रुबिका लियाकत पर सबका ध्यान तब पड़ा जब उन्होंने राज्य सभा के संजय सिंह आजाद को सवालो में बाँधा। गर्म इंटरव्यू के दौरान, लियाकत ने AAP पर आरोप लगाया कि उनके केंद्र के विवादास्पद कृषि बिल (controversial agricultural bill ) के खिलाफ जाने के पीछे कुछ छिपे हुए उद्देश्य हैं। उन्होंने आजाद से पूछा कि अगर AAP बिल के खिलाफ है तो उन्होंने विधानसभा में वही बिल क्यों notify किया। यह चर्चा CM अरविंद केजरीवाल के बिल फाड़ने के बाद हुई। आजाद ने लियाकत पर कथित रूप से बेचे गए मीडिया का हिस्सा होने का आरोप लगाया जिसके लिए लियाकत ने कड़े जवाब दिए।

रुबिका लियाकत के बारे में जानने के लिए यहां देखें 8 बातें:

1. वह एबीपी न्यूज़ में काम करने वाली एक हिंदी न्यूज़ एंकर है।

2. उन पर वर्तमान सरकार के एंटी- मुस्लिम ऐटिटूड का समर्थन करने का आरोप लगाया गया है।

3 लियाकत ने हाल ही में प्राइम टाइम न्यूज़ पर मध्य प्रदेश सरकार के लव जिहाद बिल को डिफेंड किया

4 2008 में, उन्होंने न्यूज 24 में एक पत्रकार के रूप में काम करना शुरू किया।

5 वह उदयपुर से है और अपनी हायर स्टडीज के लिए वह यूनिवर्सिटी ऑफ़ मुंबई ( University of Mumbai ) गयी।

6 उन्होंने हाल ही में दावा किया कि COVID-19 वैक्सीन केवल एक सप्ताह दूर है, उसके बयान की भारी क्रिटिसिज्म (criticism ) मिला।

7 वह BJP के स्पोकेसपर्सन जैसे पांच पत्रकारों में से एक थे, जिन्होंने पीएम केर फंडस ( PM Care Funds ) में योगदान दिया। इस फंड का मकसद भारतीयों को महामारी से हुए नुकसान से पीड़ित करना था। रुबिका ने सार्वजनिक रुप से अपने योगदान की घोषणा की।

8 भारतीय पत्रकार राणा अय्यूब ने वाशिंगटन पोस्ट (Washington Post ) के लिए एक लेख लिखा था जिसमें उन्होंने उन टेलीविज़न न्यूज़ शोज के बारे में लिखा जो उनके हॉल ऑफ़ शेम का हिस्सा थे। लियाकत का शो उस का हिस्सा था।

पढ़िए : जानिए निधि राज़दान का क्या कहना है नेपोटिस्म पर

Email us at connect@shethepeople.tv