंटो मेट्रोपॉलिटन यूनिवर्सिटी ने इस लेख को सबसे पहले द कन्वर्सेशन पर प्रकाशित किया।

अनुशंसित लेख