ब्लॉग

Lowering Stress: इन 5 तरीकों से ख़त्म करें अपनी डिवाइस डिपेंडेंसी

Published by
Ritika Aastha

इस महामारी के समय में हम डिवाइस और गैजेट्स पर बहुत ज़्यादा डिपेंडेंट हो गए हैं। हम में से कई ज़्यादा लोग वर्क फ्रॉम होम में हैं और इस कारण दिन-रात अपने डिवाइसेस से जुड़े हुए हैं। इसके कई दुष्परिणाम देखने को मिल रहे हैं। डिवाइस डिपेंडेंसी इस कदर लोगों में बढ़ गई है की एक्सपर्ट्स इससे होने वाले स्ट्रेस को अब “डिवाइस स्ट्रेस” के नाम से बुला रहे हैं। फिजिकल मूवमेंट के एब्सेंस में बढ़ रहे डिवाइस डिपेंडेंसी के कारण इस स्ट्रेस को आप इन 5 तरीकों से ख़त्म कर सकते हैं:

1. अपने दिन की शुरुवात मोबाइल फ़ोन से ना करें

सुबह का समय बहुत ही कीमती होता है इसलिए इसे मोबाइल यूज़ करने में ज़ाया ना करें। कई लोग सुबह उठाने के 15 मिनट के अंदर मोबाइल यूज़ करना स्टार्ट कर देते हैं और ये एक बुरे एडिक्शन की निशानी है। सुबह-सुबह फ़ोन यूज़ करने से आपका दिमाग ड्रेन हो जाएगा और आपका वक़्त भी बहुत बर्बाद हो जाएगा। कोशिश करें की वर्कआउट या ब्रेकफास्ट के बाद ही आप फ़ोन को यूज़ करें।

2. अपनी आँखों को ब्रेक दें

दिन भर मल्टिपल स्क्रीन्स में देखने के कारण हमारी आँखों पर बहुत बुरा असर पड़ सकता है। हमारी आँखों को ब्रेक देना ज़रूरी है। इसके लिए आप अपनी खिड़की या बालकनी में जाएँ और बहुत डिस्टेंस पर रखी किसी चीज़ को देखें। अपनी आँखों को वॉश करें और अपने हाथों से रब भी करें।

3. माइंडफुल ब्रेक लें

फ़ोन की रिंग या मेल का नोटिफिकेशन भी आपको स्ट्रेस में डाल सकता है। इसलिए आप कोशिश करें की दिन में कम से कम दो से तीन बार आप माइंडफुल ब्रेक लें। माइंडफुल का मतलब है उस मोमेंट में रहना। इसे प्रैक्टिस करने के लिए आप डीप ब्रीथिंग एक्सरसाइज कर सकते हैं और अपने नर्वस सिस्टम को रिलैक्स और रिचार्ज भी कर सकते हैं।

4. ऑफ-स्क्रीन एक्टिविटीज पर फोकस करें

कई बार फ्री होने पर भी हम अपने स्क्रीन्स को एक्स्ट्रा टाइम दे देते हैं जिस कारण स्ट्रेस लेवल और बढ़ता है। आप चाहे तो इससे ब्रेक लेने के लिए ऑफ-स्क्रीन एक्टिविटीज कर सकते हैं। कोशिश करें की आप ऑफिस कॉल्स के बीच में कुछ चित्रकारी करें या फिर कुछ राइटिंग भी कर सकते हैं।

5. दिन का अंत फ़ोन से ना करें

रात को सोने से पहले फ़ोन यूज़ करने से आपकी नींद क्वालिटी पर असर पड़ सकता है। ये आपके सर्कुलर रिधम में इंटरफेयर कर सकता है जिस कारण आपको मनोचिकित्सक बीमारी हो सकती है। इसलिए कोशिश करें की सोने से 45 मिनट पहले आप फ़ोन यूज़ बंद कर दें।

Recent Posts

शादी का प्रेशर: 5 बातें जो इंडियन पेरेंट्स को अपनी बेटी से नहीं कहना चाहिए

हमारे देश में शादी का प्रेशर ज़रूरत से ज़्यादा और काफी बार बिना मतलब के…

17 hours ago

तापसी पन्नू फेमिनिस्ट फिल्में: जानिए अभिनेत्री की 6 फेमस फेमिनिस्ट फिल्में

अभिनेत्री तापसी पन्नू ने बहुत ही कम समय में इंडियन एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में अपनी अलग…

18 hours ago

क्यों है सिंधु गंगाधरन महिलाओं के लिए एक इंस्पिरेशन? जानिए ये 11 कारण

अपने 20 साल के लम्बे करियर में सिंधु गंगाधरन ने सोसाइटी की हर नॉर्म को…

19 hours ago

श्रद्धा कपूर के बारे में 10 बातें

1. श्रद्धा कपूर एक भारतीय एक्ट्रेस और सिंगर हैं। वह सबसे लोकप्रिय और भारत में…

20 hours ago

सुष्मिता सेन कैसे करती हैं आज भी हर महिला को इंस्पायर? जानिए ये 12 कारण

फिर चाहे वो अपने करियर को लेकर लिए गए डिसिशन्स हो या फिर मदरहुड को…

20 hours ago

केरल रेप पीड़िता ने दोषी से शादी की अनुमति के लिए SC का रुख किया

केरल की एक बलात्कार पीड़िता ने शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख कर पूर्व कैथोलिक…

23 hours ago

This website uses cookies.