Ayurvedic Remedies: जानिए आयुर्वेदिक उपाय जिनसे होगी आपकी त्वचा बेहतर

आपको बस इतना करना है कि उन्हें कुछ अन्य हीलिंग मसालों के साथ मिलाएं क्योंकि वे हानिकारक रसायनों से रहित हैं। आइए जानते हैं कैसे करें आयुर्वेदिक उपाय से त्वचा बेहतर इस हैल्थ से जुड़े इस ब्लॉग में।

Aastha Dhillon
13 Dec 2022
Ayurvedic Remedies: जानिए आयुर्वेदिक उपाय जिनसे होगी आपकी त्वचा बेहतर

Ayurvedic Remedies

Ayurvedic Remedies: प्रदूषण, रासायनिक उत्पाद, खराब आहार विकल्प, जीवन शैली की आदतें, ऐसे कई कारण हैं जिनकी वजह से हमारी त्वचा दिन व दिन सुस्त और बेजान होती जाती है। जब आप अपनी बेकार त्वचा को ठीक करने के लिए इंटरनेट पर सर्वोत्तम क्रीम, लोशन और मॉइस्चराइज़र की तलाश में व्यस्त हैं, तो क्या आप अपनी आँखों को रसोई की ओर मोड़ सकते हैं।

आयुर्वेद के अनुसार, हमारी त्वचा की अधिकांश समस्याओं को प्राकृतिक अवयवों और जड़ी-बूटियों की मदद से ठीक किया जा सकता है। आपको बस इतना करना है कि उन्हें कुछ अन्य हीलिंग मसालों के साथ मिलाएं क्योंकि वे हानिकारक रसायनों से रहित हैं।

आयुर्वेदिक उपाय जिनसे आ सकती है आपकी त्वचा में जान

1. हल्दी

हल्दी या हल्दी एक वैश्विक घटना बनती जा रही है और ईमानदारी से कहूं तो हमें आश्चर्य भी नहीं है। भारतीयों के रूप में, हमने अपनी चोटों को ठीक करने और दर्द को दूर करने के लिए हल्दी का उपयोग करी में किया है। प्राचीन काल से हल्दी भी हमारी त्वचा और सौंदर्य अनुष्ठानों का एक आंतरिक हिस्सा रही है। हल्दी का सक्रिय यौगिक करक्यूमिन त्वचा को भीतर से फिर से जीवंत करने में मदद करता है और मृत कोशिकाओं को मारता है। हल्दी एक प्राकृतिक एक्सफोलिएटर के रूप में भी काम करती है। हफ्ते में दो बार हल्दी और दही से बना फेस मास्क लगाएं और खुद रिजल्ट देखें।

2. आंवला

आंवला एक आयुर्वेदिक सुपरफूड है जिसे आपको आज ही अपने आहार में शामिल करना चाहिए। कड़वा फल आपके तालू के लिए बहुत अधिक सुखद नहीं हो सकता है, लेकिन यह विटामिन सी और अन्य महत्वपूर्ण एंटीऑक्सिडेंट से भरा होता है जो मुक्त कणों की गतिविधि को रोकने में मदद कर सकता है। फ्री रेडिकल एक्टिविटी समय से पहले बुढ़ापा, सुस्त त्वचा और झुर्रियों के लिए जिम्मेदार है।

3. आयरन युक्त खाद्य पदार्थ

विटामिन सी के अलावा, आयरन(Iron) के कई प्राकृतिक स्रोतों को भी शामिल करना सुनिश्चित करें। आयुर्वेद हमेशा मौसमी खाद्य पदार्थ खाने की बात करता है। इसलिए सर्दियों में अपने आहार में भरपूर मात्रा में गाजर और चुकंदर का सेवन करें। गर्मियों में आप अनार के जूस का सेवन कर सकते हैं। आयरन एक प्राकृतिक रक्त-शोधक के रूप में कार्य करता है जो प्राकृतिक चमक को प्रेरित करने में मदद करता है।

4. शहद

शहद में एंटीसेप्टिक(Antiseptic) और जीवाणुरोधी(Antibacterial) गुण होते हैं, जो इसे मुहांसे वाली त्वचा के लिए आदर्श बनाता है। यह एक ह्यूमेक्टेंट भी है, जो त्वचा को हाइड्रेट रखता है लेकिन चिकना नहीं। आपके छिद्रों से ब्लैकहेड्स को हटाकर और त्वचा को कस कर, यह अद्भुत घटक इसे चिकना करने और इसे अविश्वसनीय रूप से मखमली बनाने में मदद करता है।

5. नारियल का तेल

नारियल का तेल जीवाणुरोधी गुणों से भरपूर एक प्रभावी मॉइस्चराइजर है। यह त्वचा को गहन रूप से पोषण देता है और इसे एक चिकनी और रेशमी बनावट के साथ छोड़ देता है। नारियल के तेल में मध्यम-श्रृंखला फैटी एसिड के रोगाणुरोधी गुण त्वचा के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक हैं और मुँहासे, सेल्युलाइटिस, फॉलिकुलिटिस और एथलीट फुट सहित संक्रमण को रोकने में मदद कर सकते हैं।

Read The Next Article