आजकल की रोज़मर्रा की ज़िंदगी में मोबाईल फोन हमारे लिए काफी ज़रूरी हो गया है। सोते वक्त, उठते वक्त, खाना खाते वक्च और यहां तक की अब सेक्स करते वक्त भी लोगों को फोन से छुटकारा नही मिल पा रहा। लेकिन क्या आपको पता है कि इस आदत का आपकी सेक्स लाईफ पर कितना ज्यादा असर पड़ सकता है। आइये, हम आपको बताते हैं ऐसे ही कुछ प्रभावों के बारे में जो आपके शरीर और आपके सेक्स लाईफ में बड़े से बड़े चेलेंजिस खड़े कर सकता है। मोबाइल फ़ोन का सेक्स लाइफ पर प्रभाव

image

-एक रिसर्च में 60% लोगों ने स्मार्टफोन के कारण सेक्स लाइफ में समस्या की बात को स्वीकार किया है। इन दिनों स्मार्टफोन और मोबाइल का बढ़ता इस्तेमाल एडिक्शन बनता जा रहा है जिस वजह से मानसिक सेहत और सेक्स लाइफ पर तेजी से असर बढ़ रहा है।

-इनकमिंग कॉल का जवाब देने की मजबूरी से सेक्स में बाधा आती हैं। अमेरिका की एक कंपनी श्योरकॉल के एक सर्वे में बताया गया है कि लगभग तीन-चौथाई लोगों ने माना कि वे रात में अपने बिस्तर पर या उसके बगल में स्मार्टफोन रखकर सोते हैं जिससे उन्हें सेक्स के समय भी फोन कॉल उठाना पड़ जाता है।

-स्मार्टफोन की वजह से स्पर्म काउंट में भी काफी कमी होती दिखती है। सिर्फ पुरुषों में ही नहीं बल्कि महिलाओं में भी स्मार्टफोन की वजह से सेक्स ड्राइव में कमी देखने को मिलती है। फोन से निकलने वाला खतरनाक रेडिएशन महिलाओं में लिबिडो यानी कामेच्छा को 25 प्रतिशत तक कम कर देता है।

-4 घंटे से ज्यादा फोन यूज करने से इरेक्टाइल डिस्फंक्शन भी हो जाता है। वैसे पुरुष जो हर दिन 4 घंटे से ज्यादा स्मार्टफोन कैरी करते हैं और उसका इस्तेमाल करते हैं उनमें सेक्स के दौरान इरेक्शन से जुड़ी समस्या इरेक्टाइल डिस्फंक्शन होने की आशंका अधिक रहती है उन पुरुषों की तुलना में जो हर दिन 2 घंटे फोन का इस्तेमाल करते हैं।

-मोबाइल फोन के वजह से अब लोग घर में भी एक-दूसरे से, अपने पार्टनर से बात करने का समय नही निकाल पाते। फ्री होते ही फोन चलाने लगते हैं। इससे पार्टनर्स के बीच दूरियां बढ़ने लगती हैं और सेक्स लाईफ पर भी काफी असर पड़ता है।

पढ़िए- क्या आपके पार्टनर को इरेक्टाइल डिस्फंक्शन है ?

Email us at connect@shethepeople.tv