यदि आप सोशल मीडिया पर व्लॉगर्स (vloggers) को फॉलो करने वाले इंसान हैं, तो संभावना है कि आप भारत की टॉप महिला YouTuber में से एक प्राजक्ता कोली के बारे में अच्छी तरह से जानते होंगे। उनके YouTube चैनल पर 5.8 मिलियन से अधिक फोल्लोवेर्स (Followers) और Instagram पर 2.7 मिलियन से ज़्यादा फोल्लोवेर्स हैं। कोली को उनके सोशल मीडिया हैंडल – Mostly Sane द्वारा बेहतर जाना जाता है।

इन वर्षों में, उन्होंने अपने वीडियो के लिए कई बॉलीवुड सितारों के साथ काम  किया है, और फिलहाल में, वह YouTube की global initiative, क्रिएटर्स फॉर चेंज के लिए भारतीय एम्बेसडर (Indian Ambassador) हैं। ये उन कुछ भारतीयों में से एक हैं जो 2020 के वर्चुअल ग्रेजुएशन सेरेमनी  ‘डिअर क्लास ऑफ़ 2020 ‘ का हिस्सा थे। और अब ये इंटरनेट सनसनी अपनी एक्टिंग स्किल्स के लिए जानी जा रही हैं।  उनकी रीसेंट सीरीज ‘ मिसमैच ‘ अभी ही नेटफ्लिक्स पे आयी है।

YouTube पर शुरुआती दिन

कई भारतीय मिल्लेंनियल्स के लिए, प्राजक्ता कोली का YouTube चैनल देश में content-driven शो का इंट्रोडक्शन था। कोली ने 2015 में अपना चैनल शुरू किया था ।

जबकि प्राजक्ता कोली के कई कॉमेडी किरदार  सबके द्वारा बहुत पसंद किये जाते हैं, उनकी सबसे प्रसिद्ध रचना में मंटू नामक एक किशोर है। मोंटू को YouTuber के छोटे भाई के रूप में हमारे सामने पेश किया गया है और इस किरदार ने इतनी लोकप्रियता हासिल की है कि कोली के दर्शकों ने अब मोंटू विशेष वीडियो मांगना शुरू कर दिया है।

और पढ़िए : मैं अपनी “लाइफ को इंजॉय कर रही हूं” – 90 वर्षीय गेमिंग YouTuber

अन्य कारणों के लिए समर्थन

2016 में, कोली ने एक अभियान #iPledgeToBeMe शुरू किया जिसमें मानसिक स्वास्थ्य और बॉडी शमिंग के मुद्दों को संबोधित किया गया था। अभियान के माध्यम से, उन्होंने बॉडी शेमिंग के अपने स्वयं के अनुभवों को शेयर किया और बाद में एक रैप गीत शेमलेस को भी जारी किया, जो उसी विषय पे था। संगीत वीडियो में रफ़्तार, आरजे मलिष्का और मिथिला पालकर जैसे सितारे थे।

2018 में, प्राजक्ता कोली ने one.org के  #GirlsCount अभियान में भाग लिया, जो कि लड़की की शिक्षा के महत्व के ऊपर था। उसी वर्ष, कोली ने YouTube के क्रिएटर्स फॉर चेंज प्रोग्राम में भाग लिया, जहाँ उन्होंने नो ऑफ़ेंस (No Offence) नामक एक संगीत वीडियो बनाया। वीडियो को यूनाइटेड नेशंस में इंटरनेशनल डे फॉर टॉलरेंस को भी स्क्रीन किया गया, जहाँ प्राजक्ता कोली ने भारत को रिप्रेजेंट कर रही थी। कोली ने शीदपीपल  2018 के कार्यक्रम बॉम्बेवाली में भी भाग लिया जहां उन्होंने भारत में एक महिला कंटेंट क्रिएटर होने के अपने अनुभव साझा किए।

और पढ़िए : अग्रिमा जोशुआ को मिली रेप की धमकी। हम कॉमेडी को फ्री स्पीच क्यों नहीं मानते ?

2020 में, क्रिएटर्स फॉर चेंज का एक विशेष एपिसोड प्रसारित किया गया था जहां कोली ने दो अन्य YouTube कंटेंट क्रिएटर के साथ, शिक्षा के अवसरों के बारे में विभिन्न देशों में लड़कियों का इंटरव्यू किया और मिशेल ओबामा के साथ इस विषय पर चर्चा की। कोली ने द कॉल टू यूनाइट इवेंट में भारत को रिप्रेजेंट किया, जो 1 मई 2020 को शुरू हुआ और इसमें ओपरा विनफ्रे, जूलिया रॉबर्ट्स, ईवा लोंगोरिया, दीपक चोपड़ा, अलनीस मोरिसटेट, क्विन्सी जोन्स और मैंडी मूर जैसे कई अन्य लोग शामिल थे।

महामारी के दौरान चुनौतियों का सामना करने वाले लोगों के समर्थन में और COVID-19 महामारी के दौरान बच्चों के बीच शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए इस 24 घंटे के कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। कोली को वरुण धवन और कियारा आडवाणी अभिनीत अपकमिंग धर्मा प्रोडक्शन की फिल्म जुग जुग जियो में भी कास्ट किया गया है।

Email us at connect@shethepeople.tv