कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए दस साल से कम उम्र के बच्चों को घर से बाहर निकलना अभी भी मना है। ऐसे में घर पर रह रहे बच्चों को कैसे खुश रखा जाए, यह एक बड़ी समस्या सामने आ रही है। तो  मनोवैज्ञानिकों द्वारा निर्धारित सुझावों के अनुसार कुछ बातों को ध्यान में रखकर छोटे बच्चों को प्रसन्न और व्यस्त रखा जा सकता है। पान्डेमिक में बच्चों को कैसे खुश रखें

image

बच्चों को खुश और बिजी रखने  के ये 7 टिप्स एंड ट्रिक्स

1.बच्चों को घर के विभिन्न कामों जैसे घर की साफ-सफाई, लहसुन छीलना, पानी की बोतल भरना आदि में शामिल कर सकती हैं। हालांकि इस दौरान इस बात का ध्यान रखें कि उन्हें यह न महसूस हो कि आप उन पर कोई बोझ डाल रही हैं, बल्कि उनको घर के काम करने में आनंद आए। इसके साथ ही यह भी ध्यान रखें कि इस दौरान बच्चों को किसी प्रकार की चोट न लगने पाए। बच्चों से पूछें कि उन्हें किस प्रकार के काम करने में आनंद आता है।

2.बच्चों को पास बिठाकर अंताक्षरी खेल सकती हैं। इसे और रोचक बनाने के लिए घर में मौैजूद वाद्ययंत्रों का सहारा लिया जा सकता है। अगर आपके घर में कोई वाद्ययंत्र नहीं है तो घर में मौैजूद विभिन्न बर्तनों जैसे स्टील का कटोरा, चम्मच, डिब्बा आदि का इस्तेमाल कर अंताक्षरी को और मज़ेदार बनाया जा सकता है।

3.बच्चों को छोटी-छोटी रोचक कहानियां सुना सकती हैं। इनमें पंचतंत्र की कहानियों से लेकर पॉजिटिव सीख देने वाली कहानियां भी हो सकती हैं। बच्चों को राजा-रानी वाली कहानियों के साथ-साथ जंगली जानवरों और पालतू जानवरों की कहानियां भी सुना सकती हैं। इस काम में आप इंटरनेट की भी मदद ले सकती हैं।

4.छोटे बच्चों को कार्टून वाली किताबें भी अच्छी लगती हैं। बच्चों के साथ बैठकर आप भी इनका आनंद ले सकती हैं।

5.बच्चों को गाने के साथ-साथ डांस करने के लिए भी प्रेरित कर सकती हैं। छोटे बच्चों को डांस करने में बहुत मजा आता है। यकीन मानिए बच्चों की भोली अदाएं देखकर आपका मन भी प्रसन्न हो जाएगा।

6.छोटे बच्चों में अगर शुरू से स्वस्थ रहने की आदत विकसित की जाए तो आगे चलकर यह उनके लिए बहुत फायदेमंद रहेगा। इसलिए प्रतिदिन कुछ समय घर पर ही बच्चों को साधारण एक्सरसाइज करवा सकती हैं। अगर आपको एक्सरसाइज करना नहीं आता है तो इंटरनेट की मदद ले सकती हैं। बच्चों की एक्सरसाइज रोचक बनाने के लिए इस दौरान उनका मनपसंद संगीत भी बजा सकती हैं। इससे बच्चे खुशी-खुशी एक्सरसाइज करेंगे।

7.बच्चों का सारा समय घर पर बीत रहा है। ऐसे में उनकी पढ़ाई-लिखाई का थोड़ा सा ध्यान रखना जरूरी है। बस इस बात का ध्यान रहे कि बच्चे बोरियत न महसूस करें। इसलिए उन्हें खेल-खेल में ही पढ़ाने का काम करें। बच्चों का होमवर्क करवाते समय भी इस बात का विशेष ख्याल रखें।

पढ़िए –बच्चों को मोबाइल से कैसे दूर रखें

Email us at connect@shethepeople.tv