ब्लॉग

पीरियड्स के दर्द से हैं बेहाल? जानें 4 आसान सुझाव

Published by
Shilpa Kunwar

इसमें कोई शक नहीं कि पीरियड्स, किसी भी लड़की या महिला के लिए काफी दर्द और उलझन से भरा होता है। लेकिन पीरियड्स न आए तो वो भी एक टेंशन का बड़ा कारण हो जाता है। पीरियड्स में वैसे तो ज़्यादातर लोगों को नॉर्मल दर्द ही होता है लेकिन इसमें से कुछ फीमेल्स ऐसी भी होती हैं जिन्हें पीरियड्स के दौरान हद से ज़्यादा दर्द और क्रैम्प्स होते हैं। इस दौरान हल्का कामकाज करना, डेली रूटीन, प्रॉडक्टिविटी सबकुछ डिस्टर्ब हो जाती है और इन सबको वापस से नॉर्मल होने में 3 से 4 दिन का वक्त लग ही जाता है।

ऐसे में हम आपको बताने जा रहें है डॉ तान्या द्वारा बताएं गए कुछ टिप्स के बारें में जिन्हें अपनाना आपके लिए ज्यादा फायदेमंद साबित हो सकता है।

-पीरियड्स पेन को दूर करने के लिए डॉ तान्या मेडिकेशन लेने का सुझाव देती हैं। वह कहती हैं कि मेडिकेशन लेने का कोई साइडइफेक्ट नहीं होता और ना ही आपकी फर्टिलिटी पर इससे  कोई असर पड़ता है। यदि आपको दवाईं लेने पर क्रैम्पस से आराम मिलता है तो उसका सेवन ज़रूर करें।

-इसके अलावा डॉ तान्या हॉट वॉटर बैग का उपयोग करने के लिए कहती हैं। अगर आपके पास हॉट वॉटर बैग नहीं है तो किसी कांच की बोटल के अंदर गर्म पानी भर लें और उससे अपने पेट व कमर के निचले हिस्से दस से पंद्रह मिनट तक सिकाई करें। इससे आपकी मांसपेशियों को आराम मिलेगा और दर्द भी कम होगा। इसके साथ ही पानी भी खुब पीयें।

-पीरियड्स के दौरान आपको अपने खान-पान का भी विशेष ख्याल रखना ज़रूरी होता है। डॉ तान्या के अनुसार पीरियड्स के दौरान आपको वो सब फल और सब्जियों का सेवन करना चाहिए जिसमें आयरन भरपूर हो क्योंकि शरीर से ब्लड निकलने पर कमज़ोरी महसूस हो सकती है। आपको हरी-पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक और साग खाना चाहिए और विटामिन के लिए डॉ तान्या मीट और अंडे का सेवन करने को कहती हैं। साथ ही वह ऑयली फिश खाने का भी सुझाव देती हैं।

-डॉ तान्या ने क्रैम्प्स से छुटकारा पाने के आपके मनपसंद तरीके यानि चॉकलेट के सेवन करने को भी इसमें शामिल किया है। चॉकलेट में आराम पहुंचाने वाला एंडोर्फिन होता है जो परेशानी कम करने में हेल्प करता है। इसमें मैग्नीशियम भी मौजूद होता है जिसमें पानी को बॉडी के अंदर रोक कर रखने की शक्ति होती है। इसके अलावा, पीरियड्स में होने वाले चिड़चिड़ेपन में भी डार्क चॉकलेट बहुत फायदेमंद होती है। इसमें मौजूद सेरोटोनिन नामक एंटी-आक्सीडेंट (anti – oxidant)  चिड़चिड़ेपन के लिए अच्छा इलाज साबित होता है।

इन सब के बावजूद अगर आपको पीरियड्स के दौरान ऐसा दर्द हो रहा है जो पहले कभी नहीं हुआ तो सावधान हो जाएं। हो सकता है आपको डॉक्टर के पास जाने की ज़रूरत हो क्योंकि इस दर्द का कारण फाइब्रॉड्स, पॉलिसाइस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम, पेल्विक में सूजन आदि समस्याएं भी हो सकती हैं।

पढ़िए : अपनी Sexual Health को बूस्ट करने के 6 बेहतरीन तरीके

Recent Posts

मेरी ओर से झूठे कोट्स देना बंद करें : शिल्पा शेट्टी का नया स्टेटमेंट

इन्होंने कहा कि यह एक प्राउड इंडियन सिटिज़न हैं और यह लॉ में और अपने…

44 mins ago

नीना गुप्ता की Dial 100 फिल्म के बारे में 10 बातें

गुप्ता और मनोज बाजपेयी की फिल्म Dial 100 इस हफ्ते OTT प्लेटफार्म पर रिलीज़ हो…

1 hour ago

Watch Out Today: भारत की टॉप चैंपियन कमलप्रीत कौर टोक्यो ओलंपिक 2020 में गोल्ड जीतने की करेगी कोशिश

डिस्कस थ्रो में भारत की बड़ी स्टार कमलप्रीत कौर 2 अगस्त को भारतीय समयानुसार शाम…

2 hours ago

Lucknow Cab Driver Assault Case: इस वायरल वीडियो को लेकर 5 सवाल जो हमें पूछने चाहिए

चाहे लड़का हो या लड़की किसी भी व्यक्ति के साथ मारपीट करना गलत है। लेकिन…

2 hours ago

नीना गुप्ता की Dial 100 फिल्म कब और कहा देखें? जानिए सब कुछ यहाँ

यह फिल्म एक दुखी माँ के बारे में है जो बदला लेना चाहती है और…

3 hours ago

This website uses cookies.