टैम्पोन पीरियड्स के दौरान इस्तेमाल किया जाता है और इसके फायदें भी अनेक है। इसे आम तौर पर कॉटन या रेयॉन से बनाया जाता है जो पीरियड ब्लड को अब्सॉर्प कर लेता है। इसे इस्तेमाल करने के लिए योनि (vagina) में इन्सर्ट किया जाता है। फिर पीरियड ब्लड अब्सॉर्ब करते करते ये फूल जाता है। एक टैम्पोन कम से कम 8 घंटे के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। टैम्पोन को इस्तेमाल करने के बहुत फायदें हैं। आइये जानतें है उन्हें :

1. कम्फर्ट

टैम्पोन यूज़ करने से कम्फर्ट लेवल में भी इजाफा होता है। जहाँ सेनेटरी पैड्स यूज़ करने से हमें रैशेस होने की सम्भावना हो सकती है वहीँ टैम्पोन हमें ज़्यादा एक्टिव होने का अवसर देता है। अगर हमें बहुत अधिक फ्लो होता है तो हम रात को इसे इस्तेमाल कर सकते है और सुबह तक हमें कोई परेशानी नहीं होगी।

2. फिजिकल एक्टिविटी में कम दिक्कत

टैम्पोन यूज़ करने से हम स्विमिंग के साथ साथ कई और फिजिकल एक्टिविटी भली भांति कर सकते हैं। पैड्स यूज़ करने से ना ही स्विमिंग संभव होता है और ना ही कोई और स्पोर्ट्स। वहीँ टैम्पोन हमें काम से काम दिक्कत में ज़्यादा कम्फर्ट पहुँचता है और स्पोर्ट्स में ज़्यादा इन्वॉल्व होने देता है।

3. बेहतर हाइजीन

टैम्पोन के इस्तेमाल से कई महिलाओं ने ये पाया की उन्हें ज़्यादा स्वच्छ महसूस होता है। टैम्पोन से आपको अपने पीरियड ब्लड फ्लो की भी ज़्यादा चिंता नहीं होती हैं और आप अपने रोज़मर्रा के काम में और ज़्यादा शामिल हो सकते हैं।

4. लीक की चिंता नहीं

जहाँ पैड्स इस्तेमाल करने से हमें वक़्त-वक़्त पर लीक की चिंता हो सकती है वहीँ टैम्पोन हमें इस चिंता से मुक्त कर देता है। टैम्पोन को इन हमारे शरीर के अंदर इन्सर्ट करते हैं इसलिए इसमें ब्लड लीक का कोई खतरा नहीं होता है।

5. टैंपोन्स ज़्यादा पोर्टेबल है

सफर में यूज़ करने के लिए टैम्पोन हमेशा बेहतर विकल्प है। इसकी छोटी साइज की वजह से हम इसे अपने पर्स में हमेशा रख सकते हैं और जब हमें इसकी ज़रूरत हो तो फिर चाहे हम कहीं भी हो हम इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

6. इको  फ्रेंडली विकल्प

जहाँ बहुत से सेनेटरी पैड्स में सेल्यूलोस मौजूद होता है टैम्पोन ज़्यादातर कॉटन से बनाया जाता है। इसलिए इसका डिस्पोजल आसान है और ये पैड्स के मुकाबले ज़्यादा इको फ्रेंडली विकल्प है।

Email us at connect@shethepeople.tv