सेक्सुअल ओरिएंटेशन ( Sexual Orientation ) किसी व्यक्ति के प्रति भावनात्मक, रोमांटिक या सेक्सुअल अट्रैक्शन महसूस करने को कहते हैं. बहुत से मेडिकल एक्सपर्ट्स का कहना है कि लोग अपनी सेक्सुअल ओरिएंटेशन का चुनाव खुद नहीं करते। वो उनके व्यक्तित्व का एक प्राकृतिक हिस्सा है. हमने यहाँ 7 प्रकार की सेक्सुअल ओरिएंटेशन के बारे में बताया है.

image

जानिए 7 प्रकार की सेक्सुअल ओरिएंटेशन के बारे में

Pansexual 

इसे सबसे ज्यादा “fluid orientation ” माना गया है और pansexuality का मतलब होता है लोगों से sexually attract होना , सिर्फ सभी genders से ही नहीं बल्कि transgender , transsexual , androgynous और gender fluid people से भी ।

Demisexual 

“डेमी” का मतलब आधा होता हैं ,इसीलिए demisexual का मतलब भी “sexual ” और “asexual” का आधा आधा कॉम्बिनेशन. demisexual वो होतें हैं जिन्हें sexual involvement से पहले एक स्ट्रांग इमोशनल बॉन्डिंग (strong emotional bonding) की जरूरत होती हैं और उन्हें शुरुआती अट्रैक्शन होने से कोई फर्क नहीं पड़ता और इसीलिए वो कोई एक्शन नहीं ले पातें क्योंकि उन्हें एक strong emotional bond बनाने की जरूरत होती हैं ।

Monosexual 

मोनो का मतलब एक होता हैं , तो monosexuality का मतलब एक जेंडर(gender ) की तरफ आकर्षित (attract ) होना है । monosexual के दो प्रकार है – Heterosexual और Homosexual । Heterosexual का मतलब है , opposite sex की तरफ आकर्षित होना और वहीँ homosexual का मतलब same sex की ओर अट्रैक्ट होना हैं ।

Bisexual 

Bisexuals वो होतें है , जो दोनों genders से आकर्षित होतें हो.

Asexual 

Asexuals वो होतें हैं जो की sexual activity में इंट्रेस्टेड (interested ) ही नहीं होते । ये शायद रिलेशनशिप में हो या फिर न हो मगर ये “Celibates ” से अलग होतें है क्यूंकि Celibates वो होतें है , जो की अपनी मर्ज़ी से सेक्सुअल एक्टिविटी में इन्वॉल्व होना पसंद नहीं करते ।

Gray – A 

gray -A या gray asexuality का मतलब ग्रे पार्ट से हैं , जो की sexuality ओर asexuality के बीच होता हैं । ये वो लोग होतें है , जो की दोनों में आतें है ओर ये लोग किसी स्पेसिफिक सिचुएशन (specific situation ) में sexually aroused फीलिंग को महसूस करतें हैं । इनका sexual desire इतना कम भी हो सकता हैं की Sexual Involvement नजरअंदाज हो जाएं ।

Autosexual 

इसका मतलब है , आपके अपने इंटरनल stimuli से होने वाला “sexual gratification ” । ऐसे लोग खुद को शीशे में देखकर भी आकर्षित (attract ) हो जातें हैं ओर अक्सर अपने ही लुक्स(looks ) को fantasize करतें हैं , जैसे की उनके अपने looks ओर naked bodies ।

ये थी कुछ सेक्सुअल ओरिएंटेशन जिनके बारे में आपको पता होना चाहिए

और पढ़िए : सेक्स से जुड़े अपने बच्चों के सवालों को मत करिये नज़रंदाज़

Email us at connect@shethepeople.tv