New Year 2023: नए साल पर बदले इन सभी आदतों को वरना होंगे बुरे परिणाम

हम सभी के जीवन में कुछ आदतें ऐसी होती हैं जिन्हें हम बदलना चाहते हैं। ऐसी आदतें शायद हमारे जीवन और जीवनशैली दोनों के लिए बहुत हानिकारक हो सकती है। आइए जानते हैं ऐसी कुछ हानिकारक आदतें इस ब्लॉग के माध्यम से

Aastha Dhillon
31 Dec 2022
New Year 2023: नए साल पर बदले इन सभी आदतों को वरना होंगे बुरे परिणाम

Frustration

Habits to change: हम सभी के जीवन में कुछ आदतें ऐसी होती हैं जिन्हें हम बदलना चाहते हैं। ऐसी आदतें शायद हमारे जीवन और जीवनशैली दोनों के लिए बहुत हानिकारक हो सकती है। 
कुछ आदतें होती है जो हमारे व्यवहार से जुड़ी होती हैं। आइए जानते हैं ऐसी कुछ हानिकारक आदतें इस ब्लॉग के माध्यम से जिन्हें यदि ना बदला गया तो हमें बुरे परिणाम देखने को मिल सकते हैं-

2023 में बदले इन आदतों को

1.अपने अधिकार के लिए ना लड़ना

अक्सर हमने देखा है कि लोग अपने अधिकारों के लिए नहीं लड़ते। वह बस किसी और को खुद पर डोमिनेट करने देते हैं, और हमेशा दबते ही चले जाते हैं। हमेशा आदत को बदलना होगा हमें सही चीजों के लिए खड़ा होना होगा और उसके साथ ही अपने अधिकारों को ध्यान में रखते हुए उनके लिए भी खड़ा होना सीखना पड़ेगा।

2.कभी किसी को "ना" न बोल पाना

हमने ऐसी स्थिति जरूर महसूस की है जब हम ना बोलना चाहते हैं परंतु नहीं बोल पाते। पर हमें समझना होगा कि हमें खुद को प्रायरिटाइज करना जरूरी है और इसमें अगर हमें ना बोलने की जरूरत पड़े तो उसमें भी हिचकिचाना नहीं है।

3.अपने डिसीजन को दूसरों से इनफ्लुएंस हो कर लेना

एक नई समस्या जो हमारे सामने आ रही है वह यह है कि हम खुद के डिसीजंस, किसी और के इनफ्लुएंस से बनाते हैं। ऐसा करने से हम खुद को prioritise नहीं करते और किसी अन्य व्यक्ति को प्रायरिटाइज करके कभी-कभी गलत डिसीजंस भी ले लेते हैं। हमें यह समझना होगा कि हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण इंसान हम ही हैं और अपने डिसीजंस को मजबूत रखना होगा।

4.पीरियड्स को एक टैबू समझना (Periods As Taboo)

हमारा समाज आज भी पीरियड्स को एक बीमारी के रूप में देखता है। वह लोग इस बारे में बात करने से भी कतराते हैं और इसे एक गलत चीज के रूप में समझा जाता है। परंतु अब समय आ गया है कि हम इस व्यवहार को बदले और समझे कि पीरियड्स भी एक नॉर्मल चीज है और इससे जीवन का एक हिस्सा बना लेना चाहिए। 

5.खुद से प्यार न करना

हमारे जीवन में अक्सर यह देखा जाता है कि हम दूसरे लोगों के लिए ज्यादा सोचने लगते हैं और ऐसे में खुद के बारे में न सोच कर अपना नुकसान कर लेते हैं। हमें यह समझना होगा कि हम खुद से तैयार करें और अपनी जरूरतें समझे और उनके लिए काम करें।


Read The Next Article