“एक पल में बहुत रोना आता है , कभी हसी,कभी बहुत प्यार आता है तो कभी बहुत गुस्सा” कुछ ऐसी सी ही फीलिंग्स होती है प्रेगनेंट माँ की। ‘मूड स्विंग्स’ ये शब्द कुछ नया नहीं है हमारी लाइफ में , मूड स्विंग्स लगभग हर किसी को होता है चाहे वो बच्चा हो या बड़ा , लड़का हो या लड़की, फ़र्क सिर्फ ज्यादा कम का है। प्रेगनेंसी में मूड स्विंग्स बहुत आम बात है.

image

तो जैसा की हमने बताया मूड स्विंग्स सबको होते लेकिन औरतो की लाइफ में एक स्टेज आता है जहा उन्हें ये ‘मूड स्विंग्स’ नाम की बला सबसे ज्यादा तंग करती है ,और वो स्टेज है ‘प्रेगनेंसी’। लेकिन आपको इस बला से डरने या चिंता करने की ज़रूरत नहीं है क्योकि ये बहुत कॉमन प्रॉब्लम है , जो जल्दी ही सॉल्व हो जाती है।

प्रेगनेंसी में मूड स्विंग्स से कैसे डील करे?

प्रेगनेंट वीमेन के मूड स्विंग्स मैनेज करने के लिए टिप्स :-

  • नॉर्मल रहने की कोशिश करे – प्रेगनेंसी में मूड स्विंग्स बिल्कुल आम बात है इसलिए आप इस बात पर ज्यादा सोच के स्ट्रेस ना ले।
  • खुदको खुश रखे – अगर आप लो फील कर रही है तो खुदको खुश रखने के तरीके ढूंढे :मूवी देखिये , माइंड रिलैक्स करने के लिए सो जाये ,पेरेंटल मसाज या कोई एक्सरसाइज करे इससे आप रिलैक्स्ड फील करेगी।
  • अपने पार्टनर से फीलिंग्स शेयर करे – पेरेंट्स बनने के इस सफर में आप अकेली नहीं है , आपका पार्टनर भी आपके साथ है। इसलिए आपके मन में जो भी ख़याल आता है , आप जो कुछ भी फील करती है अपने पार्टनर से शेयर करे। कई बार आपके पार्टनर के रिस्पॉन्स से आपका मूड ठीक हो जाता है।
  • खाने पर ध्यान दे – खाना टाइम पर खाये और इसके साथ बीच – बीच में लाइट स्नैक्स (जिसमे प्रोटीन और काम्प्लेक्स कार्ब्स शामिल हो) खाते रहे। जब भी मूड स्विंग्स हो पनीर स्टिक , चॉकलेट , इमली जैसी चीज़ो पर फोकस कर, इन्हे खाये और खुदको डिस्ट्रैक्ट करे लेकिन इन चीज़ो को ज्यादा नहीं खाना नहीं तो वो हार्मफुल हो सकता है।
  • लाइफ के इस फेज को मुस्कुरा के पार करे – आपको और आपके पार्टनर को ये बात हमेशा याद रखनी चाहिए। प्रेगनेंसी के दौरान लाइफ में आने वाली चुनौतियों को मुस्कुरा के हैंडल करे। “वक्त है जल्दी बीत जायेगा ” ये सोच के चले।

अगर ये सबकुछ करने के बाद भी आप मूड स्विंग्स नहीं झेल पा रही तो अपने डॉक्टर से बात करें

पढ़िए : स्ट्रेच मार्क्स से छुटकारा कैसे पाएं?

Email us at connect@shethepeople.tv