5 Myths About Sex: इनकी सच्चाई जानकर हो जायेंगे हैरान

5 Myths About Sex: इनकी सच्चाई जानकर हो जायेंगे हैरान 5 Myths About Sex: इनकी सच्चाई जानकर हो जायेंगे हैरान

Sanjana

27 Jun 2022

खाने से लेकर सेक्स तक हर चीज के बारे में हजारों मिथ फैले हुए हैं। लेकिन यह हमारी समझदारी पर निर्भर करता है कि हम उन पर विश्वास करते हैं या नहीं। सेक्स हमारे लिए बहुत फायदेमंद होता है। लेकिन इससे जुड़े मिथ लोगों को भ्रमित कर देते हैं। इसलिए आपको इन मिथो और इनकी सच्चाई के बारे में ज्ञान होना चाहिए।

कुछ मिथ तो ऐसे हैं जिन पर आपको शायद भरोसा ही नहीं होगा। लेकिन फिर भी लोग इन पर भरोसा कर लेते हैं। लोगों को यह समझाना आसान नहीं है कि यह कितने गलत और बेवकूफाने हैं। हमें इनकी सच्चाई के बारे में जानना चाहिए और समझदारी से काम लेना चाहिए।

सेक्स से जुड़े मिथ -

1. जी स्पॉट केवल एक कल्पना है

कुछ महिलाओं को यह लगता है कि जी स्पॉट केवल लोगों की एक कल्पना है। लेकिन यह कल्पना नहीं वास्तविकता है। महिलाओं के शरीर पर जी स्पॉट होता है। वह बस उसे ढूंढ नहीं पाती है। लेकिन ढूंढ ना पाने का मतलब यह नहीं होता कि वह है ही नहीं। 

आप इसे लोकेट करने के लिए अपने पार्टनर की सहायता भी ले सकती हैं।

2. अगर चरम तक नहीं पहुंची तो नोर्मल नहीं है

सेक्स से जुड़ा यह मिथ तो हद ही कर देता है। कुछ लोगों को लगता है कि अगर महिलाएं सेक्स के दौरान ऑर्गेज्म यानी कि चरम तक नहीं पहुंच पाती तो वह नॉर्मल नहीं है। लेकिन ऐसे तो दुनिया में लाखों महिलाएं हैं जो बिना चरम तक पहुंचे इसका भरपूर आनंद उठाती हैं।

वैज्ञानिकों ने भी यह पुष्टि की है कि जो महिलाएं ऑर्गेज्म तक नहीं पहुंच पाती वह मैनुअल स्टिमुलेशन से चरम सीमा पर पहुंच सकती हैं।

3. हस्तमैथुन से आंखों की रोशनी होती है कम

कुछ लोगों को यह लगता है कि ऑर्गेज्म तक पहुंचने के लिए हस्तमैथुन की मदद लेने से हथेली पर बाल उग जाते हैं। लेकिन यह हकीकत बिल्कुल भी नहीं है। क्या आपने कभी किसी की हथेली पर बाल उगते देखा है? नहीं ना। 

ऐसे ही हस्तमैथुन की सहायता लेने से आंखों की रोशनी पर कोई नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता है। इससे कोई अंधा या बहरा नहीं हो जाता है।

4. ओएस्टर्स खाने से बढ़ती है सेक्स की इच्छा

जो लोग मासाहारी होते हैं उनके लिए ओयस्टर्स एक अच्छी डिश है। यह खाने में बहुत लज़ीज़ होती है। लेकिन इसे खाने से सेक्स करने की इच्छा का जागना या स्ट्रॉन्ग होना केवल एक मिथ है। विज्ञान इसकी पुष्टि नहीं करता है।

सेक्स एक ऐसी चीज़ है जो हमारे पार्टनर पर हमारे विश्वास और सहजता पर निर्भर करती है।

5. दो कॉन्डम से खतरा कम

कुछ लोगों को लगता है कि दो कॉन्डम पहनने से सुरक्षा ज्यादा होती है। लेकिन यह बिल्कुल गलत है और अविश्वसनीय है। हकीकत तो यह है कि दो कॉन्डम पहनने से घर्षण होता है जिससे कॉन्डम फट सकता है। 

इससे लीकेज का खतरा और भी ज़्यादा बढ़ जाता है। 

अनुशंसित लेख