लड़कियों का फिज़िकली, मेंटली, और फाईनेंशली आज़ाद होना आज के समय की सबसे पहली और अहम मांग है। धीरे-धीरे महिलाएं पुरानी सोच और धारणाओं को तोड़ते हुए अपने लिए नये रास्ते बना रही हैं। यही वजह है कि उन्हें पर्सनली और प्रोफेशनली कई तरह की समस्याओं और चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। अभी के समय में ज्यादातर महिलाएं महिलाएं वर्किंग हैं। कई घरों में पूरा खर्चा घर की महिलाओं द्वारा ही उठाया गया है या फिर लड़कियां अपना खर्चा खुद निकालने में सक्षम है। Financial Independence women hindi

हालांकि ये भी देखा जाता है कि कई महिलाएं एक फिक्सड सैलरी कमाने के बाद भी फाईनेंशियली आत्मनिर्भर (Financial Independence  women hindi)  नहीं हैं। वह अपनी ही कमाई पर अपना अधिकार नहीं रखतीं, जिसके कारण उनकी फाइनेंशियल निर्भरता दूसरों पर बनी रहती है। लेकिन, जब लड़कियां चुनौतियों का सामना करके मेहनत कर रही हैं तो यह बेहद जरूरी है कि वह फाइनेंशियल आत्मनिर्भरता का एहसास भी महसूस करें। इसके लिए ज़रूरी है कि वो खुद ही अपने लिए कुछ कदम उठाएं। तो चलिए आज हम आपको ऐसे कुछ टिप्स बताते हैं जो आपको फाइनेंशियल इंडिपेंडेंट बनाने में मदद कर सकते हैं –

-सबसे पहले अपने बारें में सोचे

जैसा कि हम सब जानते है कि महिलाएं अपनी पूरी जिन्दगी में सिर्फ और सिर्फ दूसरों के लिए ही सोचती हैं। वह चाहकर भी खुद के लिए सेविंग या खर्च नहीं करतीं। लेकिन, ज़रूरी है कि महिलाएं अपने लिए सेल्फिश बनें। दूसरों के बारें में सोचना बिल्कुल गलत नही लेकिन अपने बारें में बिल्कुल ना सोचना गलत है। जब आप पूरा दिन मेहनत करके पैसे कमाती हैं तो उन्हें खुद के लिए सेव करना या खुद पर खर्च करने में आपको हिचकना नहीं चाहिए। पहले अपनी सोच को बदलें, तभी आप खुद को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर महसूस करेंगी।

-अच्छी और सटीक फाइनेंशियल प्लानिंग करें

फाइनेंशियल प्लानिंग दो तरह से की जाती है- एक शॉर्ट टर्म और दूसरा लॉन्ग टर्म। बेहतर होगा कि आप अपनी कमाई के अनुसार पहले ही फाइनेंशियल प्लानिंग कर लें। अगर आपको इसमें कोई प्रॉब्लम हो रही है तो आप अपने घर के किसी करीबी व्यक्ति या फाइनेंशियल एक्सपर्ट से बात करें, उनकी राय जानें।

-घर के खर्चों को हिस्सों में बांटे

आपके काम करने की वज़हों में घर को फाइनेंशियली सपोर्ट करने का एक कारण ज़रूर होगा लेकिन इसका ये मतलब नही कि आप सारा बोझ खुद पर ही लें। बेहतर होगा कि आप अपने पार्टनर के साथ मिलकर घर के होने वाले खर्चों को बांट लें। ऐसा करने से आपके लिए खुद के लिए सेविंग करना ज्यादा आसान हो जाता है। घर खर्च के बाद आप अपने लिए अलग से सेविंग करें। इसे आप किसी मुसीबत के समय या फिर अपनी रिटायरमेंट के समय खर्च कर सकती हैं। साथ ही जब आपके पास अपनी खुद की एक अलग से सेविंग होगी तो आप यकीनन फाइनेंशियल इंडिपेंडेंस को महसूस करेंगी।

-बच्चों के लिए पैसा इक्ट्ठा करके रखने की चिंता ना करें

हम उस दौर में रहते हैं जहां बच्चों की परवरिश को लेकर मां-बाप कुछ ज्यादा ही परेशान रहते हैं। नौकरी करने वाली कुछ महिलाओं में बच्चों की देखभाल अच्छी तरह से ना कर पाने पर हमेशा उन्हें बुरा लगते रहता है। और यही वजह कि वे बच्चों के साथ कुछ ज्यादा ही प्यार से पेश आने लगती हैं। बच्चे को हर हाल में सपोर्ट करें, उन्हें पढ़ा-लिखाकर होनहार बनाएं. लेकिन, जब बच्चे बड़े होकर कमाने लगें तो उन्हें उनकी जि़म्मेदारियों का एहसास कराते रहें। बच्चे तब ज्यादा अच्छा करते हैं जब उन्हें अपनी जिम्मेदारियां खुद उठानी पड़ती हैं।

-अपना पैसा इंवेस्ट करें

हर महिला को इंवेस्टमेंट के बारे में जानना चाहिए। यूं ही रखा पैसा अपनी वैल्यू गंवाता है। जबकि इसे लगाने पर इससे कमाई का रास्ता खुलता है। इंवेस्टमेंट यह देखकर करें कि यह कहां लगाया जा रहा है और इसका क्या होगा। जब आप अपने पैसे को दूसरों को इस्तेमाल करने देते हैं तो उसके एवज में आपको रिटर्न मिलता है। ध्यान देना चाहिए यह किसी गलत हाथों में न जाए।

ये थे महिलाओं के लिए Financially Independent होनें के 5 बेहतरीन टिप्स – Financial Independence women hindi

पढ़िए : महिलाओं और फाइनेंस से रिलेटेड 5 मिथ्स

Email us at connect@shethepeople.tv