ब्लॉग

क्यों होती है पीरियड्स के दौरान हेवी ब्लीडिंग ? जानें इसके कारण और उपाय

Published by
Shilpa Kunwar

पीरियड्स की समस्याओं में एक समस्या हेवी ब्लीडिंग का है। कुछ महिलाओं को पीरियड्स के दौरान ज्‍यादा ब्‍लीडिंग होती है जिससे उन्‍हे काफी दिक्‍कतों का सामना करना पड़ता है। इस समस्‍या को मेडिकल भाषा में मेनोर्रहाजिया (Menorrhagia) कहा जाता है। कभी – कभी पीरियड्स के दौरान ज्‍यादा ब्‍लीडिंग होना नॉर्मल है लेकिन अगर ऐसा हर महीने होता है तो आपको उसे इग्‍नोर नहीं करना चाहिए। ज्‍यादा ब्‍लीडिंग होने का पता आप पूरे दिन में इस्‍तेमाल किए जाने वाले पैड से लगा सकती है। हेवी ब्लीडिंग वाली महिलाओं को लगभग हर घंटे में पैड या टैम्‍पोन बदलने की ज़रूरत पड़ती है और पूरे हफ्ते में उसे बहुत ज्‍यादा ब्‍लीडिंग होती है। जानिए इससे जुड़ी कुछ ज़रूरी बातें। जानिए heavy bleeding ke karan

हेवी ब्लीडिंग होने के है ये कारण (heavy bleeding ke karan)

-ल्यूपस एक तरह की सूजन होती है जो बॉडी के किसी भी पार्ट में हो सकती है। यह हॉर्मोन्स में बदलाव की वजह से होती है और हेवी ब्लीडिंग के लिए ज़िम्मेदार मानी जाती है।

-अगर यूट्रस में ट्यूमर है तो भी ब्लीडिंग ज़्यादा होती है।

-हॉर्मोन्स के लेवल में बदलाव होने के कारण भी ऐसा हो सकता है।

-शरीर में आयरन की कमी होने की वजह से भी ज्यादा ब्लीडिंग होती है। इसकी वजह से बाद में अनीमिया तक हो जाता है।

हेवी ब्लीडिंग से राहत के लिए आप अपना सकती हैं ये उपाय

-पीरियड्स के दौरान अगर बहुत अधिक ब्लीडिंग हो रही हो तो धनिया के बीजों का यूज़ किया जा सकता है। ये हॉर्मोन्स को बैलेंस करने में अहम भूमिका निभाते हैं। धनिया के बीजों को दो कप पानी में भिगों दीजिए। इसे उबलने के लिए रख दीजिए। जब पानी आधा हो जाए तो उसे उतार लीजिए. इसमें थोड़ी सी शहद मिलाकर पीने से राहत मिलेगी। ऐसा दिन में 2 से तीन बार कीजिए।

-अगर आपको पीरियड्स के दौरान बहुत अधिक ब्लीडिंग की शिकायत है तो आप अपने साथ एक ठंडा बैग रखें। इससे ब्लीडिंग में कमी आएगी, साथ ही दर्द में भी राहत का एहसास होगा।

-पीरियड्स में हैवी ब्लीडिंग को रोकने के अशोक की छाल बेहतर उपाय कुछ और हो ही नहीं सकता है। आयुर्वेद में भी इस फार्मूले का जिक्र है। अशोक की छाल को 2 कप पानी में तब तक उबालें जब तक कि यह आधा ना बच जाये। इस काढ़े को ठंडा होने पर रोज़ाना एक गिलास पीने से तेजी से फायदा होता है।

-डाइट में ज़्यादा से ज़्यादा आयरन से भरपूर चीजें शामिल करें नहीं तो अनीमिया हो सकता है। इसके लिए ऑइस्टर, चिकन, बीन्स, पालक जैसी आयरन से भरपूर चीजें खाएं।

-ऐसी स्थिति में रोजाना 4 से 6 ग्लास एक्स्ट्रा पानी पिएं। इसके अलावा इलेक्ट्रोलाइट सलूशन लें।

पढ़िए-क्या आपके पीरियड्स समय से पहले आ गए? ये हैं इसके कारण

Recent Posts

महिलाओं के राइट्स: क्यों सोसाइटी सिर्फ महिलाओं की ड्यूटीज से ही रहती है ऑब्सेस्ड?

आज भी सोसाइटी में कई लोगों का ये मानना है कि महिलाओं की सबसे पहली…

2 hours ago

रायसा लील: 13 साल में ओलिंपिक पदक जीतने के बाद सामने आया ये पुराना वायरल वीडियो

टोक्यो ओलंपिक्स में स्केटबोर्डिंग में इस साल ब्राज़ील की रायसा लील ने रजत पदक जीता…

3 hours ago

बंगाल की महिलाओं से जबरजस्ती पोर्न शूट कराया गया, मामला राज कुंद्रा से जुड़ा है

इन में से एक महिला ने कहा कि यह वीडियोस कई वेबसाइट पर पोस्ट की…

5 hours ago

क्यों टूटती हुई शादियों को नहीं मिलती है सोसाइटी की एक्सेप्टेन्स?

हमारे देश में सदियों से शादी को एक "पवित्र बंधन" माना गया है जिसका हर…

5 hours ago

हैप्पी बर्थडे कुब्रा सेठ, जानिए एक्ट्रेस कुब्रा सेठ के बारे में 5 बातें

कुब्रा सेठ इनके कक्कू के रोल के लिए फेमस हैं जो कि सेक्रेड गेम्स में…

5 hours ago

मुंबई: डॉक्टर ने ली थी टीके की दोनों खुराक फिर भी दो बार कोविड रिपोर्ट आई पॉजिटिव

मुंबई के एक 26 वर्षीय डॉक्टर की 13 महीनों में तीन बार पॉजिटिव रिपोर्ट आई…

6 hours ago

This website uses cookies.