ब्लॉग

Bedwetting: इन 5 तरीको से रोकें अपने बच्चे को बेडवेटिंग से

Published by
Ritika Aastha

5 साल से बड़े बच्चे अगर बेडवेटिंग से गुज़र रहे हैं तो ये पेरेंट्स के लिए बहुत चिंताजनक बात हो जाती है। ऐसे में अक्सर पेरेंट्स ये कोशिश करते हैं की बच्चों का डिनर के समय लिक्विड इन्टेक को कम कर दिया जाए। पर इससे भी कई बार हालत नहीं सुधरते हैं और आपके बच्चे की बेडवेटिंग की आदत नहीं जाती है। अगर आपका बच्चा भी ऐसे समस्या से गुज़र रहा है तो इस बात को काफी प्यार से हैंडल करने की ज़रूरत है। जानिए ऐसे 5 तरीकें जिनसे आप रोक सकते हैं अपने बच्चे को बेडवेटिंग से:

1. बच्चों के वाशरूम ब्रेक्स शेड्यूल करें

इस बात का ख्याल रखे की आपका बच्चा हर 2 से 3 घंटे के अंतराल पर वाशरूम ब्रेक्स पर जाए और इस बात का ख़ास ख्याल रखें की सोने से पहले आपका बच्चा वाशरूम ज़रूर यूज़ करे। अगर आपका बच्चा इस रूटीन को फॉलो नहीं कर पा रहा है तो उस पर झल्लाने के बजाए उसे आराम से ये सीखाएं और समझाएं की वक़्त-वक़त पर वाशरूम यूज़ करना क्यों ज़रूरी है। इससे हो सकता है कि वो इस रूटीन को फॉलो कर पाएं।

2. बच्चों के डाइट से ब्लैडर इर्रिटेन्ट हटाएँ

बच्चों के डिनर डाइट में से धीरे-धीरे ऐसी चीज़ों को हटाना शुरू कर दें जो उनको ब्लैडर को इर्रिटेट कर सकता है। सबसे पहले कैफीन जो चॉकलेट मिल्क या कोको के रूप में आप अपने बच्चे को देते हैं, उसे बंद करें और फिर कुछ दिन ऑब्ज़र्व करें। अगर इसके बाद भी बात ना बने तो कुछ खट्टे फलों के जूस और आर्टिफिशियल फ्लावोरिंग वाले फ़ूड प्रोडक्ट्स से उनकी दूरी बना दें। इससे उनका ब्लैडर ठीक रह सकता है।

3. कॉन्स्टिपेशन को समझें

हमारे शरीर में रेक्टम हमारे ब्लैडर के जस्ट पीछे होता है और इसलिए अगर हमें कॉन्स्टिपेशन की प्रॉब्लम होगी तो ये बेडवेटिंग में भी तब्दील हो सकता है। शोध बताते हैं की एक-तिहाई बेडवेटिंग करने वाले बच्चों को यही समस्या होती है और आम तौर पर पेरेंट्स इस प्रॉब्लम को समझते नहीं हैं। इसलिए अपने बच्चे से कॉन्स्टिपेशन के बारे में ज़रूर बात करें और पता करें की क्या उन्हें भी इसका प्रॉब्लम है।

4. बच्चों की स्क्रीन टाइम घटाएं

अगर बाचे की स्लीप हाइजीन को इम्प्रूव किया जाए तो वो बेडवेटिंग से बच सकते हैं। इसलिए कोशिश करें की रात को सोने से पहले उनका स्क्रीन टाइम काफी कम हो। जब ऐसा होगा तो समय से सो पाएंगे और अच्छी नींद का लाभ उठा पाएंगे। ऐसे में उनकी बेडवेटिंग की आदत भी सुधर सकती है।

5. बच्चों को पनिश ना करें

कई बार बच्चे का बेड वेट्ट करना कई पेरेंट्स को गुस्सा दिला सकता है और ऐसे में ये भी संभव है की आप अपने बच्चे को डाटें या कभी-कभी पनिश भी कर दें। ये तरीका सही नहीं क्योंकि आपकी ऐसी हरकत से बच्चा कुछ सीख नहीं पायेगा और उसकी आदत बदलने के जगह और बुरी बन सकती है।

Recent Posts

क्या आप Dial 100 फिल्म का इंतज़ार कर रहे हैं? इस से पहले देखें ऐसी ही 5 रिवेंज थ्रिलर फिल्में

एक्ट्रेस नीना गुप्ता की जल्दी ही नयी फिल्म आने वाली है। गुप्ता और मनोज बाजपेयी…

11 mins ago

Viral Drunk Girl Video : पुणे में दारु पीकर लड़की रोड पर लेटी और ट्रैफिक जाम किया

इस वीडियो में एक लड़की देखी जा सकती है जिस ने दारु पी रखी है…

38 mins ago

Tokyo Olympic 2021 : क्यों कर रहे हम टोक्यो ओलंपिक्स में महिला एथलिट को सेलिब्रेट?

इस बार के टोक्यो ओलिंपिक 2021 में महिला एथलिट ने साबित कर दिया है कि…

1 hour ago

TOKYO ओलंपिक्स 2020 : अदिति अशोक कौन हैं? क्यों हैं यह न्यूज़ में?

भारतीय महिला गोल्फर अदिति अशोक पहली बार सबकी नज़र में 5 साल पहल रिओ ओलंपिक्स…

2 hours ago

Delhi Cantt Minor Girl Rape : दिल्ली कैंट में माइनर दलित लड़की का रेप किया और जान से मारा

माइनर दलित लड़की का रेप - नई दिल्ली जिसे हमारी इंडिया की रेप कैपिटल कहा…

2 hours ago

गहना वशिष्ठ का वीडियो सोशल मीडिया पर हुआ वायरल : इंस्टाग्राम पर नग्न होकर दर्शकों से पूछा कि क्या यह अश्लीलता है?

गंदी बात अभिनेत्री गहना वशिष्ठ (Gehana Vasisth) की एक इंस्टाग्राम लाइव वीडियो सोशल मीडिया पर…

4 hours ago

This website uses cookies.