पीरियड्स में क्रेविंग्स सबसे आम बात है। क्रेविंग्स में डार्क चॉकलेट कई महिलाओं की पहली पसंद है। डॉक्टर्स बताते हैं की इन क्रेविंग्स का लिंक डायरेक्ट हमारे मेंस्ट्रुअल साइकिल के साथ जुड़ा हुआ है। इसलिए इनको खाने से हमें राहत मिलती है। डार्क चॉकलेट खाना पीरियड्स में बहुत लाभदायक होता है। इसमें कोको कंटेंट सबसे ज़्यादा होता है जो एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर होता है और इसलिए पीरियड्स में हमें राहत पहुंचता है। जानिए क्यों खाएं डार्क चॉकलेट:

1. स्ट्रेस बस्ट करता है डार्क चॉकलेट

शोध बताते हैं की डार्क चॉकलेट का सेवन करने से हमारे शरीर के स्ट्रेस होर्मोनेस का लेवल घटता है। विशेष कर कोर्टिसोल नामक स्ट्रेस हॉर्मोन को डार्क चॉकलेट बिलकुल बढ़ने नहीं देता है। पीरियड्स में स्ट्रेस लेवल बढ़ने के बहुत सारे कारण हो सकते हैं। इस स्ट्रेस को ख़तम करने के लिए डार्क चॉकलेट से बेहतर कुछ नहीं है।

2. मेंस्ट्रुअल क्रैम्प्स से मिलती है राहत

डार्क चॉकलेट में प्रचुर मात्रा में पोटैशियम होता है जो आपके मसल्स को पानी रीटेन करने नहीं देता है। इससे आप ब्लोटिंग से बच जाते हैं और फिर आपको क्रैम्प्स में भी राहत मिलती है। मेंस्ट्रुअल क्रैम्प्स किसी के लिए भी नाईटमेयर हो सकता है इसलिए इनसे से बचने के लिए डार्क चॉकलेट का सेवन करते रहें।

3. शरीर में आयरन की कमी नहीं होने देता है

पीरियड्स में ब्लड लॉस के कारण ऐसा हो सकता है की आपका हीमोग्लोबिन लेवल गिर जाएं। इससे खुद को बचने के लिए आयरन रिच फूड्स का सेवन करें। डार्क चॉकलेट में भी आयरन की मात्रा बहुत होती है इसलिए इसको खाने से आपके शरीर में आयरन की कमी नहीं होगी।

4. मूड स्विंग्स को ठीक करने में भी है मददगार

शोध बताते हैं की चॉकलेट खाने से मूड इम्प्रूव होता है। डार्क चॉकलेट खाने से आपके शरीर में एंडोर्फिन्स की मात्रा में इजाफा होता है जो आपके मूड को बेहतर करने में बहुत मदद करता है। डार्क चॉकलेट में सेरोटोनिन भी पाया जाता है जो एंटीडेप्रेस्सेंट है और आपके मूड को सुधारने में आपकी हेल्प करता है।

5. एनर्जी बूस्ट करने में सहायक है डार्क चॉकलेट

डार्क चॉकलेट आपकी नाइट्रिक एसिड के लेवल को बढ़ाने में मदद करता है जिससे आपका ब्लड प्रेशर कण्ट्रोल में रह सकता है। इसलिए पीरियड्स में इसे खाने से आपको शांति भी मिलेगी और आपके एनर्जी लेवल में भी इजाफा होगा।

Email us at connect@shethepeople.tv