कोरोना महामारी के काल में COVID-19 वैक्सीन आशा की एक नई किरण बनकर आई है। लोगों को कोविड-19 की वैक्सीन से बहुत उम्मीदें हैं। देश में 45 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों को वैक्सीन लगाने के निर्देश जारी किए गए हैं। 1 मई से 18 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों को वैक्सीन लगाने के निर्देश जारी कर दिए जाएंगे। पर क्या आप कोरोना वैक्सीन के बारे में यह बातें जानते हैं?

1. COVID-19 वैक्सीन बढ़ाती है इम्यूनिटी:

हमारे शरीर में कोरोनावायरस का निशाना हमारी इम्यूनिटी होती है इसीलिए कोरोना से लड़ने के लिए हमारी इम्यूनिटी का मजबूत होना बहुत जरूरी है। वैक्सीन का सबसे मुख्य काम यही है। कोरोना की वैक्सीन हमारे शरीर में एंटीबॉडी पैदा करती है जो कि कोरोनावायरस से लड़ने में सक्षम होती हैं और इसीलिए वैक्सीन लगाना ज़रूरी है।

2. वैक्सीन के दोनो डोज ज़रूरी:

COVID-19 वैक्सीन की पहली डोज लगने से हमारे शरीर में कोरोनावायरस की एंटीबॉडीज बनने लगती है जिसके कारण हमारे शरीर की इम्युनिटी थोड़ी कमजोर हो जाती है और हमें कोरोना होने के चांसेस बढ़ जाते हैं इसीलिए वैक्सीन का एक डोज लगने के बाद दूसरी डोज लगना बहुत जरूरी है।

3. वैक्सीन कोरोना फैलने की क्षमता को कम करती है:

वैक्सीन लगने के बाद एक इंसान से दूसरे इंसान में कोरोनावायरस फैलने की क्षमता कम हो जाती है जिसके कारण ट्रांसमिशन कम हो जाता है और ज्यादा लोगों में संक्रमण नहीं फैलता।

4. वैक्सीन लगने के बाद भी बढ़ते सावधानी:

कई लोगों का मानना यह है कि व्यक्ति लगने के बाद में बिना मास्क या सैनिटाइजर के आराम से कहीं भी आ जा सकते हैं पर ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। डॉक्टर क कहना है कि कोरोनावायरस की वैक्सीन हमारे शरीर में सिर्फ 6 से 7 महीने तक ही एंटीबॉडीज बनाती है इसीलिए व्यक्ति लगने के बाद भी मास्क और सैनिटाइजर का साथ ना छोड़े।

कोरोना वायरस से हमारी और आपकी जंग जारी है इसीलिए घर पर रहे और बाहर मास्क पहनकर ही निकले। सरकारी नियमों का पालन करें। अपना ध्यान रखें।

 

Email us at connect@shethepeople.tv