ब्लॉग

पीरियड्स से जुड़ी इन समस्याओं को बिल्कुल भी न करें अनदेखा

Published by
Shilpa Kunwar

पीरियड्स होते तो सभी महिलाओं को हैं लेकिन उससे जुड़ी समस्याएं सबको अलग अलग होती है। कभी- कभी ये समस्याएं इतनी बड़ी हो जाती है कि बड़ी बीमारी का रूप का रूप ले लेती हैं। इससे पहले की ये सब समस्याएं बड़ी परेशानी बनें आपको ज़रूरत है कि आप पीरियड्स से जुड़े इन लक्षणों को पहचानें और जल्द ही डॉक्टर से मिलें। period problems in hindi

पीरियड्स से जुड़ी कुछ समस्याएं होती हैं, जैसे-

1. पीरियड्स के दौरान बहुत ज्यादा दर्द और कमज़ोरी महसूस होना

कुछ महिलाओं को तो पीरियड्स के दौरान ज्यादा दर्द नही होता या होता भी है तो वो सहन कर लेती हैं लेकिन कुछ महिलाएं ऐसी भी हैं जिन्हें काफी ज्यादा दर्द होने के साथ-साथ कमज़ोरी भी महसूस होने लगता है। उनको सिर दर्द और जी मचलने की शिकायत भी रहती है। हाल इतना बेहाल हो जाता है कि ऐसी महिलाएं कही बाहर जाने की हिम्मत नही कर पाती और घर में ही रहना पसंद करती हैं।

2. स्केंटी पीरियड्स (Scanty Periods)

स्केंटी पीरियड्स वो पीरियड होते हैं जब पीरियड के दौरान आपको कम ब्लीडिंग हो। इस पीरियड को अच्छे से पहचानने के लिए आपको अपने 3 महीनों के पीरियड साइकिल पर ध्यान देना होगा। अगर 3 महिने तक आपको कम ब्लीडिंग हो रही है तो इसका मतलब आपको स्केंटी पीरियड्स की प्रॉब्लम है। इसमें ज्यादा घबरानें वाली बात नही है। इसे ठीक करने के लिए आपको अपने लाईफस्टाइल औऱ खान-पान में बदलाव करने की ज़रूरत होती है। अगर फिर भी ये प्रॉब्लम सॉल्व नही होती तब ये चिंता की बात है।

3. बहुत ज्यादा ब्लीडिंग होना

ज्यादा खून बहना या ज्यादा बड़े-बड़े Clots निकलना काफी परेशानी की बात है। अगर आपको दिन में 4 से ज्यादा बार पेड बदलना पड़ता है या ब्लीडिंग लगातार काफी ज्यादा दिनों तक हो रही है तो आपको डॉक्टर्स से मिलने की ज़रूरत है।

4. 1 महीने में दो बार पीरियड्स का होना

कभी-कभी ऐसा होता है कि एक ही महिने में 2 बार ब्लीडिंग होती है। ऐसा होने बिल्कुल भी नॉर्मल नही है।

5. इर्रेगुलर पीरियड्स

पीरियड्स का कभी 1 महीने के बाद 2 महीनों तक ना आना या बिल्कुल ही इर्रेगुलर हो जाना भी एक बड़ी समस्या है। कई बार ऐसा PCOD के कारण भी होता है लेकिन सही रहेगा कि आप अपने पीरियड्स के इर्रेगुलेटरी का सही कारण जान पाएं

अगर इन सब समस्याओं में से कोई भी समस्या आपको है तो ज़रूरी है कि आप अपने डॉक्टर से मिलें और इसका सही इलाज़ कराएं।

ये थी कुछ period problems in hindi

पढ़िए : क्या है एमेनोरिया (Amenorrhea)? जानें एमेनोरिया के लक्षण

Recent Posts

क्यों है सिंधु गंगाधरन महिलाओं के लिए एक इंस्पिरेशन? जानिए ये 11 कारण

अपने 20 साल के लम्बे करियर में सिंधु गंगाधरन ने सोसाइटी की हर नॉर्म को…

19 mins ago

श्रद्धा कपूर के बारे में 10 बातें

1. श्रद्धा कपूर एक भारतीय एक्ट्रेस और सिंगर हैं। वह सबसे लोकप्रिय और भारत में…

1 hour ago

सुष्मिता सेन कैसे करती हैं आज भी हर महिला को इंस्पायर? जानिए ये 12 कारण

फिर चाहे वो अपने करियर को लेकर लिए गए डिसिशन्स हो या फिर मदरहुड को…

2 hours ago

केरल रेप पीड़िता ने दोषी से शादी की अनुमति के लिए SC का रुख किया

केरल की एक बलात्कार पीड़िता ने शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख कर पूर्व कैथोलिक…

4 hours ago

टोक्यो ओलंपिक : पीवी सिंधु सेमीफाइनल में ताई जू से हारी, अब ब्रॉन्ज़ मैडल पाने की करेगी कोशिश

ओलंपिक में भारत के लिए एक दुखद खबर है। भारतीय शटलर पीवी सिंधु ताई त्ज़ु-यिंग…

4 hours ago

वर्क और लाइफ बैलेंस कैसे करें? जाने रुटीन होना क्यों होता है जरुरी?

वर्क और लाइफ बैलेंस - बहुत बार ऐसा होता है जब हम अपने काम में…

5 hours ago

This website uses cookies.