मेनोपॉज़ एक महिला को कई तरीकों से बदल सकती है। इस चेंज में सेक्स लाइफ भी आती है। सेक्स वह है जिसे हमें अनदेखा नहीं करना चाहिए। हमे मेनोपॉज़ को एक बीमारी की तरह देखने के बजाये एक ट्रांस्फॉर्मटिव टाइम की तरह देखना चाहिए। टाइम के साथ हर चीज़ में चेंज आता है ,आपकी बॉडी में भी और आपकी लाइफ में भी। हमे इस चेंज को एक्सेप्ट कर के इसके साथ जीना आना चाहिए।

image

मेनोपॉज़ क्या है

मेनोपॉज़ यानी एन्ड ऑफ़ रेगुलर मंथली मेंसेस (menses) जब किसी महिला को एक साल तक पीरियड्स नहीं होते तो उस सिचुएशन को मेडिकल टर्म में मेनोपॉज़ बोलते है। मेनोपॉज़ 50 की उम्र के आस -पास होता है। लाइफ के ये फेज एक महिला के लिए के लिए काफी मुश्किल होता है।

मेनोपॉज़ की वजह से महिलाओं में फिजिकल और मेन्टल चेंजिस

मेनोपॉज़ के बाद कुछ औरतो में कोई चेंज नहीं आता लेकिन ज़्यादातर महिलाओं में कई चेंजिस आते है।उन्हें night sweats, hot flashes, vaginal dryness, anxiety जैसी प्रोब्लेम्स होने लगती है। ये सभी सिम्पटम्स वूमेन की लाइफ में एक नेगेटिव इम्पैक्ट डालते है और ऐसा एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन की कमी की वजह से होता है।

मेनोपॉज़ की वजह से वूमेन की लाइफ में जो सबसे बड़ा चेंज आता है,वो है सेक्स और इंटिमेसी में कमी। हार्मोनल चेंजिस की वजह से lack of desire, vaginal dryness, और सेक्स करने के दौरान पेन जैसी प्रॉब्लम होने लगती है।

इन सब सिम्पटम्स के बीच महिलाओं को अपनी लाइफ में सेक्स और इंटिमेसी बनाये रखने के लिए प्रॉपर हेल्प या गाइडेंस नहीं मिलती ,जो की एक हैप्पी लाइफ के लिए इम्पोर्टेन्ट है। इसलिए आज हम आपको बताएंगे कि मेनोपॉज़ के बाद भी आप अपनी सेक्स लाइफ कैसे आगे बढ़ा सकते है। 

Libido को वापस लाये

Libido यानी सेक्सुअल एक्टिविटी की इक्छा। कई लोग इस बारे में डिसकस ही नहीं करते ,अगर डिस्कस करते भी है तो मेनोपॉज़ के बाद। आप Libido को बरकरार रखने के लिए pelvic physical therapy या laser vaginal rejuvenation (इससे इंटिमेसी बढ़ती है)। लाइफस्टाइल में चेंज ,टेक्नोलॉजी और मैडिटेशन की मदद से vaginal lubrication और vaginal tissue changes मेन्टेन कर सकते है जिससे आपकी सेक्स लाइफ बेटर होने लगती है।

Libido की कमी को ठीक करने के लिए medical और psychosexual ट्रीटमेंट्स जैसे pelvic exercises, couples counseling, और holistic changes अवेलेबल है।

माइंड बॉडी एक्टिविटीज

हमे मेनोपॉज़ से रिलेटेड ट्रेडिशनल थॉट्स और मिथ्स को बदलना होगा। मेनोपॉज़ सिर्फ फिजिकल चेंज के बारे में नहीं है , फिजिकल के साथ – साथ साइकोलॉजिकल चेंज भी आते है। औरतो को anxiety, स्ट्रेस, और डिप्रेशन जैसी साइकोलॉजिकल प्रोब्लेम्स होती है , ये प्रोब्लेम्स sexual intercourse और sexual desire पर काफी असर डालती है।

मेनोपॉज़ में सेक्सुअल अट्रॅक्टिवनेस को वापस लाने के लिए कई तरीके है। माइंड बॉडी एक्टिविटीज में शामिल होना आपकी सेक्सुअल इंटिमेसी, और डिजायर को वापस ला सकता है , इसके लिए आप नीचे दी गयी एक्टिविटी कर सकते है :

  • मिंडफुल्नेस्स
  • acupuncture
  • योगा

अपने लिए परफेक्ट Stress relief techniques को ढूढ़ना सबसे ज्यादा ज़रूरी है। 

दवाइयों और थेरेपी की मदद ले

कई बार ऐसा होता है के आप में सेक्स डिजायर तो होता है लेकिन आप फिज़िकली वीक होते है जैसे एस्ट्रोजन के कम होने की वजह से  vaginal atrophy हो सकती है। uterus आगे बढ़ने की वजह से discomfort, painful sex और urinary leakage जैसी प्रोब्लेम्स होने लगती है।

ये सभी सिम्पटम्स दवाओं और  hormonal replacement therapy (HRT) के ज़रिये मैनेज हो सकते है। HRT कई तरीको से मिलती है जैसे -pills, foams, patches, और vaginal क्रीम्स। इस थेरपी का मकसद  vasomotor symptoms और vulvovaginal atrophy में मदद करना होता है।इन सबके अलावा testosterone भी एक ऑप्शन है।

हर्बल सप्लीमेंट्स

अगर आप नेचुरल पसंद करती है तो हर्बल सप्लीमेंट भी उसे कर सकती है।औरतो में libido इन्क्रीज करने के लिए ये सुप्प्लिमेंट्स उसे कर सकते है :

  • soy
  • black cohosh
  • red clover

हमेशा याद रखे मेनोपॉज़ आपकी लाइफ का बस एक नया फेज है जिसमे आपको अपनी रिलेशनशिप को और स्ट्रांग करना होता है।आप इसे कैसे करते हो ये आप पर डिपेंड करता है।

पढ़िए : Vaginismus के कारण, लक्षण और इलाज

Email us at connect@shethepeople.tv