“हर कामयाब आदमी के पीछे एक औरत का हाथ होता है” ये बात तो हम सबने कभी न कभी तो सुनी ही है, लेकिन क्या कभी आपने ये सोचा है कि एक औरत की कामियाबी के पीछे किसका हाथ होता है?

image

ज़रूरी नहीं कि हर कामयाब औरत के पीछे सिर्फ आदमी का ही हाथ हो , एक महिला की कामयाबी का श्रेय उनके जीवन की अन्य महिलाओं को भी जाता है।

‘हर कामयाब औरत के पीछे एक औरत का हाथ होता है।’

एक औरत की कामियाबी का मतलब क्या होता है? एक औरत की कामियाबी का मतलब सिर्फ बिज़नेस वूमेन बनना या फेमस होना  नहीं होता। जब औरत अपने पैरों पर खड़ी हो जाती है ,घर के कामो के साथ – साथ बाहरी दुनिया के काम भी सँभालने लगती है ,सोसाइटी में अपनी एक अलग पहचान बनाती है ,तब वो औरत कामयाब कहलाती है।

हमारी कामयाबी के पीछे इन महिलाओं का हाथ होता है :-

  • मां हमारी कामयाबी का सबसे पहला श्रेय हमारी मां को जाता है ,ये हमारे जीवन की वो महिला है जो हमारा साथ कभी नहीं छोड़ती। एक ऐसी औरत जिसके ज़रिये हम इस दुनिया में आते है, हमारे पैदा होने से ले कर ज़िन्दगी के आखिरी मोड़ तक ये आपके साथ खड़ी रहती है। कई बार हमारे जीवन में ऐसी सिचुएशंस आती है जिसमे हमारा साथ कोई नहीं देता ,लेकिन मां ज़रूर देती है। हर मां अपनी बेटी को अच्छी परवरिश देने की कोशिश करती है ,अपनी बेटी के अंदर हर वो अच्छे गुण डालने की कोशिश करती है जो उसे आगे ज़िन्दगी में काम आये,उसे एक काबिल इंसान बनाये।
  • दोस्त – फैमिलीचुनने का अधिकार हमारे पास नहीं होता लेकिन दोस्ती ही सिर्फ एक ऐसा रिश्ता है जो हम अपनी मर्ज़ी से बनाते है। मां – बाप के अलावा अगर कोई आपका साथ सबसे ज्यादा देता है तो वो है आपकी दोस्त। एक औरत की ज़िन्दगी में उसकी गर्ल बेस्टी सबसे बड़ी मेंटोर (mentor) होती है। जब भी आपको कुछ समझ नहीं आता तो आप सबसे पहले अपनी बेस्ट फ्रेंड की सलाह लेना प्रेफर करते है। लाइफ में जब भी आप परेशान होती है ,आपको मोटीवेट करने का काम आपकी दोस्त करती है।आपके लाइफ की ये वूमेन आपको ग्रो करने में, इंडेपेंडेंट होने में ,सही चुनने में काफी मदद करती है।
  • मेंटोर (mentor) – भगवान के बाद दूसरा सबसे बड़ा दर्जा हमारे गुरु (mentor) का होता है। एक औरत बतौर टीचर सिर्फ पढ़ाने का काम नहीं करती , वो अपने स्टूडेंट्स को बाहरी दुनिया के लिए तैयार करती है ,उन्हें सही गलत में फर्क समझाती है,अपने हक़ के लिए आवाज़ उठाना सिखाती है। हालांकि सभी टीचर्स ऐसी नहीं होती ,लेकिन हम सबकी ज़िन्दगी में कोई न कोई तो एक ऐसी टीचर होती ही है जो हमें किताबों से ऊपर उठ के गाइड करती है।

औरत को शक्ति का रूप माना  वो लाख मुसीबतों को झेल के भी आगे बढ़ने की क्षमता रखती है। उनके जीवन में उनकी मां ,बहन ,दोस्त , मेंटोर बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है ,चाहे वो स्कूल हो या ऑफिस ,या फिर घर, एक औरत ही दूसरी औरत को मज़बूत बनाती है। इसलिए एक महिला होने के नाते ,दूसरी महिलाओ को सपोर्ट करे।

पढ़िए : 4 महिलाएं जिन्होंने भारत में Women’s Education को बढ़ावा दिया

Email us at connect@shethepeople.tv