My covid recovery story – सबसे पहले मेरे घर में मेरी मम्मी उसके बाद पापा को कोरोना हुआ था। दोनों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद डॉक्टर ने मुझे भी कोरोना की जांच करवाने की सलाह दी। जब मैंने अपना कोरोना टेस्ट कराया तब उस वक़्त मुझे कोई सिम्पटम्स या परेशानी नहीं थी फिर भी मेरा कोरोना का रिजल्ट पॉजिटिव आया था। इसके बाद मैंने दवाइयां लेना चालू कर दिया और सभी को इन्फॉर्म कर दिया।

किस तरीके से ली जाती है कोरोना की दवाई ?

मैं आपको बतादूँ कि दवाई लेने से पहले मुझे कोई भी समस्या नहीं थी पर दवाइयाँ शुरू करने के बाद मेरा सर बहुत भारी रहता था। कोविद में कुल 5 से 6 जरुरी दवाइयाँ होती हैं जो सभी हर जगह लेते हैं।

1. विटामिन C

2. कैल्शियम एंड D3 टेबलेट

3. पेरासिटामोल

4. डॉक्सीसाइक्लिन

5. मिनरल्स एंड विटामिन्स टेबलेट

6. एजिथ्रोमाइसिन

हर जगह यही मेन दवाइयाँ दी जाती हैं तो मेरे घर के सभी लोगों ने ये दवाइयाँ लेना चालू किया डॉक्टर के कहने पर जिसको कोरोना था उसने भी और जिसको नहीं था उसने भी। इससे कि जिसको नहीं है उनको कोरोना न हो जाए उनको पहले से ही दवाइयाँ चालू कर दी थी। अगर आपको कोरोना है तो सबसे जरुरी है कि आप पहले डॉक्टर से बात करें और उनके हिसाब से दवाइयाँ लें।

कैसे कैसे दिन के हिसाब से कोरोना बढ़ता गया ?

शुरू के 3 दिन मुझे कोई परेशानी नहीं थी पर 4th दिन से मेरा बहुत ज्यादा सर दर्द होने लगा और खाने का एकदम स्वाद और खुशबू आना बंद हो गया। इसके कारण मैं पेट भर के खाना नहीं खा पाती थी और मुझे वीकनेस होने लगी थी। इसके बाद मुझे डॉक्टर ने वीकनेस से बचने के लिए सलाह दी कि हर 2 घंटे में कुछ न कुछ खाती रहो जैसे कि –

1. घी में सिके हुए मखाने

2. संतरा, तरबूज और खरबूज

3. ड्राई फ्रूट वाला हलवा घी डालकर

4. खिचड़ी और दलिया

5. हल्दी वाला दूध

कोरोना होने पर आपको कैसा फील होता है ?

कोरोना होने पर आपको वीकनेस बहुत ज्यादा हो जाती है जिस से आप पैनिक करते हो टेंशन लेते हो आपकी बॉडी और सर में बहुत ज्यादा दर्द होता है। कोविद में सबसे जरुरी है आराम करना इसलिए आप प्रॉपर खाना खाकर दवाई लेके आराम करें। कोविद कि दवाइयाँ काफी भारी होती हैं और अगर आप इनको लेने को सोएंगे नहीं तो आपकी दिक्कत और बढ़ सकती है।

आपको घर पर क्या क्या सामान की जरुरत पड़ेगी ?

1. सेनिटाइज़र स्प्रे बॉटल

जब आपको कोरोना होता है तब आप बहुत सारा सेनिटाइज़र मंगवा लें और हर एक इंसान को उसकी एक बड़ी सेनिटाइज़र स्प्रे बॉटल देदें। इसके बाद आप ध्यान रखें कि आप जो भी छुएं उसे सेनिटाइज़ जरूर करें ताकि ये और किसी को न हो।

2. oxymeter

ये एक मशीन होती है जिस से आपको पल्स और ऑक्सीजन लेवल मालूम रहती है। आपकी ऑक्सीजन लेवल अगर 95 से नीचे जाती है तो आपको तुरंत अस्पताल जाना चाहिए। आपकी पल्स भी 80 से 100 के बीच होनी चाहिए। पल्स मतलब होता है आपकी हार्ट बीट रेट यानि कितनी बार दिल धड़क रहा है।

3. ब्लड प्रेशर और शुगर मशीन

आप ये दोनों ब्लड प्रेशर और शुगर मशीन भी घर पे मंगवा कर रखलें। ये आपके और आपके पेरेंट्स के लिए बहुत काम आएगा। मैं अपनी और मम्मी पापा दोनों कि पल्स, बीपी और शुगर लेवल नापती रहती थी जिस से की इमरजेंसी की जरुरत ही न आये और पहले से सब कण्ट्रोल में रहे।

 

Email us at connect@shethepeople.tv