रोना आम बात है – हम सब सोचते हैं कि रोना बहुत ख़राब चीज़ होती हैं इसके कारण हम कभी भी किसी को रोने नहीं देते हैं। किसी को रोने से रोकने से उस इंसान के इमोशंस अंदर ही रह जाते हैं और वो खुलकर अपने आप को एक्सप्रेस नहीं कर पाता है। ऐसा ना सोचें कि रोना कोई बहुत गन्दी या गलत बात होती है। इसलिए आज हम आपको बताएंगे क्यों रोना भी हसने की तरह ही एक आम बात होती हैं –

1. ये भी एक भाव ही होता है

हर इंसान के अलग अलग भाव होते हैं जैसे कि हसना, रोना, चिल्लाना, झगड़ना या फिर गुस्सा होना। इन सब इमोशंस से ही इंसान बनता है और इनके कारण ही वो अपनी फीलिंग्स अच्छे तरीके से एक्सप्रेस कर पाता है। इसलिए ये सभी भाव एक इंसान में होना जरुरी होता है।

2. मन हल्का होता है

जब इंसान अच्छे से रो लेता है तो उसका मन अंदर से हल्का हो जाता है। इस से उनका सर का प्रेशर कम होता है इसलिए किसी रोते हुए इंसान को आप सिर्फ समझाएं पर उसे रोने से ना रोकें जैसे कि आप किसी हस्ते हुए इंसान को नहीं रोकते हैं।

3. रोने के लिए चाहिए होती है हिम्मत

कई लोग ऐसे होते हैं जो खुलकर अपना कोई भी इमोशन दिखा ही नहीं पाते हैं क्योंकि उन्हें छोटे से ही इतना दबाकर रखा जाता है। बहुत से लोग कभी डर के मारे तो कभी लोग क्या सोचेंगे के मारे रोते नहीं है और कभी नशे कर के तो कभी अंदर ही अपना दुख दबा लेते हैं। जो भी इंसान खुलकर रो लेता वो सबसे मजबूत बन जाता है।

4.चीज़ों को एक्सेप्ट करना सीखते है

जब आप रोते हैं और अपने मन की बात सामने वाले को खुलकर बताते हैं उसका मतलब है आप जो भी परिस्तिथि है उसको एक्सेप्ट कर रहे हैं। ऐसा करने से आप और स्ट्रांग बनते हैं और लाइफ में ज्यादा आगे तक जाते हैं।

Email us at connect@shethepeople.tv