Menopause Effects: मेनोपॉज का क्या असर होता है बालों और त्वचा पर

मेनोपॉज के कारण आपको अपने बालों में भी बहुत सारे चेंज देखने को मिलेंगे। आपके बाल अचानक से झड़ना चालू हो जाएंगे। बालों में थिनिंग भी हो सकती है। इसका कारण है हमारे शरीर में कम होता है एस्ट्रोजन।

Shruti Upadhyay
20 Dec 2022
Menopause Effects: मेनोपॉज का क्या असर होता है बालों और त्वचा पर

Menopause Effects: महिलाओं में बढ़ती उम्र के साथ  हमारे शरीर में बहुत से बदलाव होते हैं। जब आप 45 से 50 की उम्र में आते हैं तो आपको मेनोपॉज का सामना करना पड़ता है। वैसे तो यह एक आम प्रक्रिया है। यह काफी नेचुरल है और इसे लेकर चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है। मेनोपॉज का एक प्रमुख कारण ओवरी के द्वारा एस्ट्रोजन (estrogen)और प्रोजेस्ट्रोन(progesterone) जैसे हार्मोंस का रिलीज होना कम हो जाता है।जिस वजह से आपके मेंसुरेशन (mensuration)कंटिन्यू नहीं हो पाते।तो आज हम आपको बताएंगे कि मेनोपॉज का आपके बालों और आपकी त्वचा पर क्या असर होता है।

6 effects of menopause on your hair and skin

1. एक्ने (Acne)

मेनोपॉज के कारण आपको एक्ने का प्रॉब्लम हो सकता है। यह एक आम समस्या है। इसके लिए आपको ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं है। जिस तरह आपको अपनी टीनएजर के समय में एक्ने प्रॉब्लम हुआ था उसी तरह आपको मेनोपॉज के कारण भी एक्ने का प्रॉब्लम हो सकता है। यह इसलिए होता है क्युकी शरीर में एस्ट्रोजन (estrogen) की कमी होने लगती है। साथ ही साथ एंड्रोजन (androgen)की मात्रा बढ़ जाती है । जिस वजह से एक्ने की समस्या एक आम समस्या हो जाती है।

Pimple Positivity: My Journey of Accepting Myself as Who I am - SheThePeople  TV

2. हेयर फॉल (Hair fall)

मेनोपॉज के कारण आपको अपने बालों में भी बहुत सारे चेंज देखने को मिलेंगे। आपके बाल अचानक से झड़ना चालू हो जाएंगे। बालों में थिनिंग भी हो सकती है। इसका कारण है हमारे शरीर में कम होता है एस्ट्रोजन। एस्ट्रोजन हमारी बॉडी के अंदर हमारे बालों की ग्रोथ और उनकी थिकनेस का प्रमुख कारण होता है। लेकिन मेनोपॉज के कारण हमारे शरीर के अंदर एस्ट्रोजन की कमी होने लगती है। जिस वजह से बालों में थीनिंग(hair thining) और झड़ते हुए बालों की समस्या बढ़ जाती है।

3. स्किन ड्राइनेस (Skin dryness)

मेनोपॉज के दौरान बहुत सी महिलाओं को स्किन ड्राइनेस की भी समस्याएं होती हैं। मेनोपॉज के कारण हमारे स्किन में नेचुरल ऑयल की कमी हो जाती है।जिस वजह से यह ड्राइनेस हो सकती है। इसी सुझाव के लिए आप नेचुरल ऑइल्स का यूज कर सकते हैं। जैसे कोकोनट ऑयल और आर्गन ऑयल (argan oil)वगैरा। आपको दिन में तीन से चार बार मॉइश्चराइजर्स (moisturizer) यूज़ करना चाहिए। ताकि आपकी स्किन मॉइश्चराइज रहे। आपको गर्म पानी से नहाना नहीं चाहिए।क्योंकि यह आपके स्किन के नेचुरल ऑयल को और भी कम करता है।

4. फेशियल हेयर (Facial hair)

मेनोपॉज के कारण हमारे चेहरे पर फेसियल हेयर तेजी से ग्रो होने लगाते है।आपको इसके लिए समय समय पर शेव जरूर करना चाहिए। आप जब भी शेव करें तो यह याद रखें की बालों के उगने कि दिशा में ही शेव करें।ऐसा ना कर ने पर आपको इन्फेक्शन का सामना करना पड़ सकता है।

5. त्वचा में ढीलापन (Skin sagging) आना

आपकी उम्र के अनुसार और साथ ही साथ मेनोपॉज के कारण आपकी त्वचा में ढीलापन आ सकता है। इसका मतलब यह है कि आपकी त्वचा ढीली सी पड़ने लगती है। शरीर में कॉलेजन नाम का तत्व प्रस्तुत रहता है। इस कॉलेजन में भी गिरावट आती है। जिस वजह से आपकी त्वचा ढीली ढीली होने लगती है। इसके लिए आप समय समय पर सही तरीके का यूज कर सकते हैं।स्किन टाइट करने के लिए फेशियल कर सकते हैं।

media widget

Read The Next Article