ब्लॉग

जानिए 5 तरह के sex toys के बारे में

Published by
Garima Singh

आजकल बाजार में देशी और विदेशी दोनों कंपनियों के सेक्स टॉय मौजूद हैं और काफी लोकप्रिय भी हैं। हालांकि भारत में इनकी खरीद और बिक्री पर बैन लगा हुआ है लेकिन यह आपकी sexuality जानने में और खुद को बिना किसी पर डिपेंड होकर pleasure देने में बेहद मददगार हो सकते हैं। सेक्स टॉयज उन कपल के लिये भी मददगार होते हैं जो लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में हों। तो आइए कुछ सेक्स टॉय के बारे में जानते हैं जो लोगों के बीच अधिक लोकप्रिय हैं और जिनका सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाता है। sex toys types hindi

पेनिल सेक्स टॉय( Penile toys)

यह एक artificial वजाइना की तरह होता है जिसे पॉकेट पुस्सी (pocket pussies) या मेल मस्टरबेटर के नाम से भी जाना जाता है। यह एक कोमल ट्यूब होता है जिसमें पेनिस के insert कराने से यह उत्तेजना (stimulation) पैदा करता है। अंदर से यह एक कैनाल की तरह होता है जो आमतौर पर पेनिस को उत्तेजित(arouse) करने का काम करता है।

निप्पल टॉय (Nipple toys)

यह एक ऐसा सेक्स टॉय है जो महिलाओं के निप्पल को उत्तेजित करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसकी मदद से अलग-अलग कोणों से निप्पल पर दबाव डाला जाता है जिससे काफी pleasurable फील होता है। यह आमतौर पर रबर का बना होता है इसलिए इसके इस्तेमाल से दर्द नहीं होता है।

वाइब्रेटर ( Vibrators)

वाइब्रेटर सेक्स टॉय लोगों के बीच बेहद लोकप्रिय है। यह एक ऐसी डिवाइस है जो सेक्स के लिए पूरे शरीर में उत्तेजना पैदा करती है। वाइब्रेटर अलग-अलग आकार और दामों में उपलब्ध है जिसका इस्तेमाल internal और external अंगों को arouse करने के लिए किया जाता है।

पेनिट्रेटिव वाइब्रेटर इसी का एक प्रकार है जो 12 से 18 सेंटीमीटर का होता है और इसकी मदद से सेक्स करने पर पेनिस के जैसा फील होता है।

ग्लास सेक्स टॉय (Glass sex toys)

ग्लास सेक्स टॉय आमतौर पर बोरोसिलिकेट ग्लास से बनाया जाता है और इसका इस्तेमाल करना पूरी तरह से सुरक्षित होता है। इसकी बनावट ऐसी होती है कि इसे दोबारा इस्तेमाल करने पर किसी तरह का इंफेक्शन नहीं होता है और इसे आसानी से साफ भी किया जा सकता है। यह भी लोगों के बीच आजकल काफी लोकप्रिय है।

एनल टॉय (Anal toys)

यह एक ऐसा सेक्स टॉय है जिसे (Anal) में प्रवेश कराकर सेक्स किया जाता है। यह नीचे की ओर फैला होता है और rectum को कोई नुकसान नहीं पहुंचाता है, यह पूरी तरह से सुरक्षित होता है। इसका इस्तेमाल कपल भी anal सेक्स के दौरान कर सकते हैं।

Sex toy इस्तेमाल करने के फायदे

  • सेक्स टॉय एक आर्टिफिशियल डिवाइस होता है इसलिए यह थकता नहीं है और आप जितना चाहें इसका उतना इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • सेक्स टॉय से सेक्स करने से महिलाओं को प्रेगनेंट होने का भी कोई खतरा नहीं होता है।
  • मानसिक समस्याओं में स्ट्रेस एक मुख्य मानसिक समस्या है। तनाव तो आमतौर पर सभी लोगों को होता है लेकिन सेक्स का टॉय का इस्तेमाल करके सेक्स का आनंद (pleasure) लेने से तनाव कम हो जाता है और मानसिक स्वास्थ्य ठीक रहता है।
  • सेक्स टॉय एक artificial equipment है इसलिए इससे सेक्स करने का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि orgasm भी मिल जाता है और उसे STI (sexually transmitted diseases) भी नहीं होती हैं। इसलिए बिना किसी टेंशन के सेक्स टॉय से सेक्स करने का आनंद लिया जा सकता है। sex toys types hindi

Recent Posts

कमलप्रीत कौर कौन हैं? टोक्यो ओलंपिक के फाइनल में पहुंची ये भारतीय डिस्कस थ्रोअर

वह युनाइटेड स्टेट्स वेलेरिया ऑलमैन के एथलीट के साथ फाइनल में प्रवेश पाने वाली दो…

1 hour ago

टोक्यो ओलंपिक 2020: भारतीय डिस्कस थ्रोअर कमलप्रीत कौर फ़ाइनल में पहुंची

भारत टोक्यो ओलंपिक में डिस्कस थ्रोअर कमलप्रीत कौर की बदौलत आज फाइनल में पहुचा है।…

1 hour ago

क्यों ज़रूरी होते हैं ज़िंदगी में फ्रेंड्स? जानिए ये 5 एहम कारण

ज़िंदगी में फ्रेंड्स आपके लाइफ को कई तरह से समृद्ध बना सकते हैं। ज़िन्दगी में…

13 hours ago

वर्कप्लेस में सेक्सुअल हैरासमेंट: जानिए क्या है इसको लेकर आपके अधिकार

किसी भी तरह का अनवांटेड और सेक्सुअली डेटर्मिन्ड फिजिकल, वर्बल या नॉन-वर्बल कंडक्ट सेक्सुअल हैरासमेंट…

13 hours ago

क्या है सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज? जानिए इनके बारे में सारी बातें

सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज किसी को भी हो सकता है और अगर सही वक़्त पर इलाज…

14 hours ago

This website uses cookies.