ब्लॉग

क्या आप Vaginismus से पीड़ित हैं ?

Published by
Garima Singh

कई महिलाओं को सेक्स के दौरान काफी दर्द होता है जिसकी वजह से वो अपने पार्टनर से Intimate होने में  डरती हैं। इस कंडीशन को Vaginismus कहा जाता है।  वैजिनिज़्मस (Vaginismus in Hindi) में न सिर्फ सेक्स बल्कि पीर‍ियड के दौरान Tampons लगाने से और डॉक्‍टर से प्राइवेट पार्ट की जांच कराने से भी डर लगता हैं।

इस कंडीशन में जब भी महिलाएं सेक्स संबंध बनाती है या Tampon लगाती है तो Vagina की muscles सिकुड़ने लगती है यानी वो काफी टाइट हो जाती है। 

वैसे इस समस्‍या से महिलाओं के सेक्स ड्राइव पर कोई असर नहीं पड़ता लेकिन सेक्स के दौरान पेन‍िट्रेशन से vagina में बहुत ज्यादा दर्द होता है। 

तो आइए आज जानते है कि वैजिनिज़्मस (Vaginismus in Hindi) क्‍या होती है और इसका इलाज क्या है?

Vaginismus क्या है?

वैजिनिज़्मस (Vaginismus in Hindiसेक्स के दौरान vagina के बहुत ज्यादा टाइट होने की कंडीशन है, जब पेन‍िट्रेशन या तो हो नही पाता या फिर काफी दर्द भरा होता है। 

इसमें vagina के एन्ड की muscles में एक Involuntary contraction(अनैच्छिक ऐंठन) पैदा हो जाती है जिसकी वजह से सेक्स में बहुत दर्द होता है।

ये कंडीशन तब पैदा होती है, जब महिला सेक्स संबंध बनाती है या उसकी Gynaecological टेस्ट हो रही होती है। ये contraction इतनी मजबूत होती है कि  vagina में कुछ भी नहीं जा सकता है।

Vaginismus आमतौर पर दो कारणों से होता है:

मनोवैज्ञानिक( Psychological)  कारण 

  • सेक्स का डर
  • यौन हिंसा (सेक्सुअल assault) की मैमोरी
  • पार्टनर के साथ सही coordination का ना होना

शारीरिक(Physical) कारण

  • Vagina में सूजन
  • Vaginal atrophy यानी vagina की त्वचा का पतला होना और सूखना, जो आमतौर पर प्रेग्नेंसी या menopause के बाद होता है।

Vaginismus के लक्षण क्या हैं?

  • लंबे समय तक Intimate areas में दर्द होना
  • पेनेट्रेशन मुश्किल या impossible होना जिसमें दर्द या जलन होना
  • Tampon लगाने के समय दर्द होना
  • Gyneacological टेस्ट के दौरान दर्द होना
  • सेक्स के दौरान मसल्स spasm या ब्रेथ में कमी होना।

Vaginismus से राहत पाने के लिये करें ये एक्‍सरसाइज

 Treatment में आमतौर पर पेल्विक फ्लोर muscles रिलैक्सेशन (कीगल एक्सरसाइज) जैसे व्यायाम  शामिल होते हैं।

किगल एक्सरसाइज़ से आपके पेल्विक एरिया में थोड़ा लचीलापन(elasticity) आएगा और सेक्स के दौरान आपको दर्द भी कम होगा।

इसके अलावा Gynaecologists डाइलेटर्स के इस्तेमाल करने की भी सलाह देते हैं। इस एक्‍सरसाइज से vagina में थोड़ा फैलाव आता है जिससे दर्द कम होता है।

अगर आपको भी वैजिनिज़्मस (Vaginismus in Hindi के लक्षण नज़र आ रहे हैं तो इसे हल्‍कें में ना लें और तुरंत अपने डॉक्‍टर को दिखाएं।

अपनी सेक्सुअल हेल्थ को हमेशा priority दें।

पढ़िए : जानिए मेंस्ट्रुअल कप क्या है और इसका सही इस्तेमाल कैसे करें

Recent Posts

Signs Of A Toxic Relationship: क्या आप एक टॉक्सिक रिलेशनशिप में हैं? जानिए टॉक्सिक रिलेशनशिप के लक्षण

अगर आपका पार्टनर किसी भी चीज़ के लिए आप पर रोक टोक करे, आपको उनकी…

9 hours ago

What You Should Know Before Your First Time: आपने पार्टनर के साथ इंटिमेट होने से पहले रखें इन बातों का ख्याल

मूवीज़ में बहुत सी एडिटिंग और अलग अलग कैमरा एंगल्स का इस्तेमाल कर के और…

9 hours ago

Remedies Of Period Bloating: पीरियड्स ब्लोटिंग को रोकने के 5 तरीके

ब्लोटिंग मेंस्ट्रुएशन का एक सामान्य शुरुआती लक्षण है, जो कई महिलाओं को अनुभव होता है।…

9 hours ago

Facts About Pregnancy: प्रेगनेंसी के बारे कुछ जरूरी चीजें जो हर महिला को पता होनी चाहिए, जाने यह 5 फैक्ट्

प्रेगनेंसी आपके अब तक के सबसे कठिन अनुभवों में से एक है, और यह सबसे…

9 hours ago

Sabyasachi Models Trolled: सब्यसाची की मॉडल को फिर से किया गया ट्रोल, जानिए क्या था मामला?

सब्यसाची अपने नए ज्वेलरी एड के साथ एक बार फिर से वापस आए हैं। इस…

9 hours ago

Home Remedies For Hair Fall: बालों के झड़ने को रोकने के घरेलू उपचार

बालों का झड़ना वैसे तो बड़ी आम समस्या है और ज्यादातर महिलाएं इससे पीढ़ित है…

9 hours ago

This website uses cookies.